Friday, May 7, 2021

ऎसा हुआ खेल, जीतते ही प्रधान जी गए जेल


मुजफ्फरनगर । जीते हुए प्रधान को अपने गांव में जीत का जश्न मनाना भारी पड़ गया। आज शुक्रवार के दिन बुढ़ाना पुलिस की दबिश‌ के चलते गांव प्रधान ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। तब पुलिस ने प्रधान को संगीन धाराओं में जेल भेज दिया। 
पुलिस पर जानलेवा हमले के आरोप में नामजद ग्राम प्रधान पुलिस के हाथ नहीं आ रहा था। तब पुलिस ने बीते दिनों गांव जौला से 10 लोगों को पकड़ा तो इन सभी को छोड़ने की एवज में गांव प्रधान को हिरासत में लेकर सभी को छोड़ दिया गया। इस मामले में आरोपी और भी हैं जिनकी तलाश में पुलिस अभी भी लगातार कहीं ना कहीं दबिश दे रही है। अब तक इस मामले में पुलिस 19 आरोपियों को जेल भेज चुकी है। जीता हुआ प्रधान‌ विकलांग है। मिली जानकारी के अनुसार बीती 03 मई को गांव मंदवाडा के नये प्रधान फ़ैज़ मौहम्मद निर्वाचित हुए थे। तब सुबह के समय निर्वाचित प्रधान के समर्थकों ने अतिउत्साह में गांव में जूलूस निकालना शुरू कर दिया जबकि कोरोना महामारी के चलते चुनाव आयोग ने जीत का जश्न मनाने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई थी। लेकिन इसके बावजूद भी जीते हुए प्रधान के समर्थक नहीं माने और उन्होंने जूलूस निकालना जारी रखा। तब आरोपी के मुताबिक किसी हारे हुए उम्मीदवार ने बुढ़ाना पुलिस को फोन कर दिया कि गांव में कुछ लोग जीत का जश्न मना रहै हैं। इससे गांव का माहौल खराब हो सकता है। तब इस सूचना को गंभीर मानते हुए गांव में पुलिस गई और सभी को जीत का जश्न मनाने के लिए मना किया तो आरोप के मुताबिक जश्न मना रहे लोगों ने पुलिस पर अचानक से पथराव कर दिया। जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। तब पुलिस ने किसी तरह से ओट लेकर अपनी जान बचाई। बाद में पुलिस ने इस मामले में 17 लोगों को दबिशें‌ देकर पकडकर जेल भेज दिया। इस दौरान गांव प्रधान फ़ैज़ मौहम्मद का कहीं पता नहीं लग पाया। बीते दिनों पुलिस ने गांव‌ प्रधान‌ की पत्नी को जेल भेज दिया था। बीते दिनों पुलिस ने गांव जौला से 10 लोगों को हिरासत में लिया तो गांव प्रधान‌ ने बुढ़ाना पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर सभी दस लोगों को छुडवा दिया। पुलिस ने आज गांव प्रधान फ़ैज़ मौहम्मद उर्फ फैय्याज पुत्र हाजी सरफराज व उसके सगे सुल्तान को जेल भेज दिया। पुलिस ने दोनों भाइयों को 146/21 धारा 147,148, 149, 332, 353, 307, 188, 269, 270 भारतीय दंड विधान व 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम व 3 (1) महामारी व 7 सीएलए अधिनियम के तहत जेल भेज दिया। इस दोनों भाईयों को पकडने का श्रेय हैड कांस्टेबल सन्दीप कुमार, हैड कांस्टेबल मौहम्मद वकार, कांस्टेबल अनिल कुमार और चालक कांस्टेबल सतीश कुमार को दिया गया है। दूसरी और बुढ़ाना पुलिस के अनुसार दोनों भाइयों को एक स्थान से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस का यह भी कहना है कि अभी और भी आरोपी हैं जिनको जल्दी ही पकड़ लिया जायेगा। किसी भी सूरत में कोई भी आरोपी बख्शा नहीं जाएगा। दूसरी ओर पुलिस ने अन्य आरोपियों की तलाश में बीती रात गांव मंदवाडा में फरजंदा के घर पर दबिश दी लेकिन कोई भी आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ नहीं पाया।

No comments:

Featured Post

इंडिया टैलेंट शो में टेलेंट दिखाएगा मुजफ्फरनगर का ये जवान

मुजफ्फरनगर। आरव राठौड़ को इंडिया टैलेंट मंच की ओर से एक ऑफिशल लेटर दिया गया है। परिजनों में खुशी की लहर है। मिली जानकारी के अनुसार आरव राठौड़ ...