Tuesday, September 28, 2021

शहीद भगत सिंह सच्चे क्रांतिकारी थेः अशोक बाठला

 


मुजफ्फरनगर। महान क्रांतिकारी शहीद भगत सिंह की जयंती पर गांधी कालोनी स्थित गांधी वाटिका में शहीद भगत सिंह सेवा दल द्वारा एक कार्यक्रम रखा गया। इसमें शहीद भगत सिंह जी को नमन किया गया।



भारतीय जनता पार्टी के क्षेत्रीय संयोजक प्रबुद्ध प्रकोष्ठ एवं बेहट विधानसभा के प्रभारी अशोक बाटला ने कहा कि शहीद भगत सिंह जी के आखिरी शब्द आखरी संदेश दिया था साम्राज्यवाद मुर्दाबाद इंकलाब जिंदाबाद। शहीद भगत सिंह कहते थे क्रांति का नाम हिंसा नहीं है, क्रांति का नाम बदलाव है। क्रांति से बदलाव लाए लाए लाए जा सकते हैं। आखिरी समय में भीमसेन सच्चर ने सरदार भगत सिंह से पूछा था कि आप ने अपने बचाव में अपील क्यों नहीं की। भगत सिंह का जवाब था कि कुर्बानी से ही आजादी मिलती है। कार्यक्रम में वरिष्ठ व्यापारी नेता संजय मित्तल, भगत सिंह सेवा दल के चेयरमैन नरेश अरोरा, महामंत्री अखिल, हनी सेखांे, रमेश खुराना, संजय मित्तल, संजय बाठला, पवन छाबड़ा, सरदार सुख दर्शन बेदी, राकेश ढींगरा, मुकुंद दुआ भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष विजय शुक्ला जी भी उपस्थित रहे।

No comments: