मानसून: यहां बरसेगा पर वेस्ट यूपी तरसेगा


नई दिल्ली। समय से पहले दौड़ी मानसून की गाड़ी फिलहाल थम गई है। अभी इसका पंचर जुडने में पांच दिन का वक्त लग सकता है। ऐसे में भीषण गर्मी से लोग बिलबिला रहे हैं। उन्हें कुछ दिन और पसीना बहाना पडेगा। 

मौसम विभाग के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसूनी की उत्तरी सीमा बाड़मेर, भीलवाड़ा, धौलपुर, अलीगढ़, मेरठ, अंबाला और अमृतसर से होकर गुजर रही है। हवा के पैटर्न से पता चलता है कि राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली और पंजाब के बाकी हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए फिलहाल अगले पांच दिनों तक कोई अनुकूल स्थिति नहीं बन रही है। हालांकि, अगले पांच दिनों के दौरान प्रायद्वीपीय भारत  के उत्तर-पश्चिम, मध्य और पश्चिमी हिस्सों में हल्की बारिश होने की संभावना है। 

अगले पांच दिनों में बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में तेज नमी वाली दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के प्रभाव में बारिश होने की संभावना है। इसके बाद, नम पूर्वी हवाओं के तेज होने की संभावना है, जिससे 1 से 3 जुलाई तक उत्तरी बिहार, उत्तरी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की हिमालयी तलहटी में बारिश बढ़ जाएगी, जिससे इन क्षेत्रों से निकलने वाली या बहने वाली नदियों में प्रवाह बढ़ जाएगा। 

1 से 3 जुलाई के दौरान उत्तराखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश की हिमालयी तलहटी में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। वहीं, 30 जून और 1 जुलाई को हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 20-30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाएं चलने की संभावना है। अगले 24 घंटों के दौरान बिहार, झारखंड और गंगीय पश्चिम बंगाल में मध्यम से तेज आंधी के साथ-साथ लगातार बिजली गिरने की भी संभावना है। 

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार