Thursday, September 2, 2021

मुजफ्फरनगर में किसानों का रेला, कहीं हो ना जाए कोई खेला

 


मुजफ्फरनगर । आगामी 5 सितंबर को संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर आयोजित की जाने वाली किसान महापंचायत को लेकर जिला एवं पुलिस प्रशासन कड़ी से कड़ी सुरक्षा इंतजाम करने में किसी भी तरह की लापरवाही बरतने के लिए तैय्यार नहीं है, वहीं दूसरी ओर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत लगातार गांव दर गांव जाकर इस किसान महापंचायत को सफल बनाने के लिए प्रयासरत है। 

सूत्रों ने बताया है कि आगामी 5 सितंबर को होने जा रही किसान महापंचायत में भारी संख्या में पंजाब, हरियाणा उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों के किसानों के आने की संभावना जताई जा रही है। इसको देखते हुए कई पार्टियों के पदाधिकारियों द्वारा उनके लिए उत्तम भोजन एवं ठहरने की व्यवस्था की जा रही है। बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी के आवाहन पर मुजफ्फरनगर राष्ट्रीय लोकदल इकाई किसानों के लिए किसान ढाबा वहीं दूसरी ओर शामली के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष पति प्रसन चौधरी भी मुजफ्फरनगर में किसान ढाबा संचालित करेंगे, ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन द्वारा आने वाले किसानों के ठहरने की व्यवस्था के इंतजाम किए जा रहे हैं, किसानों का आंदोलन तीन कृषि बिलों को लेकर पिछले 1 साल से लगातार दिल्ली के सिंधु बॉर्डर एवं गाजीपुर बॉर्डर पर लगातार जारी है। जिसके बाद राकेश टिकैत एवं भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत द्वारा गांव दर गांव जाकर किसानों से महापंचायत में आने की अपील की जा रही है। बताया गया है कि अन्य प्रदेशों में भी भारतीय किसान यूनियन एवं संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारी किसानों को इस महापंचायत में पहुंचने के लिए अपील कर रहे हैं बताया जा रहा है कि होने वाली महापंचायत में भाजपा की केंद्र सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार के लिए संयुक्त किसान मोर्चा एवं भारतीय किसान यूनियन के नेताओं द्वारा कोई बड़ा निर्णय लिया जाना है। तीन कृषि बिलों को लेकर पिछले 1 साल से लगातार देशभर में राजनीतिक गलियारों में गर्मी का माहौल चल रहा है। इसी के चलते विपक्षी पार्टियां भी केंद्र सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने की तैयारी में लगी हुई है। हरियाणा के करनाल में हुए लाठीचार्ज उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में दो भाजपा विधायकों के साथ भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों द्वारा बदतमीजी किए जाने पर जिले का माहौल पहले से ही गरम है। इस जिले के बड़े नेता सांसद एवं केंद्रीय राज्य मंत्री डॉक्टर संजीव बालियान के बीमार हो जाने के कारण सत्ताधारी पक्ष में इस मामले को फिलहाल ठंडे बस्ते में डाल दिया था नहीं परंतु भारतीय किसान यूनियन एवं विपक्षी दल किसी ना किसी बात को लेकर इस मामले को गरमाने की कोशिश कर रहे हैं, बताया जा रहा है 5 सितंबर को होने वाली किसान महापंचायत में भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत अपने वर्चस्व की हनक सत्ताधारी पक्ष को दिखाने की कोशिश करेंगे,एक ओर जहाँ शहर भर में किसानों का रेला होगा वहीं दूसरी ओर जिला एवं पुलिस प्रशासन भी पूरी सतर्कता के साथ शहर की सुरक्षा को चाक-चौबंद रखेगा। जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह, एसएसपी अभिषेक यादव एवं समस्त जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन इस पंचायत को शांतिपूर्वक तरीके से सफल बनाने के लिए प्रयासरत रहेगा साथ ही किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन हर समय मुस्तैद रहेगा।

No comments:

Featured Post

कपिलदेव अग्रवाल व उमेश मलिक ने किया सडक सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन

मुज़फ्फरनगर। आज एआरटीओ कार्यालय पर एआरटीओ विनीत मिश्रा के निर्देशन में सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया गया है जिसमें उन्होंने सड़क सुरक्षा के...