आईएएस बनी जिले की बेटी तो मिली बधाईयाँ

 *श्रेया त्यागी ने आईएएस बन किया गांव का नाम रोशन*



मुजफ्फरनगर। मंसूरपुर क्षेत्र के पुरा गांव की बिटिया श्रेया त्यागी ने आईएएस बन अपने गांव के साथ जनपद का नाम रोशन किया है। गांव में पहुंचने पर ग्रामीणों ने भारी उत्साह के साथ फूल मालाओं से श्रेया त्यागी का स्वागत किया और कहा कि हमें अपनी बिटिया पर नाज है।

चार जनवरी को यूपीएससी का रिजल्ट घोषित होने के बाद गांव पुरा निवासी श्रेया त्यागी पुत्री सुधीर त्यागी रिजर्व लिस्ट से चौथी रैंक प्राप्त कर आईएएस बनी है।श्रेया त्यागी ने अपनी संपूर्ण पढ़ाई दिल्ली से की है।हाल ही में यूपीएससी की तैयारी कर तीसरी बार में परीक्षा पास कर आईएएस का पद प्राप्त किया है।श्रेया त्यागी के पिता सुधीर कुमार त्यागी गुड़गांव की एसबीआई बैंक शाखा में जनरल मैनेजर के पद पर तैनात हैं,जबकि माता बीनू त्यागी ग्रहणी हैं। श्रेया त्यागी को कोई भाई नहीं है एक बड़ी बहन आस्था त्यागी जर्मनी से पीएचडी कर रही है।श्रेया त्यागी के पिता सुधीर त्यागी तीन भाई हैं।बड़ा भाई सतीश त्यागी उर्फ पप्पू गांव में खेती बाड़ी का काम करते हैं,वही तीसरा भाई सुनील त्यागी दिल्ली में अध्यापक है।श्रेया त्यागी के आईएएस बनने का समाचार जब ग्रामीणों को लगा तो ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ गई,और एक दूसरे को मिठाइयां खिलाकर खुशी का इजहार किया।रविवार शाम अपने माता पिता के साथ श्रेया त्यागी दिल्ली से गांव पहुंची तो ग्रामीणों ने फूल मालाओं से गांव की बिटिया का स्वागत किया और कहा कि हमें इस बेटी पर गर्व है,इसने अपने गांव के साथ-साथ जनपद का भी नाम रोशन किया है।करीब 95 वर्षीय श्रेया त्यागी के दादा बाल किशोर त्यागी ने भी अपनी पोत्री का फूल मालाओं से स्वागत किया वही श्रेया त्यागी ने सभी बुजुर्गों से आशीर्वाद लिया।श्रेया त्यागी ने अपनी इस बड़ी उपलब्धि का श्रेय अपने माता पिता तथा गुरुजनों को दिया है।

Comments

T.R. BEURO said…
जिले के लिए गौरव की बात

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा