जिले की इस बेटी ने किया नाम रोशन



मुज़फ्फरनगर। जिले की बेटी सृष्टि गोयल ने राष्ट्रीय सीनियर वुशू प्रतियोगिता में राज्य का नाम रौशन किया है। 

 मोहाली के चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में 29वीं राष्ट्रीय सीनियर वुशू प्रतियोगिता में  मुजफ्फरनगर के पंचमुखी मोहल्ला निवासी श्री नीरज गोयल व श्रीमती संध्या गोयल की बेटी सृष्टि गोयल को कांस्य पदक मिला है।  सृष्टि गोयल ने वर्ष 2018 में तमिलनाडु के जिला नामक्कल में 17वीं राष्ट्रीय वुशू जूनियर प्रतियोगिता में वुशू (ताऊलू इवेंट) के युगल वर्ग में कांस्य पदक जीता था। और 16वीं राष्ट्रीय जूनियर प्रतियोगिता में भी कांस्य पदक जीता था। और वर्ष 2017 में आयोजित चौथी यूपी स्टेट प्रतियोगिता में गोल्ड हासिल किया था। 

    वुशु एक मार्शल आर्ट है इसे जुडो, कराटे और ताइक्वांडो की तरह खेला जाता है।वुशु को दो भागों में खेला जाता है। पहले भाग को सांसु कहते हैं जबकि दूसरे को ताऊलू कहा जाता है।पहले भाग में खिलाड़ी एक- दूसरे पर अटैक करते हैं, इसमें हाथ से पंच और पांव से किक मारकर अधिक से अधिक अंक अर्जित किये जाते हैं। वुशू के दूसरे भाग ताऊलू में इसे प्रदर्शन के आधार पर खेला जाता है। 

    चीन में पैदा हुए वुशू को थोड़े समय में ही भारत में प्रसिद्ध हो गई है। वुशू न सिर्फ एक खेल है, बल्कि महिलाओं और बच्चों द्वारा आत्मरक्षा के साधन के तौर पर भी फायदेमंद सिद्ध होगी। जनपद मुज़फ्फरनगर बेटियों में खेल के प्रति रुझान बढ़ रहा है। 

    सृष्टि गोयल ने राष्ट्रीय स्तर वुशू के ताऊलू इवेंट में तलवारबाजी में कांस्य पदक लिया हैं। इस बेटी का सबसे पसंदीदा इवेंट तलवारबाजी ही है और वह उसी में देश के नाम अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक जीतना चाहती हैं। आज यह बेटी किसान नेता अशोक बालियान से मिलने आई थी। हमने इस अवसर पर जनपद मुज़फ्फरनगर की बेटी सृष्टि गोयल को  इस पदक के लिए व् निकट भविष्य में और बेहतर प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं दी हैं। इस तरह के श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली बेटी की आर्थिक सहायता होनी चाहिए, ताकि वह अपने खेल व पढाई को बेहतर ढंग से जारी रख सके।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

शाहपुर सौरम की महिला सिपाही ने की आत्महत्या