किसानों के उग्र प्रदर्शन से मुरादाबाद में हाईवे जाम, एसएसपी की गाड़ी में तोड़ फोड़ देखे वीडियो

 मुरादाबाद । देश भर में चल रहे किसान आंदोलन के दौरान रामपुर-मुरादाबाद बार्डर पर मंगलवार को पीलीभीत और पूरनपुर के किसानों का उग्र प्रदर्शन देखने को मिला है। सैकड़ों की संख्या में किसानों ने नेशनल हाईवे-24 पर जोरदार प्रदर्शन किया। किसान आंदोलन में शामिल होने दिल्ली आ रहे किसान रोकने पर उग्र हो गये और मुरादाबाद एसएसपी की गाड़ी पर हमला कर दिया। किसानों को रोकने के लिये पुलिस ने बैरिकेडिंग की थी, जिसे किसानों ने तोड़ दिया। पुलिस और किसानों के बीच जमकर झड़प हुई। इस दौरान रामपुर एसपी शगुन गौतम के पैर में चोट लगी है। उन्होंने भागकर अपनी जान बचाई।



प्रदर्शन के दौरान ही किसान उग्र हो गए और उनकी पुलिस से तीखी नोंकझोंक भी हुई। इसी दौरान कुछ किसानों ने एसएसपी की गाड़ी पर हमला बोल दिया और तोड़फोड़ की। इसके बाद पुलिस को धक्का देते हुए दिल्ली की ओर बढ़ गए। किसानों को रोकने की कोशिश में कुछ जवानों को हल्की चोट लगी है। 

जानकारी के अनुसार आज सुबह से दिल्ली की तरफ कूच कर रहे सैकड़ों किसानों का जत्था नेशनल हाईवे 24 पर उतरा था। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की और बैरिकेडिंग लगाई लेकिन किसान नहीं माने और दौड़ते हुए किसानों ने पुलिस बैरिकेडिंग को तोड़ डाला। बताया जाता है कि किसानों से बचने की कोशिश में एसएससी के पैर में चोट आई है। 

आंदोलन को धार देने की कवायद में दिल्ली कूच करने की तैयारी कर रहे किसानों की निगरानी सोमवार से ही बढ़ा दी गई थी। सोमवार को पूरी रात मुरादाबाद के आईजी रमित शर्मा और एसएसपी प्रभाकर चौधरी उन किसानों की निगरानी करने में जुटे रहे, जो बरेली और रामपुर से होकर दिल्ली जाने की योजना बना रहे हैं। रात 12 बजे से लेकर सुबह छह बजे के बीच सैकड़ों किसान मूंढापांडे टोल प्लाजा से वापस लौटाए गए। 

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार देर रात प्रशासनिक अमले को भनक लगी कि बरेली-मुरादाबाद-नेशनल हाईवे से होकर हजारों किसान दिल्ली कूच करने की तैयारी कर रहा है। रात के अंधेरे में किसानों की भारी संख्‍या दिल्ली की ओर बढ़ने की आशंका से प्रशासनिक अमला हरकत में आ गया। मुरादाबाद क्षेत्र के आईजी रमित शर्मा और एसएसपी मुरादाबाद प्रभाकर चौधरी रात 12 बजे दलबल के साथ मूंढापांडे टोल प्लाजा के लिए रवाना हुए। पुलिस के दोनों उच्चाधिकारियों ने मूंढापांडे टोल पर डेरा डाल दिया।

मूंढापांडे थाना प्रभारी नवाब सिंह ने उच्चाधिकारियों के निर्देशन में वाहनों की सघन जांच व तलाशी शुरू कराई। इस बीच पुलिस की नजर उन वाहनों पर गड़ी रही जो रामपुर बरेली की तरफ से आ रहे थे। वाहन चालकों व यात्रियों को रोककर पुलिस उनके गंतव्य स्थल वह यात्रा के कारण से संबंधित सवाल पूछती रही। संदेह के आधार पर सैकड़ों यात्रियों को रोक कर पुलिस ने पूछताछ की। इनमें कुछ ऐसे यात्री भी शामिल रहे जिनको आगे बढ़ने से पुलिस ने रोक दिया। टोल प्लाजा पर पुलिस के अकस्मात वाहन चेकिंग अभियान से घंटों अफरा-तफरी का माहौल रहा। वाहनों की भारी कतार मूंढापांडे टोल प्लाजा पर लगी रही।

पुलिस के उच्चाधिकारी इस बात का खास ख्याल रखते रहे की आंख में धूल झोंक कर कोई भी किसान दिल्ली की ओर आगे ना बढ़ सके। यही वजह रही मूंढापांडे थाना प्रभारी समेत दर्जनों पुलिसकर्मियों के होने के बाद भी पुलिस के उच्चाधिकारी वाहन चेकिंग अभियान पर खुद नजर गड़ा कर बैठे रहे। वाहन चेकिंग अभियान मंगलवार को सुबह छह बजे तक चला। इसके बाद पुलिस के दोनों उच्चाधिकारी वापस मुरादाबाद लौट आए।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा