Saturday, June 19, 2021

डाक्टरों ने दी सामूहिक त्यागपत्र की धमकी


मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर की प्रांतीय चिकित्सा सेवा शाखा( सरकारी चिकित्सको के सगठन) की मुजफ्फरनगर ईकाई से जुडे चिकित्सकों ने  प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर अब जिला अस्पताल वह अन्य पदों पर जैसे सीएमओ सीएमएस और प्रशासनिक पदों पर सरकार के एमबीए योग्यता धारी लोगों को नियुक्त करने की मंशा के विरोध में अब खुलकर सामने आ गए हैं। आज मुजफ्फरनगर में प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ की एक बैठक प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के कार्यालय जिला अस्पताल परिसर में आयोजित की गई इसमें काफी चिकित्सकों ने प्रतिभाग किया इस दौरान प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ की  जनपद इकाई से जुड़े चिकित्सकों ने कई गम्भीर मुददों पर चर्चा कर सरकार की मंशा को अनुचित ठहराते हुए इसका विरोध किया है। 

प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ शाखा मुजफ्फरनगर की शनिवार को  जनरल बॉडी मीटिंग का आयोजन डॉ वीके जैन की अध्यक्षता में आज किया गया। जनपद मुजफ्फरनगर की इकाई के अध्यक्ष सीनियर डॉक्टर बी0के0 जैन ही हैं।सचिव डा वी0के0 सिह है।

 बैठक में प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ  के  काफी चिकित्सक  सदस्यों ने प्रतिभाग किया और कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई। पीएमएस जनपद इकाई संगठन के सचिव डॉ डॉ  वी0के0सिंह व अध्यक्ष डॉ बीके जैन ने आज की हुई बैठक के बारे में बताया कि बैठक बहुत महत्वपूर्ण रही और इसमें कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई जिसमें मुख्य रूप से  प्रशासनिक पदों पर एमबीए डिग्री  धारकों को नियुक्त करने के प्रयास के संबंध में कडा रोष व्यक्त किया गया। चिकित्सको ने कहा जब कि पहले से ही एनएचएम के अंतर्गत डी पी एम ,डी सी पी एम, डीएएम ,आदि की तैनाती की गई है फिर नान मेडिकल मैनेजर की आखिर  क्या आवश्यकता है ।  बैठक मे डा0बी के जैन ने कहा किडॉक्टरों की ड्यूटी योग्यता के अनुसार सही स्थान पर लगाई जानी चाहिए जिससे कि उनकी योग्यता का सही उपयोग किया जा सके सीएमओ सीएमएस आदि से ड्यूटी कराकर कितना सुधार किया जा सकता है जबकि इनकी संख्या बहुत ही बहुत ही कम है। इसके विपरीत भारी संख्या में डॉक्टरों के पद रिक्त हैं जिसे भरकर चिकित्सा व्यवस्था में सुधार किया जा सकता है जिसका सुझाव केंद्रीय कार्यकारिणी पीएमएस पहले से ही दे चुकी है।  सचिव डा वी के सिह व डा लोकेश गुप्ता ने कहा कि आई एम एस कैडर बनाना अब अति आवश्यक है जिससे कि प्रशासनिक पदों पर उन्हीं को बैठाया जाए नान मेडिकल एमबीए या अन्य विद्या के जानकार लोगों को प्रशासनिक पदों पर बैठाने पर पर मेडिकल की जानकारी ना होने की वजह से बार-बार टकराव की स्थिति उत्पन्न होगी । विशेष सचिव के दो पद हमारे( चिकित्सा) संवर्ग के लिए निर्धारित हैं जिस पर पीएमएस संवर्ग के चिकित्सक की ही नियुक्ति होनी चाहिए।

अधयक्ष डा बी के जैन ने बताया कि पीएमएस संघ शाखा मुजफ्फरनगर के सभी सदस्यों का आज की बैठक में मत था कि हमें हर तरह से तैयार रहना होगा चाहे हमें हड़ताल करना पड़े या सामूहिक इस्तीफा देना पड़े हम सभी चिकित्सक  इसके लिए पूर्ण रुप से तैयार हैं। इस मामले पर केंद्रीय कार्यकारिणी जो भी निर्णय लेगी इसके साथ पीएमएस संघ शाखा मुजफ्फरनगर पूरी तरह से उनके साथ हर तरह का सहयोग देने हेतु तैयार हैं।

 अध्यक्ष डॉ बी0के0 जैन व सचिव डॉ वी0के0 सिंह ने बताया कि मुजफ्फरनगर पी एम एस संघ की कई केंद्रीय नेतृत्व के साथ इन मुद्दों पर लड़ाई लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है और आज की बैठक में इसी की तैयारी को लेकर महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा भी की गई है। मुजफ्फरनगर इकाई पीएमएस से जुड़े मुजफ्फरनगर के चिकित्सक केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर कंधे से कंधा मिलाकर केंद्र नेतृत्व के साथ रहेंगे।

No comments: