Thursday, March 25, 2021

देशभर में कोरोना ने बरपाया कहर, मिले 53 हजार से ऊपर नए मामले

 



नई दिल्ली

कोरोना वायरस के बढ़ते मामले लगातार चिंता बढ़ा रहे हैं। बुधवार को देश में 53,364 नए केस सामने आए हैं, जो बीते साल 23 अक्टूबर के बाद से सबसे बड़ा आंकड़ा है। इस तरह कोरोना वायरस का संक्रमण बीते 5 महीनों के टॉप पर पहुंच गया है। 23 अक्टूबर को देश में 54,350 नए केस मिले थे, उसके बाद से लगातार यह संख्या कम ही थी। हालांकि तब यह नए मामलों का शीर्ष था और उसके बाद लगातार नए केसों की संख्या में गिरावट देखने को मिल रही थी, लेकिन इस महीने लगातार इजाफा हो रहा है। हर दिन नए मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है। हर दिन 30, फिर 40 और अब 50 हजार नए केसों का आंकड़ा पहुंच गया है। कोरोना की पहली लहर का चरम पिछले साल 17 सितंबर को देखा गया था, जब देश में 98 हजार केस सामने आए थे। 

मौतों का आंकड़ा भी कम नहीं हो रहा है। बुधवार को कोरोना संक्रमण के चलते 248 लोगों की मौत हो गई। हालांकि मंगलवार के मुकाबले यह थोड़ा राहत भरा रहा। उस दिन 275 लोगों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हुई थी। हालांकि बीते साल 23 अक्टूबर को जब 54 हजार से ज्यादा केस मिले थे, तब मृतकों का आंकड़ा 665 दर्ज किया गया था। फिलहाल एक्टिव केसों की संख्या तेजी से बढ़ते हुए 4 लाख के करीब पहुंच रही है। बुधवार को हुए तेज इजाफे के बाद देश में कोरोना के सक्रिय केसों की संख्या 3,96,889 हो गई है।

इनमें से बीते 6 दिनों में ही एक्टिव केसों की संख्या में 1 लाख का इजाफा हुआ है। राज्यवार बात करें तो महाराष्ट्र चिंता की वजह बना हुआ है। बुधवार को राज्य में नए संक्रमण के 31,855 केस दर्ज किए गए। इसके अलावा मुंबई में भी नए केसों का आंकड़ा 5,000 के पार पहुंच गया। शहर में 5,190 नए केस दर्ज किए गए हैं। इस तरह अकेले महाराष्ट्र में ही एक्टिव केस 2.5 लाख हैं, जबकि पूरे देश का आंकड़ा ही 4 लाख के करीब है।  

इस बीच कोरोना के मामलों को थामने के लिए महाराष्ट्र सरकार की कोरोना टास्क फोर्स ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। जुहू बीच को कुछ सप्ताह के लिए बंद करने का आदेश दिया गया है। इसके अलावा शाम 7 बजे के लोगों के मूवमेंट को कम करने के लिए कहा गया है। इसके अलावा गैर-जरूरी सामान की बिक्री करने वाली दुकानों को थोड़ा जल्दी बंद करने को कहा गया है। गुजरात में भी चिंताएं बढ़ रही हैं। बुधवार को सूबे में कोरोना के 1,790 नए केस दर्ज किए गए

No comments: