Sunday, May 23, 2021

कोरोना के फैलाव के बाद भी नावला में सैनेटाइजेशन नहीं


 मुजफ्फरनगर । आज के समय में जब शासन प्रशासन कोरोना की रोकथाम के लिए युद्धस्तर पर प्रयासरत हैं वहीं कुछ सरकारी कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री मोदी जी व मुख्यमंत्री योगी जी की कोरोना व ब्लैक फंगस की महामारी की रोकथाम के लिए उठाए जाने वाले प्रभावी कदम पर बट्टा लगाने का काम भी किया है। इसका सीधा उदहारण ग्राम सचिव नावला अनुज शर्मा ने किया है। बार बार अनुरोध के बावजूद भी सेनाटाइजेशन नहीं कराया गया। 

उल्लेखनीय हैं कि नावला ग्राम में कोरोना संक्रमण पूरी तरह पैर पसार चुका है।ग्राम में कई मौत भी कोरोना संक्रमण के कारण हो चुकी हैं, तथा कई लोग कोरोना पॉजिटिव हैं जो होम आइसोलेशन में इलाज करवा रहे हैं, जिसके सम्बंध में नावला निवासी, वरिष्ठ अधिवक्ता प्रमोद त्यागी ने बताया कि उनका पुत्र कपिल त्यागी भी कोरोना पॉजिटिव हैं एवं जो होम आइसोलेशन में है तथा उनके आस पास में भी कई लोग कोरोना पॉजिटिव हैं जो आइसोलेशन में है।

जिसके सम्बंध में ग्राम सचिव, नावला अनुज शर्मा मो0 न0 9319196444 को कई बार सेनिटाइज कराने के लिए कहा गया है, लेकिन सैनिटाइज कराना तो दूर की बात है उन्होंने आकर देखना भी जरूरी नहीं समझा।

इसके सम्बंध में आज जिलाधिकारी श्रीमती सेल्वा कुमारी जे से भी मोबाइल 9454417574 पर सम्पर्क करने का प्रयास किया लेकिन उनकी तरफ से भी फोन पर बात नहीं की गई।

वरिष्ठ अधिवक्ता प्रमोद त्यागी ने जिलाधिकारी को व्हाट्सएप पर सूचना देते हुए कहा कि उनके घर व ग्राम नावला को सैनिटाइज करवाने के आदेश जारी करे एवं लापरवाही बरतने के लिए जिस प्रकार स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों का स्पष्टीकरण मांगा है उसी प्रकार ग्राम सचिव का भी स्पष्टिकरण माँगा जाना न्यायहित में आवश्यक है जिससे कोरोना काल में आम जनता को बचाया जा सके।

No comments:

Featured Post

वार्ड 41 की जिला पंचायत सदस्य का प्रमाणपत्र मिला फर्जी

 मुज़फ्फरनगर। 41 नम्बर जिला पंचायत सदस्य जरीन का जाति प्रमाणपत्र फ़र्ज़ी पाया गया है। एसडीएम सदर ने इसे निरस्त करने की संस्तुति की है।