Sunday, April 18, 2021

राजनीतिक दलों के समर्थन के बावजूद छेर रहे कई उम्मीदवार


मुजफ्फरनगर। जिले में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए कल मतदान होना है। इससे पहले ही कई धुरंधर घुटने टेक चुके हैं। इनमें कई राजनीतिक दलों के समर्थक प्रत्याशी भी हैं। मतदान से पहले ही उन्हें आभास हो चुका है कि उनकी स्थिति क्या है। दूसरी ओर चुनाव में दारू बांटने वाले प्रत्याशियों को लेकर तमाम लोगों में रोष भी है। माना जा रहा है कि दारूबाज लोग कुल मतदाता का 10 से 15% हैं। जबकि इसको लेकर बाकी 85% लोगों में इस बात को लेकर रोष है कि चुनाव में दारू बांटकर कई प्रत्याशियों ने इलाके में माहौल खराब करने का काम किया है। कल जिले में होने वाले मतदान के लिए पोलिंग पार्टियां रवाना हो रही हैं। वहीं प्रचार समाप्त होने के बाद अब उम्मीदवार अपनी रणनीति बना रहे हैं। आज की रात उनके लिए कत्ल की रात जैसा माहौल रहेगा। जिले में तमाम स्थानों पर स्थिति बड़ी अजब गजब है। जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत तथा ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए होने वाले मतदान को लेकर पिक्चर पूरी तरह में साफ होने के बाद आशंका में जकड़े हुए हैं। कई बड़ी पार्टियों से समर्थित उम्मीदवार इस समय बुरी स्थिति में हैं। इनमें कई लोगों को अभी दिन में तारे नजर आने लगे हैं। माना जा रहा है कि कई प्रत्याशी जो बड़ा पैसा देकर टिकट हासिल करने में कामयाब हुए उन्हें राजनीतिक दलों के समर्थन का कोई लाभ नहीं हुआ है। ऐसे में कई राजनीतिक पहलवान पटखनी खाने की तैयारी में हैं। सपा, रालोद, भाजपा और बसपा के कई दावेदार बुरी तरह फंस गये हैं। अब वोटर भी वोट कटवा उम्मीदवारों से पल्ला झाड़ कर ऐसे प्रत्याशियों के पीछे आ रहे हैं जिनकी जीत की संभावना अधिक है।

No comments:

Featured Post

सुनील बंसल ने भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं को दी ये हिदायत

लखनऊ । भाजपा के बूथ से लेकर मंडल व जिले के सभी पदाधिकारी सरकार और संगठन के कार्यों को जन.जन तक पहुंचाने का काम करें। 2017 और 2019 से अब तक प...