अखिलेश के शिक्षा गुरू को उम्मीद, एक दिन बनेंगे पीएम


इटावा. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के जन्म दिन पर खास जश्न सपा समर्थक मना रहे हैं। उनके शैक्षिक गुरू अवध किशोर बाजपेई ने अपने शिष्य अखिलेश के 2022 मे फिर से मुख्यमंत्री बनने और आने वाले दिनों में देश का प्रधानमंत्री बनने की उम्मीद जताई है. 

इटावा के सिविल लाइन इलाके में रहने वाले अग्रेजी के प्रवक्ता पद से रिटायर अवध किशेार बाजपेई ने एक टीवी चैनल से बातचीत में भरोसा जताते हुए कहा कि उनका शिष्य अखिलेश 2022 मे एक बार फिर से उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनेगा. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के जन्मदिन को लेकर उनके जिले इटावा मे खासा जोश है. जगह-जगह बधाई देने से जुडे़ पोस्टर लगाए गए हैं. अवध किशोर बाजपेई इस नाम के बिना अखिलेश की कहानी नहीं सुनाई जा सकती है. इस शिक्षक ने अखिलेश की जिंदगी को अहम भूमिका निभाई है. बाजपेई भी ऐसे चंद ऐसे लोगों में हैं, जिन्हें अखिलेश सबसे अधिक पंसद करते हैं. इटावा शहर की सिविल लाइन में कचहरी रोड पर रहने वाले अवध किशोर बाजपेई कर्म क्षेत्र इंटर कालेज से रिटायर हैं.

बाजपेई बताते हैं कि वह अक्सर अखिलेश के चाचा शिवपाल सिंह यादव के साथ, जो धौलपुर जाकर उनकी पढ़ाई के संबंध में जानकारी लिया करते थे. बाजपेई बताते है कि अखिलेश कक्षा सात के रहे होंगे वो शिवपाल और उनकी पत्नी धौलपुर छोड़ने के लिए गये तो अखिलेश ने ताजमहल देखने के इच्छा जताई थी. जिसकी तस्वीर आज भी सुरक्षित रखी हुई है. इसमें छोटे अखिलेश के साथ उसके चाचा शिवपाल यादव भी दिखाई दे रहे हैं. बाजपेई के पास अखिलेश यादव का वो अंर्तरदेशी पत्र आज भी यथावत रखा हुआ है, जो अखिलेश यादव ने धौलपुर से अपने शैक्षिक गुरू अवध किशोर बाजपेई को क्लास मे प्रमोशन के बाद लिखा था. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का धौलपुर राजस्थान से गहरा जुड़ाव रहा है. राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल में 12वीं तक पढ़ाई के दौरान अखिलेश धौलपुर में ही रहे हैं.

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार