पूरी तरह कंप्यूटरीकृत हो जाएगी नये साल में अदालतों की व्यवस्था


मुज़फ्फरनगर। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आदेश जारी कर प्रदेश के अधीनस्त ज़िला जज़ी अदालतों में मैनुअल कोर्ट डायरी की सुविधा समाप्त कर e डायरी मेन्टेन करने के आदेश दिए है। जिसके अनुसार अब कोर्ट में वकील, मुंशी अपनी तारीख देखने के लिए कोर्ट डायरी की सुविधा से वंचित रहेगें वह e डायरी से ही अपने मुकदमे की तारीख देख सकेंगे। हाइकोर्ट ने प्रदेश के समस्त ज़िलाज़ज़ों ओ निर्देश जारी कर पहली जनवरी 2021 से मैन्युअल डायरी मेन्टेन करने की व्यवस्था समाप्त कर दी है। इसके अलावा अब कोर्ट से जारी होने वाले गिरफ्तारी वारन्ट, समन व नोटिस आदि की फीडिंग कंप्यूटर में होंगी और संबंधित विभाग उसे अपने स्तर से निकाल कर कोर्ट के आदेशों का पालन करेंगे। उदाहरण के लिए किसी कोर्ट से जारी होने वाले गिरफ्तारी वारन्ट कंप्यूटर में फीड होंगे और संबंधित थाना उसे अपने कंप्यूटर से निकाल कर एक्सीक्यूट करेंगे और रिपोर्ट कंप्यूटर से तामीली रिपॉर्ट कंप्यूटर से प्रेषित करेंगे। इस नई  व्यवस्था से जहां कोर्ट के आदेश जल्द तामिल होसकेगे वही भ्रष्टाचार में रोक लगने में सहायक होगी

इस बीच ज़िला जजी के अधिनस्त सभी अदालतों ने हेर मुकदमे की फाइल की फीडिंग आरम्भ हो गई है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मामलों से सम्बकन्धित कोर्ट फ़ाइल के अलावा e फ़ाइल भी मेन्टेन करने का निर्णय किया है। उसी के तहत हर कोर्ट फ़ाइल की हरदिन सुनवाई के बाद दिन फीडिंग होगी e फ़ाइल में भी फाइलों में सभी डाक्यूमेंट्स, वकील पक्ष कर के नाम फीड किए  जा रहे  हैं  यह कार्य भी जल्द अपडेट हो जाएगा। इससे वकील और वादकारी घर बैठे अपनी फ़ाइल में  डेट ओर आदेश का ब्यौरा मालूम कर सकेंगे। इससे फ़ाइल गुम होने कोई भी महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट गुम होने पर e फ़ाइल से दुबारा शामिल किया जा सकेगा वही अपील में e फ़ाइल महत्वपूर्ण कार्य करेगी।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा