कांग्रेस के लिए चुनौती बनी प्रियंका गांधी की सभा


मुजफ्फरनगर । सहारनपुर और बिजनौर में किसान महापंचायत के सफलता के बाद अब कांग्रेस मुजफ्फरनगर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की सभा पार्टी नेताओं के लिए चुनौती बन गयी है। पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक और पूर्व विधायक पंकज मलिक के नेतृत्व में कांग्रेस किसानों को जुटाने की तैयारी कर रही है। 

बघरा में किसानों की महापंचायत की तैयारी शुरू हो गई है। कांग्रेस महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा मुजफ्फरनगर के बघरा में किसानों को संबोधित करेंगी। हालाकि अभी इनका पूरा कार्यक्रम तय नहीं है। लेकिन एक सूचना के अनुसार 20 फरवरी को इनका दौरा होगा। कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा 20 फरवरी को बघरा में जनसभा को संबोधित करेंगी। कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुबोध शर्मा ने कहा कि 20 फरवरी को कांग्रेस की ओर से बघरा स्थित मैदान में विशाल जनसभा होने जा रही है। इसके लिए गांव-गांव जाकर सभी वर्गों के लोगों से संपर्क किया जा रहा है। प्रियंका वाड्रा जनसभा को संबोधित करेंगी। कांग्रेस कार्यकर्ता इन तैयारियों में जुट गए हैं। तमाम तैयारियों के लिए व्‍यवस्‍थाएं बनाई जा रही हैं। साथ ही प्रशासन से भी इसकी अनुमति ली जाएगी।

किसान महापंचायत को सहारनपुर और बिजनौर जैसे ही सफल बनाने के लिए कांग्रेस के कार्यकर्ता गांव-गांव जाकर किसानों व अन्‍य वर्गों को एकजुट करेंगे। कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुबोध शर्मा जानकारी दी कि प्रियंका वाड्रा के अन्‍य कोई भी कार्यक्रम तय नहीं किया गया है। अभी बस इस बात की सूचना मिली है कि वह 20 फरवरी को महापंचायत में शामिल होंगी।

सोमवार को हुई बिजनौर में महापंचायत के दौरान प्रियंका वाड्रा ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा था कि किसान ठंड में किसान सड़कों पर कृषि कानूनों के विरोध में धरना दे रहे हैं, लेकिन पीएम उनकी समस्‍या जानने को भी तैयार नहीं है, वे विदेश का दौरा कर सकते हैं लेकिन किसानों से मिलने के लिए दो से तीन किमी भी नहीं जा सकते। सहारनपुर और बिजनौर में कांग्रेस की तरफ से आयोजित की गई महापंचायत प्रियंका वाड्रा ने किसानों को संबोधित किया था। इन दोनों किसान महापंचायतों में प्रियंका का भाषण लगभग एक ही जैसा रहा। प्रियंका वाड्रा के पूरे संबोधन में निशाने पर पीएम मोदी ही रहे, लेकिन उनके भाषण में कोई नयापन नहीं था। दस फरवरी को सहारनपुर और सोमवार को बिजनौर, दोनों ही जगह उनके निशाने पर पीएम मोदी ही थे। दोनों ही जगहों पर उन्होंने पूंजीपतियों को मोदी का मित्र बताया।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा