मोरारी बापू की कथा में उपस्थित हुए स्वामी रामदेव



शुकतीर्थ। पावन नगरी शुकतीर्थ पर आज राम कथा मर्मज्ञ मोरारी बापू की राम कथा प्रारंभ हुई। इस मौके पर पतंजलि योग पीठ से स्वामी रामदेव समेत बडी संख्या में संत महात्माओं की मौजूदगी मेें कथा की अमृत वर्षा की गईमोरारी बापू की कथा प्रारंभ, स्वामी रामदेव ने बताया राष्ट्र संत

मुजफ्फरनगर। पावन नगरी शुकतीर्थ पर आज राम कथा मर्मज्ञ मोरारी बापू की राम कथा पूजा अर्चना और हनुमान चालीसा केे गायन के साथ प्रारंभ हुई। इस मौके पर पतंजलि योग पीठ से स्वामी रामदेव और श्री हनुमद्धाम के स्वामी केशवानंद समेत बडी संख्या में संत  महात्मा उपस्थित रहे। स्वामी रामदेव ने मोरारी बापू को राष्ट्रसंत बताते हुए कहा कि उन्होंने मानस कथा के जरिए देश और दुनिया भर में भारतीयता और इसके साथ ही धर्म के प्रचार प्रसार का कार्य किया है।




मोरारीबापू की कथा शुकर्तीर्थ में आज सुबह आरम्भ हुई। शुक्रतीर्थ में मोरारी बापू  की यह 852 वीं कथा है। आज इस आयोजन में पंतजली योेग पीठ के स्वामी रामदेव भी उपस्थित रहे। उन्होंने मोरारी बापू को राष्ट्रसंत बताते हुए कहा कि उनका शुकर्तीथ में आना एक बडी बात है। उन्होंने मानस कथा के जरिए अपनी वाणी से पूरी दुनिया को भारतीय चेतना का प्रसाद दिया है। यह तीर्थ शुकदेव मुनि की तपस्थली है। मोरारी बापू ने आज अपनी कथा का शुभारंभ करते हुए कहा कि उन्हें यहां आकर बहुत अच्छा लग रहा है। यह तपोभूमि है और इसका अलग महत्व है। उन्होंने भगवान राम के चरित्र का गुणगान किया। इस मौके पर हनुमान धाम के केशवानंद जी, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला, भाजपा मीडिया प्रभारी अचिंत मित्तल समेत तमाम लोग उपस्थित रहे। यह कथा 26 दिसंबर तक सुबह 9.30 से 1.30 बजे तक प्रत्येक दिन चलेगी।  कोरोना संक्रमण के कारण  प्रशासन द्वारा प्रदत्त दिशा-निर्देश के अनुसार, सीमित संख्या में श्र(ालुओं के समक्ष नौ दिवसीय रामकथा सुनाई जायेगी। आस्था टीवी और यूट्यूब के माध्यम से हर सुबह 9.30 बजे से रामकथा का प्रसारण किया गया। ।

शुकर्तीर्थ में आज सुबह मोरारीबापू की कथा आरम्भ हुई।  कथामंच के पीछे जो हनुमानजी का चित्र लगाया गया है। पवित्र शुक्रतीर्थ में मोरारी बापू  की यह 852 वीं कथा है। आज इस आयोजन में पंतजली योेग पीठ के स्वामी रामदेव भी उपस्थित रहे। उन्होंने मोरारीर बापू को राष्ट्रसंत बताते हुए कहा कि उनका शुकर्तीथ में आना एक बडी बात है। यह तीर्थ शुकदेव मुनि की तपस्थली है। मोरानी बापू ने आज अपनी कथा का शुभारंभ करते हुए कहा कि उन्हें यहां आकर बहुत अच्छा लग रहा है। यह तपोभूमि है और इसका अलग महत्व है। उन्होंने भगवान राम के चरित्र का गुणगान किया। इस मौके पर हनुमान धाम के केशवानंद जी, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला, भाजपा मीडिया प्रभारी अचिंत मित्तल समेत तमाम लोग उपस्थित रहे। यह कथा 26 दिसंबर तक सुबह 9.30 से 1.30 बजे तक प्रत्येक दिन चलेगी।  कोरोना संक्रमण के कारण  प्रशासन द्वारा प्रदत्त दिशा-निर्देश के अनुसार, सीमित संख्या में श्र(ालुओं के समक्ष नौ दिवसीय रामकथा सुनाई जायेगी। आस्था टीवी और यूट्यूब के माध्यम से हर सुबह 9.30 बजे से रामकथा का प्रसारण किया गया। 

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा