एक जुलाई से खुलेंगे स्कूल पर नहीं आएंगे बच्चे

 


लखनऊ। कोरोना का कहर कम होने के बाद एक जुलाई से परिषदीय विद्यालयों को खोलने की तैयारी शुरू कर दी गई है। शासन ने निर्देश दिए हैं कि एक जुलाई से परिषदीय स्कूलों में बच्चे नहीं जाएंगे, लेकिन शिक्षक और अन्य कर्मी स्कूल पहुंचकर प्रशासनिक कार्य निपटाएंगे, बच्चों को स्कूल नहीं बुलाया जाएगा। शासन ने कक्षा एक से कक्षा 8 तक के शिक्षकों को स्कूल संचालन की विस्तृत गाइडलाइन जारी की गई है। हालांकि इस दौरान शिक्षक व अन्य कर्मी स्कूल में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करेंगे। कोरोना के चलते लंबे समय से स्कूल बंद हैं। शिक्षकों के अनुसार, नए सत्र में जब भी पढ़ाई शुरू होगी, बच्चों को पढ़ाई की मुख्य धारा में लाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी होगी। सूत्रों ने बताया कि शासन के निर्देश मिले हैं। एक जुलाई से बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय विद्यालय खोले जाएंगे। शिक्षक स्कूली पहुंचकर सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन करेंगे। अभी कोई छात्र स्कूल नहीं जाएगा। कक्षा एक से 8 तक के सभी शिक्षक स्कूल पहुंचेंगे। स्कूलों में ई-पाठशाला के माध्यम से कक्षाओं का संचालन किया जाएगा। बच्चों को शासन के निर्देश मिलने तक स्कूल आने के लिए नहीं कहा जायेगा। बच्चों की प्रवेश प्रक्रिया भी स्कूलों में शुरू कर दी जाएगी। मिड डे मील से जुड़े छात्र-छात्राओं के खातों में धनराशि भेजी जाएगी। मिड डे मील का खाद्यान्न बच्चों, अभिभावकों को दिया जाएगा। छात्रों के घरों पर ही निशुल्क पाठ्य पुस्तकों का वितरण कराया जाएगा। ऑपरेशन कायाकल्प की गतिविधियां भी पूरी कराई जाएंगी।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार