बिजनौर के मध्य गंगा बैराज से आज गुजरेगा 1.5 लाख क्यूसेक पानी


 लखनऊ l


उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने से आई जल आपदा को लेकर उत्तर प्रदेश का सिंचाई महकमा भी सतर्क हो गया है। विभाग के नियंत्रण कक्ष में अभियंता 24 घंटों के लिए तैनात किए गए हैं। विभाग के अभियंता और यूपी इंजीनियर्स एसोसिएशन के महासचिव आशीष यादव ने बताया कि रविवार की रात हरिद्वार से करीब डेढ़ लाख क्यूसेक पानी यूपी में गंगा नदी में अतिरिक्त आने के आसार हैं। 

उन्होंने बताया कि केदारनाथ त्रासदी के समय हरिद्वारा से यूपी में करीब साढ़े छह लाख क्यूसेक पानी पास हुआ था। आशीष यादव ने कहा कि चूंकि सिंचाई विभाग ने गंगा नदी से निकलने वाली सभी नहरों की सिल्ट सफाई पहले ही समुचित तौर पर करवा रखी है। इसलिए यूपी में गंगा नदी में जल स्तर बहुत ज्यादा बढ़ने की उम्मीद नहीं हैं, हां यह जरूर है कि गंगा के जल प्रवाह में कुछ तेजी आ सकती है।

प्रवक्ता ने बताया कि अगर और ज्यादा पानी गंगा के डाउन स्ट्रीम में नहीं आया तो  प्रदेश में कोई अनहोनी होने के आसार बहुत ही कम हैं। शासन के निर्देश पर अलीगढ़ के नरोरा और बिजनौर बैराजों के गेट खोल दिए गए हैं और इन दोनों बैराजों पर विभाग के अभियंता लगातार निगरानी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इन दोनों बैराजों के आसपास की आबादी को भी सतर्क कर दिया गया है और गंगा के बहाव में जहां कहीं भी कोई अवरोध है उसे हटाया जा रहा है। 

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा