सोती रही सरकार, पाकिस्तानी महिला बनी ग्राम प्रधान


एटा। प्रशासन सोता रहा और एक पाकिस्तानी महिला ग्राम प्रधान बन गई। जब मामला सामने आया तो पंचायती राज अधिकारी (डीपीआरओ) के निर्देश पर पाकिस्तानी महिला के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई। जांच के बाद पुलिस ने शनिवार को उसे गिरफ्तार कर लिया।पुलिस के मुताबिक धोखाधड़ी करने में उसकी मदद करने वाले सभी लोगों के खिलाफ जांच रिपोर्ट के आधार पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

जलेसर इलाके के गुदाउ गांव में बानो बेगम के खिलाफ एफआईआर ग्रामीणों की शिकायतों पर दर्ज की गई थी, जिन्होंने कहा था कि पाकिस्तानी नागरिक होने के बावजूद, उन्होंने ग्राम पंचायत चुनाव लड़ा था और निर्वाचित पंचायत प्रधान की मृत्यु के बाद, वह अंतरिम पंचायत प्रमुख भी बन गई थीं। एसएसपी ने कहा कि जांच के दौरान, यह साफ हो गया कि बानो बेगम पाकिस्तान की मूल निवासी हैं, जिन्होंने 8 जून, 1980 को एटा के अख्तर अली से शादी की थी। वह अपनी लॉन्ग टर्म वीजा की अवधि बढ़ाकर भारत में रह रही थीं। इस बीच, वह अंतिम ग्राम पंचायत चुनाव लड़ने और जीतने में भी सफल रही और अंततः निर्वाचित प्रधान की मृत्यु पर पंचायत की अंतरिम प्रमुख बन गईं। पुलिस ने शनिवार को महिला को जलेसर से गिरफ्तार किया।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा