Saturday, March 6, 2021

विधायक उमेश मलिक के साथ पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने के लिए खाप चौधरी

 लखनऊ। किसान आंदोलन के बीच खाप चैधरी मुख्यमंत्री आवास पहुंचे और विभिनन मुद्दों पर उनसे बात की।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने के लिए खाप चैधरी विधायक उमेश मलिक के साथ पहुंचे। 

 5 कालिदास मार्ग मुख्यमंत्री आवास पर खाप चैधरी बुढाना से भाजपा विधायक उमेश मलिक के साथ पहुंचे। इससे पहले बुढ़ाना के विधायक उमेश मलिक और शामली के विधायक तेजेंद्र निर्वाल के साथ आए खापों के प्रतिनिधियों ने शुक्रवार को लखनऊ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और पंचायतीराज मंत्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी से उनके आवास पर मुलाकात की थी। उन्होंने बिजली व गन्ने की समस्याएं उठाईं। खापों से प्रतिनिधियों ने कहा कि पश्चिमी यूपी में बिजली की बढ़ी दरें, गन्ना मूल्य भुगतान में देरी और गन्ना मूल्य में वृद्धि नहीं होने से आम किसानों में नाराजगी है। फुगाना थांबा के हरवीर सिंह ने कहा कि जब राजकीय नलकूपों और नहरों से सिंचाई मुफ्त हो सकती है तो किसानों के निजी ट्यूबवैल को बिजली मुफ्त या कम दर पर क्यों नहीं दी जा सकती। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि किसान राज्य सरकार की प्राथमिकता हैं। प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में किसानों की खुशहाली के लिये गम्भीरता से प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में केन्द्र सरकार द्वारा लागू किये गये कृषि कानूनों का लाभ किसानों को मिलेगा। कृषि कानूनों को किसानों की आय दोगुना करने के उद्देश्य से लागू किया गया है। इससे कृषकों की आय में निरन्तर वृद्धि होगी।

मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों के एक प्रतिनिधिमण्डल से भेंट कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने हमेशा किसानों को ध्यान में रखकर नीतियां बनायी है। राज्य सरकार किसानों के हितों से जुड़े कार्यक्रमों और योजनाओं को पूरी गम्भीरता से लागू कर रही है। यह इसी का नतीजा है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अन्तर्गत देश में सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये उत्तर प्रदेश को प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया है।  

प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा लागू किये गये कृषि कानून किसान हितैषी हैं। यह कानून किसानों को सशक्त करने का प्रयास हैं। इन कानूनों का सबसे ज्यादा लाभ छोटे और सीमान्त किसानों को मिलेगा। इसलिये वे इन कानूनों का समर्थन करते हैं। प्रधानमंत्री जी तथा मुख्यमंत्री जी द्वारा कृषि एवं किसान कल्याण के लिये गम्भीरता से प्रयास किये जा रहे हैं।

प्रतिनिधिमण्डल में शामिल किसानों ने कहा कि प्रधानमंत्री जी द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि सहित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना आदि योजनाएं लागू की गई हैं। किसानों को फसल की उचित कीमत दिलाने के लिए लागत से डेढ़ गुना एम0एस0पी0 निर्धारित की गई। प्रदेश में एम0एस0पी0 के तहत प्रभावी ढंग से खरीद किये जाने से बड़ी संख्या में किसान लाभान्वित हो रहे हैं। मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में राज्य सरकार पूरी प्रतिबद्धता से किसानों के हितों के लिये कार्य कर रही है। केन्द्र व राज्य सरकार के प्रयासों से किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन हुआ है। 

प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने कहा कि कुछ लोग किसान आन्दोलन के माध्यम से किसानों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं। इससे आवागमन बाधित होता है और लोगों को असुविधा होती है। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि किसी भी समस्या का समाधान मिल बैठकर संवाद के जरिये किया जा सकता है।

खाप प्रतिनिधियों ने कहा कि पश्चिमी यूपी में गन्ना मुख्य फसल है। सरकार को गन्ना किसानों की बेहतरी की तरफ ध्यान देना चाहिए। लंबे समय तक किसानों को बकाया भुगतान नहीं मिलता जबकि वे जो खाज, बीज लेते हैं, बैंक से कर्ज लेते हैं, उस पर ब्याज बढ़ता जाता है। बिजली दरें बढ़ने से विद्युत बिलों के भुगतान का संकट खड़ा हो रहा है। भूपेन्द्र चैधरी ने खाप चैधरियों के समक्ष कृषि बिलों को लेकर पक्ष रखा। कहा कि इसमें किसान विरोधी कुछ भी नहीं है। आने वाले समय में निजी क्षेत्र के जरिये ही कृषि निवेश बढ़ाया जा सकता है। नए कृषि कानूनों से बाजार में प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और किसानों को फसल का ज्यादा रेट मिलेगा।  


मुख्य मंत्री, स्वतंत्र देव और भूपेन्द्र सिंह चौधरी से मुलाकात में गठवाला खाप के चैधरी बाबा हरिकिशन मलिक के बेटे लिसाढ़ निवासी राजेन्द्र सिंह मलिक, सर्वखाप पंचायत के मंत्री सुभाष बालियान सोरम, लाख थांबेदार राजबीर सिंह मलिक फुगाना थांबा से हरवीर सिंह, खेड़ी गनी के राजपाल सिंह प्रधान, मोहम्मदपुर रायसिंह के फेरू सिंह प्रधान, खरड़ा थांबा के करन सिंह, फुगाना के सुनील कुमार सरपंच, लाख के रामवीर सिंह, फुगाना के अरविंद मलिक, हाथी करौंदा थांबा बहावड़ी के सरवीर सिंह, लिसाढ़ के चैधरी सरवेन्दर  और नरवाल खाप के चैधरी धर्मवीर सिंह शामिल थे।

No comments:

Featured Post

ग्राहकों को मिलेगी अब हाल मार्क मानक के अनुसार ज्वैलरी

मुजफ्फरनगर। ज्वेलरी को हॉल मार्क में शामिल करने के लिए वर्षों से सरकार से की जा रही अपील पर सर्राफा बाजार एसोसिएशन द्वारा ज्वेलरी की शुद्धता...