Monday, September 13, 2021

पंजाब नहीं दिल्ली में करें किसान अपना आंदोलन : कैप्टन अमरिंदर सिंह


चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसान यूनियनों से अपील की कि वे केंद्र द्वारा पारित कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब में विरोध प्रदर्शन न करें. किसान आंदोलन पर चिंता जाहिर करते हुए कैप्टन ने कहा-अगर आपको केंद्र सरकार पर दबाव बनाना है तो अपना आंदोलन दिल्ली में कीजिए. पंजाब को अपने आंदोलन से अशांत मत करो.

होशियारपुर के चब्बेवाल विधानसभा क्षेत्र के ग्राम मुखलियाना में एक सभा में उन्होंने कहा कि जिस राज्य की जनता किसानों के जायज मुद्दों के पक्ष में उनके साथ चट्टान की तरह खड़ी हो, उसे भाजपा द्वारा पारित इन कृषि कानूनों के खिलाफ राज्य भर में विरोध प्रदर्शन करने से बचना चाहिए.

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि पंजाब में 113 जगहों पर किसानों द्वारा किया जा रहा विरोध प्रदर्शन राज्य के हित में बिल्कुल भी नहीं है, इससे उसके आर्थिक विकास पर काफी असर पड़ा है और उम्मीद है कि आंदोलन करने वाले किसानों द्वारा उनके अनुरोध को स्वीकार किया जाएगा. शहीद भगत सिंह नगर के बल्लोवाल सौंखड़ी एक अन्य जनसभा में उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल ने खेती कानूनों के मुद्दे पर किसानों को धोखा दिया है.

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि कृषि कानून अकाली दल की मर्जी से ही अमल में लाए गए थे और हरसिमरत कौर बादल केंद्रीय मंत्री होते हुए केंद्रीय कैबिनेट ने आर्डिनेंस पास किए थे. इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की तरफ से भी खेती कानूनों की वकालत की गई लेकिन जब उनका विरोध शुरू हुआ तो अकाली दल ने सुर बदल लिए.

No comments:

Featured Post

कपिलदेव अग्रवाल व उमेश मलिक ने किया सडक सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन

मुज़फ्फरनगर। आज एआरटीओ कार्यालय पर एआरटीओ विनीत मिश्रा के निर्देशन में सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया गया है जिसमें उन्होंने सड़क सुरक्षा के...