संतान की चाह में दे दी पडौस के बच्चे की बलि

 


नई दिल्ली। संतान की प्राप्ति के लिए बच्चे की बलि हत्या करने के आरोप में महिला को गिरफ्तार किया गया है। 

महिला नीलम की वर्ष- 2013 में पंकज नाम के शख्स से शादी हुई थी। लेकिन शादी के करीब आठ साल बीत जाने के बाद भी उसे बच्चा नहीं हुआ। इस बात को लेकर वह काफी परेशान रहती थी। उपर से ससुराल वाले और रिश्तेदार उसे बच्चा नहीं होने पर ताना भी मारते थे। उसने काफी इलाज भी कराया, लेकिन उसे बच्चे का सुख नहीं मिला तो वह मानसिक रूप से काफी परेशान हो गई। इसके बाद उसने तंत्र-मंत्र का सहारा भी लेना शुरू किया। इस क्रम में ही करीब चार साल पहले वह हरदोई गई थी। जहां उसने एक तांत्रिक से मुलाकात की थी। उस तांत्रिक ने महिला को अपना बच्चा पाने के लिए एक बच्चे की बलि देने का सुझाव दिया था। हालांकि वह इसके लिए पहले तो तैयार नहीं थी। वह चाहती थी कि वह किसी बच्चे को गोद ले ले। इसके लिए भी उसने काफी प्रयास किया। लेकिन जब बच्चे को गोद लेना संभव नहीं हुआ तो उसने फिर तांत्रिक वाले उपाय को करने का फैसला किया।


इसके लिए उसने कुछ दिनों तक आसपड़ोस के बच्चों को देखा फिर यह तय किया कि वह अपने पड़ोसी के बच्चे की बलि देगी। इसके लिए ही वह उस बच्चे और उसके परिवार के लोगों से रोज मिलती-जुलती थी। ताकि कोई उसपर शक न करे। रिश्ता अच्छा होने के कारण बच्चे का भी उसके घर आना-जाना था। लेकिन वह ऐसा कुछ नहीं करना चाहती थी, जिससे कोई उस पर शक करे। लिहाजा वह बच्चे को अकेला पाने की फिराक में जुट गई। शनिवार को उसने बच्चे को छत पर अकेले देखा तो वह तत्काल उसकी बलि देने मे जुट गई। आनन-फानन में वह बच्चे के पास गई, उसे अपने साथ कमरे में ले गई और पूजा करने के बाद उसका गला घोंट दिया।

पुलिस ने बताया कि पीयूष की तलाश के दौरान यह पता चला कि वह छत पर था। इसके बाद वह आरोपी महिला के साथ देखा गया था। फिर उसका कुछ पता नहीं चला कि वह कहां गया। इसके बाद एक तरफ जहां महिला से पूछताछ शुरू की गई, वहीं घटनास्थल व आसपास के घरों और छत पर जाकर हालात का जायजा लेना शुरू किया गया। इस क्रम में ही पुलिस को पड़ोस की छत पर दीवार के सहारे एक संदिग्ध बोरा दिखाई दिया, जिससे संदेह पैदा हुआ और बोरा की जांच करने पर उसमें बच्चे का शव रखा मिला।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा