महात्मा गांधी की पोती ने गाजीपुर बॉर्डर पर दिया राकेश टिकैत को आशीर्वाद


नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पोती तारा गांधी भट्टाचार्य ने गाजीपुर में भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत से मिलकर किसान आंदोलन का समर्थन दिया। गाजीपुर बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन ने कहा कि महात्मा गांधी की पोती तारा गांधी नए कृषि कानून के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में गाजीपुर बॉर्डर पर आईं थीं। 84 वर्षीय भट्टाचार्य राष्ट्रीय गांधी संग्रहालय की अध्यक्ष भी हैं। गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंची भट्टाचार्य ने किसानों से शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की। उनके साथ गांधी स्मारक निधि के अध्यक्ष रामचंद्र राही, उनके साथ गांधी स्मारक निधि के अध्यक्ष रामचंद्र राही, गांधी स्मारक निधि के निदेशक संजय सिंहा और राष्ट्रीय गांधी संग्रहालय के निदेशक ए अन्नामलाई भी आंदोलन स्थल पहुंचे हुए थे। 

भारतीय किसान यूनियन के एक बयान के मुताबिक भट्टाचार्य ने कहा कि हम यहां किसी राजनीतिक कार्यक्रम के तहत नहीं आए हैं। हम आज उन किसानों के लिए आए हैं, जो पूरा जीवन हमको खिलाते हैं। हम आप सभी की वजह से हैं। उन्होंने कहा कि किसानों का हित देश और हम सभी का लाभ निहित है। उन्होंने किसानों से कहा कि आपके कारण में इतनी सच्चाई है कि यह खुद ही बोलता है। मैं सच्चाई के साथ हूं और हमेशा इसके साथ खड़ा रहूंगी।

बता दें कि नए कृषि कानून के खिलाफ किसान संगठन गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं। गाजीपुर बॉर्डर पर हुंची भट्टाचार्य ने याद दिलाया कि 1857 में ब्रिटिश शासन से आजादी की पहली लड़ाई पश्चिम उत्तर प्रदेश के मेरठ से भी शुरू हुई थी। उन्होंने कहा कि मैं चाहती हूं कि कुछ भी हो किसानों का फायदा होना चाहिए। किसान जितनी मेहनत करते हैं उससे कोई भी अनजान नहीं है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा