विधान सभा में किसानों के मुद्दे पर हंगामा


लखनऊ । शुक्रवार को बजट सत्र को लेकर बैठक शुरू होते ही 30 मिनट के लिए स्थगित हो गई। किसानों के मुद्दे पर विधानसभा में विपक्ष ने जबरदस्त हंगामा किया। इसके बाद कार्यवाही 30 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमण के कारण जिन कोरोना योद्धाओं, पुलिस कर्मियों असमय मृत्यु  हुई है उनके प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड जल प्रलय में मारे गए लोगों के प्रति भी शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि जल प्रलय में यूपी के भी कई लोगों की मृत्यु हुई है। यूपी सरकार पीड़ित परिवार की हर संभव मदद करेगी। नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चैधरी, बसपा दल के नेता लालजी वर्मा सहित कांग्रेस व अपना दल ने भी शोक संवेदना व्यक्त की। गौरतलब है कि विधानमंडल के बजट सत्र के पहले दिन बृहस्पतिवार को दोनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन में विपक्षी दलों सपा, बसपा व कांग्रेस ने जमकर हंगामा व नारेबाजी की और राज्यपाल के अभिभाषण के बहिष्कार किया। करीब 5 मिनट के विलंब से विधानसभा मंडप में पहुंची राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हंगामे के बीच अभिभाषण पढ़ा।

राष्ट्रगान के बाद राज्यपाल जैसे ही अभिभाषण पढ़ने के लिए खड़ी हुईं, सपा सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। वे मंहगाई, कानून व्यवस्था और किसान आंदोलन को लेकर सरकार विरोधी नारे लिखी तख्तियां लेकर आए थे। पगड़ी लगाकर आए संजय लाठर ‘हां, मैं आंदोलनजीवी हूं’ और संतोष यादव सनी ‘मैं चंदाजीवी नहीं हूं’ लिखा प्लेकार्ड लिए हुए थे। प्ले कार्ड्स पर भाजपा खा गई रोजगार, युवा हो गए बेरोजगार, जब से भाजपा आई है, कमरतोड़ महंगाई है, किसानों की फसलों पर नहीं पड़ रहा रेट, खेती में भी आ गया पूंजीवादी कॉरपोरेट, बेटियों पर उत्पीड़न में यूपी नंबर वन जैसे नारे लिखे हुए थे। वेल में कुछ देर नारेबाजी के बाद सपा सदस्य सदन से बहिर्गमन कर गए। इसके बाद बसपा व कांग्रेस सदस्यों ने भी राज्यपाल के भाषण का बहिष्कार किया। 

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा