व्यापारियों ने ने ज्ञापन देकर गिनाई शहर की समस्याएं, चेयरमैन पर लगाए आरोप


मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार संगठन रजि द्वारा नगर की मुख्य समस्याओं तथा नगरपालिका में व्याप्त भ्रष्टाचार के संबंध में एक ज्ञापन प्रदेश उपाध्यक्ष कृष्ण गोपाल मित्तल एव नगर अध्यक्ष राकेश त्यागी के नेतृत्व में  जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे के आदेशानुसार सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह को सौंपा गया जिसमें उनको नगर की मुख्य समस्याओं से अवगत कराया गया

ज्ञापन में कहा गया है कि लगभग 40 लाख कीमत का कोबक्टर जिला अस्पताल के सामने मुख्य सड़क पर अतिक्रमण कर रहा है तथा आज तक किसी भी उपयोग में नहीं लिया गया है। अंडरग्राउंड डस्टबिन शहर के विभिन्न स्थानों पर बनाए गए थे वह सब कूड़े से भरे पड़े हैं व कूड़ा सड़कों पर बाहर बिखरा रहता है। गोल्डन ट्रायंगल कंपनी को लगभग 82 लाख की पेमेंट वाहन घोटाले के तहत की गई जो कि जांच का विषय है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए जो पैसा नगरपालिका को दिया गया,लगभग सत्तर लाख के करीब आया वह पैसा नगर पालिका चेयरमैन ने अपने प्रचार प्रसार में लगा दिया यह भी जांच का विषय है

उनका कहना है कि हाउ टैक्स वाटर टैक्स में वृद्धि के बाद भी आम जनता को इसका कोई प्रत्यक्ष लाभ नहीं मिल पा रहा है सफाई कर्मियों की संख्या बहुत कम है,जनसंख्या के हिसाब से इनकी संख्या बढ़ाई जाए। नगर में सफाई का ठेका प्राइवेट कंपनियों को ना देकर नए सफाई कर्मी की नियुक्ति कर सफाई कार्य कराया जाए। नगर पालिका ठेकेदारों का रुका हुआ भुगतान कराया जाए ताकि निर्माणाधीन कार्य शीघ्र पूरा हो सके। जिला प्रशासन नगर पालिका किरायेदारों की समस्या प्रशासनिक स्तर से हल करने का प्रयास करें क्योकि दुकानदार राजस्व सही माध्यम से सरकार तक पहुंचाना चाहता है, भ्रष्टाचारियों के माध्यम से नहीं।  नगर पालिका के बड़े-बड़े दावों के बावजूद नगर की सड़कें बेहाल हैं। जगह-जगह गहरे गड्ढे रोज दुर्घटनाओं को आमंत्रण दे रहे हैं बरसात आने से पहले इन्हें भरवाया जाए तथा नावेल्टी चैराहे को खोल कर आमजन को हो रही समस्याओं से राहत दिलाई जाए।

व्यापारी नेताओं ने आरोप लगाया है कि नगर की प्रथम नागरिक होने के बावजूद भी नगर पालिका अध्यक्ष का व्यवहार नगर की जनता के साथ लगातार उपेक्षा एवं गलत देखने को मिलता है इसी को लेकर पूर्व में एक आडियो भी पालिकाध्यक्ष का वायरल हो चुका है नगर पालिका ईओ सही काम करना चाहते हैं लेकिन चेयरमैन के दबाव के कारण काम मे विघ्न उत्पन्न होता है। इस अवसर पर संगठन के सरदार बलविंदर सिंह,  प्रवीण जैन, पवन वर्मा, भूरा कुरेशी, विजय कुच्छल, उदित किंगर, अखिलेश शर्मा, सुनील वर्मा, शिवकुमार सिंघल उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार