मेरठ में भी मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए किया हंगामा


मेरठ। मेरठ खंड स्नातक एवं शिक्षक विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) चुनाव की मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए प्रत्याशियों के एजेंटों ने जमकर हंगामा किया। इस सूचना के बाद मंडलायुक्त और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए। मंडलायुक्त ने एजेंटों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया।एमएलसी शिक्षक चुनाव में भाजपा प्रत्याशी  श्री चंद शर्मा अपने निकटतम प्रतिद्वंदी ओम प्रकाश शर्मा से दूसरे राउंड की गिनती के बाद 4276 वोटों से आगे चल रहे हैं.. तीसरे और अंतिम राउंड की गिनती जारी है। 

 विधान परिषद के चुनाव के मतदान के बाद मेरठ में आज सुबह परतापुर स्थित कताई मिल पर मतगणना की प्रक्रिया काफी देर से शुरू हुई।  मतगणना में देरी और  मतगणना केंद्रों में अव्यवस्थाओं के चलते प्रत्याशियों के एजेंट ने हंगामा शुरू कर दिया। एजेंटों ने मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए इसका विरोध शुरू कर दिया। एजेंटों का कहना था कि मतगणना स्थल पर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगाए गए हैं। जिससे मतगणना पारदर्शिता होने में संदेह है। एजेंटों ने यह भी कहा कि मतपेटियां गणना टेबल के ऊपर रखनी चाहिए थी। लेकिन उसे नीचे रख दिया गया है। एजेंटों ने बैलट पेपर गलत ढंग से रखने का आरोप लगाते हुए इस पर भी ऐतराज जताया। हंगामे की सूचना पर मतगणना स्थल पर जिला निर्वाचन अधिकारी और एसएसपी समेत तमाम वरिष्ठ अधिकारी पहुंच गए और स्थिति को संभाला।

प्रतिनिधियों के हंगामे की सूचना पर मंडलायुक्त अनीता मेश्राम ने भी स्थल का निरीक्षण किया। दोपहर सुबह 12 बजे तक भी मतगणना शुरू नहीं हो सकी है। उधर, एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि मतगणना की प्रक्रिया सुबह आठ बजे से शुरू कर दी गई है। सब कुछ सुचारू ढंग से चल रहा है जिसको भी किसी बात को लेकर आपत्ति होगी तो उसका निस्तारण मंडलायुक्त की तरफ से किया जाएगा। गौरतलब है कि स्नातक एवं शिक्षक पद के लिए नौ जिले के मतदाताओं ने मतदान किया है।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा