गिद्ध की तरह व्यवहार कर रही है कांग्रेस :डॉ संजीव बालियान


नई दिल्ली । केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ संजीव बालियान ने बताया कि भाजपा नेता किसानों तक पहुंचकर उन्हें कृषि कानूनों के फायदों के बारे में बताएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि विपक्षी दल कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन का राजनीतिकरण कर रहे हैं और कांग्रेस पार्टी गिद्ध की व्यवहार कर रही है।

पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन राज्य मंत्री संजीव बालियान ने किसानों के प्रस्तावित "रेल रोको" कार्यक्रम से एक दिन पहले पश्चिमी यूपी के भाजपा नेताओं के साथ अपने निवास पर हुई एक बैठक के बाद यह बयान दिया। बालियान ने बताया कि सरकार का हिस्सा होने के नाते यह हमारा कर्तव्य है कि हम किसानों से बात करें और उन्हें समझाएं। हम किसानों की शिकायतों को सुनेंगे। हम उनके पास जाएंगे और उन्हें कृषि कानूनों के लाभ बताएंगे। मुझे लगता है कि किसानों और सरकार के बीच गतिरोध को सुलझाने और आगे बढ़ने के लिए वार्ता ही केवल एकमात्र रास्ता है।

उन्होंने कहा कि संवाद के माध्यम से हम किसानों और सरकार के बीच गतिरोध को समाप्त करने में कामयाब होंगे। लोकतंत्र में संवाद ही समाधान तक पहुंचने का एकमात्र तरीका है। बातचीत के अलावा मुझे कोई और रास्ता नहीं दिखता है। 

भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राजकुमार चाहर, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सौदान सिंह, मथुरा के पूर्व सांसद तेजवीर सिंह और यूपी के भाजपा नेता सत्य कुमार, कर्मवीर सिंह, तेजेंद्र सिंह, कमल सिंह मलिक तीन घंटे से अधिक समय तक चली बैठक में शामिल हुए। लगभग तीन महीने से कृषि कानूनों का विरोध करते हुए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ज्यादातर किसान गाजीपुर की सीमा पर डेरा डाले हुए हैं।

उन्होंने कहा कि हमने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों के साथ कृषि बिलों पर चर्चा की। इस क्षेत्र में ज्यादा मंडियां नहीं हैं। केवल गुड़ मंडियां हैं, जो छोटे पैमाने पर किसानों को गुड़ पर 2.5 प्रतिशत टैक्स छूट के साथ लाभान्वित कर रही हैं। एक तरह से कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग पहले से ही मौजूद है और कृषि कानूनों का एपीएमसी पर कोई प्रभाव नहीं है।उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस गिद्ध की तरह व्यवहार कर रही है और किसानों के आंदोलन का फायदा उठाना चाहती है। उन्होंने कहा कि किसानों को यह समझने की जरूरत है कि राजनीतिक दल किसानों के आंदोलन का इस्तेमाल अपने राजनीतिक लाभ के लिए कर रहे हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा किसानों का वोट खो रही है? बालियान ने कहा कि किसानों के बिना आज तक कोई भी सरकार सत्ता में नहीं आई है। किसान हमारे अपने हैं और सरकार उनके कल्याण के लिए बनी है। जो मुद्दे अब पैदा हुए हैं उन्हें बातचीत के माध्यम से हल किया जाएगा।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा