Wednesday, September 29, 2021

मुजफ्फरनगर से कम से कम दो चेहरों समेत डेढ सौ टिकट काटेगी भाजपा

 


लखनऊ। प्रदेश में एक बार फिर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में सरकार बनाने के लिए भाजपा ने विधानसभा चुनाव के टिकट वितरण में खराब रिपोर्ट कार्ड वाले कई मौजूदा विधायकों पर गाज गिरने वाली है। पार्टी के फार्मूले के अनुसार टिकट वितरण हुआ तो विधानसभा चुनाव-2022 में 150 से अधिक उम्मीदवार बदल जाएंगे। इनमें 2017 में चुनाव जीते और हारे उम्मीदवार भी शामिल है। मुजफ्फरनगर से कम से कम दो चेहरों का टिकट काटे जाने को लेकर तमाम चर्चाएं हैं।

जीत के लिए पार्टी तमाम हथकंडे अपनाएगी। ऐसे में साढ़े चार वर्ष तक संगठन व सरकार की गतिविधियों में निष्क्रिय रहने वाले विधायकों का टिकट कटेगा। वहीं, साढ़े चार वर्ष में समय-समय पर अनर्गल बयानबाजी कर संगठन व सरकार को कठघरे में खड़ा करने वाले विधायकों पर भी गाज गिरेगी। 70 वर्ष की उम्र पार कर चुके, विभिन्न प्रकार की गंभीर बीमारी से जूझ रहे विधायकों का टिकट भी कटेगा।

पार्टी का मानना है कि जिन विधायकों से स्थानीय जनता, कार्यकर्ता, संगठन पदाधिकारी नाराज है उनकी जगह नए चेहरे को मौका देने से फायदा होगा। साथ ही जिन विधायकों पर समय-समय पर अलग-अलग तरह के आरोप लगते रहे हैं उन विधायकों को भी टिकट देने से पार्टी परहेज करेगी। विधानसभा चुनाव 2017 में ज्यादा अंतर से हारे उम्मीदवारों को भी पुन मैदान में उतारने का जोखिम मोल लेने से पार्टी बचेगी।

No comments: