SIKSHA JAGAT लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
SIKSHA JAGAT लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

शुक्रवार, 23 अक्तूबर 2020

एसडी कामर्स नारी सशक्तिकरण पर वेबिनार सम्पन्न


मुजफ्फरनगर । आन्तरिक गुणवत्ता सुनश्च्यन प्रकोष्ठ (IQAC) द्वारा एस0डी0 कॉलेज ऑफ कॉमर्स, मुजफ्फरनगर में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे मिशन शक्ति अभियान की विभिन्न कार्ययोजनाओं की जागरूकता हेतु "मिशन शक्ति' से जुड़े एक वेबीनार का आयोजन किया गया जिसका विषय "नारी सशक्तिकरण के अन्तर्गत महिलाओं के लिए बनाए गये कानूनी अधिकार' रहा। इस वेबीनार की अध्यक्षता डा0 सचिन गोयल प्राचार्य एस0डी0 कॉलेज ऑफ कामर्स, मुजफ्फरनगर तथा वक्ता सोनम चौहान, प्रवक्ता (कला विभाग) रहे। कार्यक्रम का संचालन श्रीमति एकता मित्तल विभागध्यक्ष मानवीकी एवं सामाजिक विज्ञान विभाग, संकेत जैन ने किया। वेबीनार में महाविद्यालय के एम०कॉम, बी0ए0, बी0कॉम, बी0एस0सी0 (गृहविज्ञान), बी0एस0सी0 (PCMBZ) विभाग के छात्राओं ने भाग लिया।


वेबीनार के मुख्य वक्ता सोनम चौहान ने भारत में महिलाओं के सशक्तिकरण के बारे में बताया और उन्हें जागरूक करने के लिए 1090 महिला हेल्प लाईन नम्बर के बारे में बताया तथा विभिन्न क्षेत्रों में उनके लिए सरकार द्वारा निर्देशित किये गये कानूनी अधिकारों के बारे में जानकारी दी। इसके साथ-साथ समाज में महिलाओ के प्रति अनेक कुरूतियां जैसे दहेज प्रथा, घेरलू हिंसा से सम्बन्धित धारा 498ए के बारे में जानकारी दी व महिलाओं के अधिकार जैसे पिता की सम्पत्ति में अधिकार, पति की सम्पत्ति अधिकार समबन्धी कानूनों के बारे में दिशा निर्देश दिये। उन्होनें महिलाओं के उन अधिकारों के बारे में भी अवगत कराया जो उन्हें विभिन्न कार्य क्षेत्रों में प्राप्त होते है।


वेबीनार अध्यक्ष डा0 सचिन गोयल ने महिलाओं के सशक्तिकरण के बारे कहा कि हमारे समाज में महिलाओं को अधिक जागरूक होने की आवश्यकता है वे अपने अधिकारों से अवगत नही है इसलिए हर क्षेत्र में उनके अधिकारों का हनन होता रहता है। अतः आवश्यक है कि वे जागरूक हो और अपने अधिकारों की रक्षा करें।


वेबीनार को सफल बनाने में ड0 दीपक मलिक, डा0 रवि अग्रवाल, डा0 अमित कुमार, सपना, गरिमा, नीतु गुप्ता, नुपुर, आकांक्षा, स्वाति, पिंकी, विंशु मित्तल, विपाशा, गुंजन, प्रियंका, ज्योति, संकेत जैन, कमर रजा, कृष्ण कुमार, कुशलवीर, आशीष पाल, दीपक गुप्ता आदि का सहयोग योगदान रहा।


गुरुवार, 22 अक्तूबर 2020

मिशन शक्ति पर वेबिनार में दी सरकारी योजनाओं की जानकारी

मुजफ्फरनगर । आज श्री राम काॅलेज आॅफ लाॅ, मुजफ्फरनगर में उत्तर प्रदेश सरकार की योजना मिशन शक्ति के अन्तर्गत एक आॅन-लाइन वेबिनार का आयोजन किया गया। जिसका विषय 'भोजन का अधिकार: एक विधिक अपेक्षा' रखा गया।


कार्यक्रम में मुख्य वक्ताओं के रूप में मोना शर्मा, मनौवैज्ञानिक व फैकल्टी इण्डियन रेडक्रास सोसायटी, नई दिल्ली तथा सुरभि भल्ला, न्यूट्रिशनिस्ट व पूर्व कन्सलटेन्ट, नोलिज मैंनेजमैंट यूनिसेफ नई दिल्ली रहीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता डाॅ0 रविन्द्र प्रताप सिंह, प्राचार्य सी.एच.एस. काॅलेज आॅफ लाॅ, खुर्जा द्वारा की गई। सर्वप्रथम काॅलेज प्रवक्ता प्रवक्ता सबिया खान ने आज के मुख्य वक्ताओं का परिचय दिया व अतिथियों का स्वागत किया किया। प्रवक्ता आंचल अग्रवाल ने कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार की योजना मिशन शक्ति, नारी सुरक्षा, नारी सम्मान एवं नारी स्वावलम्बन के बारे मे विस्तार से जानकारी दी। 


प्रवक्ता सोनिया गौर ने आज के वेबिनार के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए बताया कि पोषण आज के समय में महिलाओं के एक समस्या बन गया है, जबकि भोजन का अधिकार भारत के संविधान में एक मौलिक अधिकार के रूप मेे समाहित है।


वक्ता मोना शर्मा ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि आज मानसिक स्वास्थ्य से सम्बन्धित समस्याएं बढ गयी है, और यह हमारे शारीरिक स्वास्थ्य पर भी प्रभाव डाल रहीं है। हमें इन समस्याओं का अनदेखा नहीं करना चाहिए और इनसे बचने के लिए आवश्यक कदम उठाने चाहिए। आज के समय कोरोना महामारी के कारण भी मानसिक स्वास्थय पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। इनको दूर करने के लिए सभी को अपनी दिनचर्या को सही रखना चाहिए व अपने मन मे और विचारों में सकारात्मकता लानी चाहिए।


विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए वक्ता सुरभि भल्ला ने कहा कि जीवन में संतुलित आहार बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है और हमें स्वयं भी संतुलित आहार करना चाहिए एवं समाज को भी इसके लिए प्रेरित करना चाहिए। उन्होने सभी को विटमिन के स्रोत के बारे में विस्तार से जानकारी दी। और कहा कि सभी को योग, सूर्यनमस्कार करना चाहिए। विशेष रूप से उन्होने कहा कि सभी को ईश्वर में आस्था रखनी चाहिए, रात को सोने के समय ईश्वर का धन्यवाद करना चाहिए कि उन्होने हमें आज के दिन एक अच्छा जीवन प्रदान किया।


कार्यक्रम अध्यक्ष डाॅ0 रविन्द्र प्रताप सिंह ने सभी विद्यार्थियों को सकारात्मक विचार व स्वास्थयप्रद भोजन के बारे में जानकारी दी, और कहा कि आने वाली पीढी तभी स्वस्थ होगी जब आज संतुलित आहार करेगे और अनुशासित जीवन निर्वाह करेंगे। 


इसके उपरान्त अनेक विद्यार्थियों ने कोरोना महामारी से सम्बन्धित आज की समस्याओं के बारे में जानाकारी प्राप्त की जिनका वक्ताओं ने एक आसान भाषा में समाधान प्रस्तुत किया।


श्रीराम काॅलेज आॅफ लाॅ की विभागाध्यक्षा पूनम शर्मा ने सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम के सफल आयोजन मंे प्रवक्ता श्री संजीव कुमार के अतिरिक्त, प्रवक्तागण, श्रीमति सोनिया गौड, कु0 आंचल अग्रवाल, कु0 सबिया खान, कु0 कोमल, मौहम्मद आमिर व श्री त्रिलोक चन्द का योगदान रहा। कार्यक्रम संयोजन प्रवक्ता आंचल अग्रवाल रहीं।


उत्तर प्रदेश के डिग्री कालेजों में भी जल्द शिक्षण कार्य शुरू होगा

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में जल्द ही डिग्री कालेजों में भी रौनक लौटेगी। 



 


इस संबंध में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि विश्ववद्यालयों और महाविद्यालयों को खोलने का फैसला नवंबर में लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्कूलों में ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी। कोरोना मरीजों से ज्यादा फीस लेने वाले निजी अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।


टूंडला विधानसभा के उपचुनाव में प्रचार के लिए आए डॉक्टर शर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विश्वविद्यालय और महाविद्यालय खोले जाने हैं। इसको लेकर संबंधित विभाग कितने तैयार हैं। उन्हें क्या सावधानियां बरतनी हैं, उस बारे में उन्हें बता दिया गया है। कॉलेज खोलने पर फैसला नवंबर में ले लेंगे। उन्होंने कहा कि कक्षा नौ से 12वीं तक के स्कूल खोल दिए गए हैं। हालांकि अभी 15 फीसदी बच्चों की ही उपस्थिति हो रही है, लेकिन अच्छी बात ये है कि लोग स्वत: ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और सेनेटाइजिंग भी करा रहे हैं। 


उपमुख्यमंत्री ने बताया कहा कि निजी अस्पतालों द्वारा निर्धारित से ज्यादा पैसे लेने पर उसके किलाफ प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए जिलाधिकारी अस्पताल संचालकों के साथ बैठक करेंगे, उन्हें समझाएंगे, न मानने पर कार्रवाई भी होगी। उन्होंने कहा कि समितियों के पदाधिकारियों के साथ लगातार बैठकें हो रहीं हैं। सभी लोग कोरोना काल को समझ भी रहे हैं। 


बुधवार, 21 अक्तूबर 2020

बीएड की काउंसलिंग 19 नवंबर से होगी


लखनऊ. लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020 की काउंसलिंग अब 19 नवंबर से शुरू होगी. काउंसलिंग की ऑनलाइन प्रक्रिया तीन चरणों में होगी. जबकि नए शैक्षिक सत्र 2020-21 की शुरुआत 10 दिसंबर से होगी. विश्वविद्यालय के प्रस्ताव पर शासन ने अपनी मुहर लगा दी है. आपको बता दें कि इससे पहले प्रदेश भर के बीएड कालेजों में दाखिले के लिए आयोजित होने वाली काउंसलिंग 19 अक्तूबर से शुरू होनी थी. इसके अलावा सभी विश्वविद्यालयों को जल्द स्नातक/स्नातकोत्तर के अंतिम वर्ष के परीक्षा परिणाम जल्द घोषित करने का आदेश दिया गया है.


मंगलवार, 20 अक्तूबर 2020

सीसीएसयू की अंतिम कट आफ सूची जारी, इसके बाद सिर्फ ओपन एडमिशन


मेरठ । चौ.चरण सिंह विश्वविद्यालय (सीसीएसयू ) ने मेरठ-सहारनपुर मंडल के कॉलेजों में स्नातक प्रथम वर्ष के ट्रेडिशनल-प्रोफेशनल कोर्स में प्रवेश के लिए दूसरी कटऑफ सोमवार रात जारी कर दी। इस कटऑफ से 26 अक्तूबर तक कॉलेजों में प्रवेश लिए जा सकेंगे। जो छात्र इस कटऑफ में दूसरी वरीयता का कॉलेज मिलने पर भी प्रवेश नहीं लेते तो उन्हें केवल ओपन मेरिट में ही मौका मिलेगा।


विवि के अनुसार बीएससी नर्सिंग, बीपीईएस और बीएससी फिजिकल एजुकेशन, हेल्थ एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स को छोड़कर समस्त स्नातक प्रथम वर्ष की दूसरी कटऑफ जारी कर दी गई। विवि के अनुसार छात्रों को उनकी लॉगइन में कटऑफ आज सुबह से मिलेगी। सोमवार रात तक छात्रों के लॉगइन में कटऑफ जारी नहीं की गई। सीसीएसयू के अनुसार मेरिट में शमिल छात्रों के मोबाइल पर मैसेज भेजे जाएंगे।


विवि के अनुसार दूसरी कटऑफ के बाद रिक्त सीटों पर ओपन मेरिट जारी होगी। इसमें समान कॉलेज एवं समान कोर्स में ही प्रवेश का मौका मिलेगा। विवि कॉलेजों को रिक्त सीटों के सापेक्ष पंजीकृत छात्रों की सूची भेजेगा। इसके बाद कॉलेज कटऑफ तैयार करते हुए प्रवेश करेंगे।


यूपी बोर्ड इंटर व हाईस्कूल कंपार्टमेंट परीक्षा के नतीजे घोषित

प्रयागराज । यूपी बोर्ड ने हाईस्कूल एवं इंटर इम्प्रूवमेंट और कम्पार्टमेंट परीक्षा का परिणाम मंगलवार को घोषित कर दिया। कोरोना काल में तीन अक्तूबर को कराई गई परीक्षा का परिणाम रिकॉर्ड 17 दिन में जारी किया गया है।


सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि हाईस्कूल इम्प्रूवमेंट के लिए पंजीकृत 15639 में से 14241 (11295 बालक व 2946 बालिका) पास हैं। बालक व बालिका का पास प्रतिशत क्रमश: 99.96 एवं 99.89 रहा।


हाईस्कूल कम्पार्टमेंट में पंजीकृत 155 में से 113 (81 बालक व 32 बालिका) पास हैं। लड़के व लड़कियों का पास प्रतिशत क्रमश: 95.29 व 88.89 रहा। पहली बार कराई गई इंटर कम्पार्टमेंट परीक्षा के लिए पंजीकृत 17504 में से 16051 (7145 बालक व 8906 बालिका) पास हैं। इंटर में लड़के व लड़कियों का पास प्रतिशत क्रमश: 95.53 व 94.69 रहा।


सचिव ने बताया कि परीक्षाफल बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किया जा रहा है। प्रमाणपत्र-सह-अंकपत्र क्षेत्रीय कार्यालयों के माध्यम से जिला विद्यालय निरीक्षकों को प्रधानाचार्यों को उपलब्ध कराने के लिए भेजे जा रहे हैं।


रविवार, 18 अक्तूबर 2020

यूपी के मेडिकल कॉलेजों में बढेंगी एमबीबीएस की 800 सीटें


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में इस साल एमबीबीएस की 800 सीटें बढ़ने जा रही है। जिसके बाद एमबीबीएस करने का मौका अधिक छात्रों को मिलेगा। शुक्रवार को प्रयागराज के एक निजी मेडिकल काॅलेज को एमबीबीएस की 150 सीटों पर दाखिना लेने की मंजूरी मिल गई है। 


उम्मीद की जा रही है कि उत्तर प्रदेश के निजी और सरकारी मेडिकल काॅलेजों के लिए 800 सीटें बढ़ाई जाएंगी। जिसके बाद उत्तर प्रदेश हर साल सबसे ज्यादा डाॅक्टर देश को देगा। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में अभी एमबीबीएस की 2690 सीटें हैं। 


उत्तर प्रदेश में केजीएमयू और लोहिया संस्थान समेत 22 सरकारी और 24 प्राइवेट मेडिकल कॉलेज हैं। 2019 में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने सरकारी मेडिकल काॅलेज के लिए 2628 सीटों पर एडमिशन की मंजूरी दी थी। यूपी में प्राइवेट मेडिकल काॅलेज में 3300 एमबीबीएस की सीटें हैं। प्रदेश के इकलौते सरकारी संस्थान केजीएमयू में बीडीएस की 70 सीटें हैं और 22 प्राइवेट कॉलेजों मे बीडीएस की 2200 सीटें हैं।


सोमवार से फिर बजेगी स्कूलों की घंटी


मुजफ्फरनगर । लम्बे समय बाद सोमवार से कक्षा 9 से 12 तक के लिए स्कूल खोले जाएंगे। सुबह 8.50 से दोपहर 3.20 तक ही स्कूल खोले जा सकते हैं। स्कूल दो पालियों में चलाए जाएंगे। अब देखना होगा कि कितने बच्चे स्कूल जाते हैं। 


कोविड-19 संक्रमण के कारण स्कूल 13 मार्च से बंद चल रहे हैं। इस संबंध में माध्यमिक शिक्षा विभाग के निदेशक विनय कुमार पाण्डेय ने सभी डीआईओएस को निर्देश जारी कर दिए हैं। 


यह आदेश सभी बोर्ड के स्कूलों पर लागू होगा। सुबह 8.50 से दोपहर 11.50 तक कक्षा 9 व 10 और 12.20 से 3.20 तक कक्षा 11 व 12 की कक्षाएं चलाई जाएंगी। वहीं स्कूल खोलते समय कोविड 19 के प्रोटोकॉल का ध्यान रखा जाएगा। 


प्रदेश सरकार ने एहतियात बरतते हुए स्कूल खोलने की न सिर्फ एसओपी जारी की है बल्कि तीन दर्जन से ज्यादा अधिकारियों को निरीक्षण के लिए भेजा है। ये सभी अधिकारी रविवार रात को ही आवंटित जिलों में पहुंच गए हैं और सोमवार को स्कूल खुलने के बाद निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट शासन को भेजेंगे।


बच्चे अभिभावकों की सहमति से ही स्कूल आ सकेंगे। स्कूल आने के लिए बच्चों को बाध्य नहीं किया जाएगा और ऑनलाइन कक्षाएं पहले की तरह ही चलती रहेंगी। स्कूलों में हाजिरी को लेकर चलने वाले प्रोत्साहन को स्थगित करने के निर्देश दिए गए हैं। स्कूलों में स्टेशनरी या सामान के आदान-प्रदान पर रोक रहेगी। स्कूलों के सभी गेट खोले जाएंगे। एक दिन में एक कक्षा के केवल 50 फीसदी विद्यार्थी ही बुलाए जाएंगे।


शनिवार, 17 अक्तूबर 2020

बीएड कालेजों में प्रवेश के लिए काउंसलिंग टली


 


लखनऊ । उत्तर प्रदेश के बीएड कॉलेजों में प्रवेश के लिए 19 अक्तूबर से प्रस्तावित काउंसलिंग टल गई है। 


लखनऊ विश्वविद्यालय ने शनिवार को यह आदेश जारी करते हुए काउंसलिंग को टालने का कारण स्पष्ट नहीं किया है। लेकिन सूत्रों की मानें तो बीएड की काउंसलिंग में शामिल होने के लिए अन्तिम वर्ष की मार्कशीट की अनिवार्यता निर्धारित की गई है। कई ऐसे राज्य विश्वविद्यालय हैं जिन्होंने अभी तक परीक्षा के नतीजे जारी ही नहीं किए हैं। 


इसके चलते अभ्यर्थी काफी परेशान हैं। उनकी ओर से भी लगातार इस काउंसलिंग को टालने की मांग उठाई जा रही है। इससे पहले यह काउंसलिंग सितम्बर के तीसरे सप्ताह में प्रस्तावित थी। उस दौरान भी कई विश्वविद्यालयों में अन्तिम वर्ष की परीक्षाएं न कराए जाने के कारण इसे टाल दिया गया था। इस काउंसलिंग के माध्यम से बीएड की दो लाख से ज्यादा सीटों पर प्रवेश होने हैं।


श्रीराम काॅलेज बीएससी कृषि विज्ञान का रिजल्ट रहा उत्कृष्ट

मुजफ्फरनगर । श्रीराम कॉलेज मुजफ्फरनगर के बीएससी कृषि विज्ञान के प्रथम व तृतीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम रहा उत्तम, महाविद्यालय में हर्ष का माहौल रहा। 


चौधरी चरण सिहं विश्वविद्यालय मेरठ द्वारा बी0एस0सी0 कृषि विज्ञान के प्रथम व तृत्तीय सेमेस्टर परीक्षा दिसम्बर 2019 का परिणाम घोषित किया गया जिसमें श्रीराम काॅलेज के छात्रो का परीक्षाफल उत्तम रहा।  बी0एस0सी0 कृषि विज्ञान प्रथम सेमेस्टर में यश मलिक ने प्रथम स्थान (73.71 प्रतिशत), वंश धामा ने द्वितीय स्थान (64.85 प्रतिशत) एवं विवेक धामा व अरूण कुमार ने संयुक्त रूप से तृतीय स्थान (60.85 प्रतिशत) प्राप्त किया। वंही तृतीय सेमेस्टर में प्रथम स्थान अनुप सिंह, द्वितीय स्थान शुभम शर्मा व तृतीय स्थान शिवम कुमार ने प्राप्त किया।


     श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज के चेयरमैन डॉ0 एस0सी0 कुलश्रेष्ठ ने छात्रों के उज्जवल भविषय की कामना करते हुए उन्हे शुभाशीष प्रदान किया।  श्री राम कॉलेज के निदेशक डॉ0 आदित्य गौतम ने परीक्षा परिणाम पर हर्ष वयक्त करते हुए कहा है कि यह सभी के सयुक्त प्रयासों से सम्भव हो पाया है। शिक्षकों ने जहाँ छात्र को अपनी ओर से सर्वोत्तम शिक्षा दी, वही छात्रों के कठिन परिश्रम ने उसे एक अच्छे परिणाम में परिवर्तित किया, जिस पर आज श्रीराम कॉलेज गौरवान्तित महसूस कर रहा है।


श्री राम ग्रुप ऑफ कॉलेजेज के चेरयमैन डॉ0 एस0सी0 कुलश्रेष्ठ, निदेशक डॉ0 आदित्य गौतम, डीन श्री निशान्त राठी एवं डॉ0 विनित शर्मा ने सभी मेघावी छात्रों को मोमेन्टों देकर सम्मानित किया । इस अवसर पर श्रीराम कॉलेज के कम्प्यूटर संकाय के डीन निशान्त राठी, डीन एकेडमिक्स डॉ0 विनित शर्मा तथा कृषि विभाग के शिक्षकगण डॉ0 के0एस0 बर्मन, राहुल नैन, आबिद अहमद आदि उपस्थित रहे। सभी ने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए अपना आशीर्वाद प्रदान किया।


अभिभावकों की सहमति से ही छात्रों को बुलाया जाए: संयुक्त शिक्षा निदेशक


मुजफ्फरनगर । मिशन शक्ति , नई शिक्षा नीति व पठन पाठन पुनः आरम्भ होने आदि विषयों पर माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्यों की बैठक का आयोजन किया गया।


लाला जगदीश प्रसाद सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कॉलेज मुज़फ्फरनगर में आयोजित बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव ने कहा कि सभी प्रधानाचार्य विद्यालय परिसर में और उसके आसपास के क्षेत्र में साफ सफाई व स्वच्छता का विशेष ध्यान रखते हुए पठन पाठन सुवव्यस्थित रूप में कराए, विद्यालय में एक स्वस्थ व भयमुक्त वातावरण बच्चों को दे। अभिभावकों से मिलकर ऐसे कार्य करे जिससे बच्चों की भावनात्मक सुरक्षा सुनिश्चित हो । सयुंक्त शिक्षा निदेशक सहारनपुर आर पी शर्मा ने कहा कि प्रधानाचार्य अपने विद्यालय में अभिभावक की अनुमति प्राप्त करने के बाद ही छात्र छात्राओं को प्रवेश दे , प्रत्येक बालक , अध्यापक व कर्मचारी की थर्मल स्केनिंग कराए, किसी भी परिस्थिति में गेट पर टॉयलेट आदि स्थानों पर बच्चे एकत्र ना हो । जिला विद्यालय निरीक्षक महोदय गजेन्द्र कुमार द्वारा उपस्थित सभी प्रधानाचार्यो को बालिका सुरक्षा शपथ दिलाई गई,उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति कार्यक्रम का उद्देश्य बालिकाओं को सिर्फ शिक्षित बनाना ही नही बल्कि उनको आत्मनिर्भर बनाना व रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना भी है । उन्होंने पठन पाठन पुनः आरम्भ करने को ले कर शासन के निर्देशों से सभी को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि सभी माध्यमिक विद्यलयों का निरीक्षण कर लिया गया है ।प्रधानाचार्य डॉ विकास कुमार ने नई शिक्षा नीति चर्चा करते हुए कहा कि शासन द्वारा डिजिटल अन्तर को कम करने के लिए विद्यालयों में डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जाएगा।प्रबंधक देवेंद्र कुमार गर्ग ने सभी अथितियों का आभार व्यक्त किया । कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव व संचालन डॉ विकास कुमार ने किया ।प्रधानाचार्य सतीश उपाध्याय, शिव कुमार यादव , विजय शर्मा,जितेंद्र वर्मा, राकेश कुमार, विनीत चौहान आदि उपस्थित रहे।


एस.डी. मैनेजमेन्ट  में बी.बी.ए. प्रथम सेमेस्टर की छात्राओं को अच्छी सफलता


मुजफ्फरनगर। एस.डी. काॅलेज आॅफ मैनेजमेंट स्टडीज में बी.बी.ए. प्रथम सेमेस्टर का परीक्षाफल घोषित हुआ। जिसमें प्रथम स्थान पर आने वाली आशी सिंघल ने 73.7 प्रतिशत अंक प्राप्त किये, द्वितीय स्थान इशिका जिसने 70.5 प्रतिशत व तृतीय स्थान पर आने वाली सिमरन रावत ने 70 प्रतिशत अंक प्राप्त किये। छात्राओं ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता व बी.बी.ए. विभाग के सभी शिक्षकगणों को दिया।
  काॅलेज प्राचार्य डा. संदीप मित्तल एवं विभागाध्यक्ष मि. राजीव पाल सिंह ने तीनों छात्राओं को भविष्य में निरन्तर आगे बढ़ने का आर्शीवाद दिया। प्राचार्य डा. संदीप मित्तल ने इस अवसर पर कहा कि बच्चों की मेहनत व शिक्षको का सही मार्ग दर्शन ही बच्चों का भविष्य उज्जवल बनाता हैं। उन्होने अपने सम्बोधन में कहा कि हमारे काॅलेज का परीक्षाफल इस वर्ष भी पिछले वर्ष की ही तरह बहुत अच्छा रहा व उन्होने बी.बी.ए. विभाग के विभागाध्यक्ष व सभी शिक्षकगणों को बधाई दी।  इस अवसर पर विभाग के विभागाध्यक्ष मि. राजीव पाल सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि हमारे काॅलेज मे छात्रध्छात्राओं के लिये समय-समय पर विभिन्न विषयों पर सेमिनार, वेबिनार, व वर्कशाॅप का आयोजन होता रहता है। कोरोना महामारी की गाइडलाईन का अनुसरण करते हुए सभी छात्रध्छात्राओं ने आॅनलाईन कक्षाओं द्वारा घर पर रहकर ही अपने विषयों का अध्ययन किया और आॅनलाईन के माध्यम से आंतरिक परीक्षायें भी करायी गयी। काॅलेज मे छात्रध्छात्राओं के लिये प्लेसमेंट के मार्गदर्शन की समुचित व्यवस्था है तथा बी.बी.ए. के अधिकतर छात्रध्छात्रायें विभिन्न बहुराष्ट्रीय कम्पनियों में कार्यरत है। जिनका प्लेसमेंन्ट काॅलेज के मार्गदर्शन एवं सहभागिता के माध्यम से हुआ है तथा समय-समय पर विभिन्न कम्पनियों की इंडस्ट्रियल विजिट करायी जाती है, जिससे छात्रध्छात्राओं में आत्मविश्वास की भावना बनती है व उन्हे अपने बारे में भविष्य के निर्णय लेने के लिये आसानी हो जाती है, इसके अलावा छात्रध्छात्रायें अपने बी.बी.ए. के अन्तिम वर्ष में अलग-अलग कम्पनियों में ट्रेंनिग करते है जिसकी व्यवस्था भी काॅलेज के माध्यम से करायी जाती है। डा. आलोक कुमार गुप्ता ने बताया कि इस अवसर पर बी.बी.ए. विभाग से दीपक गर्ग, अक्षय जैन, अन्जर, डा. संगीता गुप्ता, प्राची, पूर्वी जैन, सोनिका, शंशाक, प्रशान्त गुप्ता, विनिता चैधरी, सतीश एवं उमेश मलिक आदि शिक्षकगणों व स्टाॅफ में प्रतिभाशाली छात्रध्छात्राओं को बधाई व आर्शीवाद दिया।


शुक्रवार, 16 अक्तूबर 2020

नीट में जिले का विशेष धनराज यूपी में नंबर टू

मुजफ्फरनगर। नीट-2020 के एग्जाम में मेधावी विशेष धनराज राठी की मेहनत फिर रंग लाई है। मंसूरपुर क्षेत्र के गांव दुधाहेड़ी निवासी इस छात्र ने नीट में 720 अंकों में 656 अंक हासिल कर देश में 2865 रैंक के साथ डॉक्टर बनने का सपना पूरा कर लिया है। यूपीएसईई की परीक्षा में राठी को बी.फार्मा तथा बीटेक.बॉयोटेक में प्रदेश में दूसरी रैंक मिली थी। 


नीट के घोषित रिजल्ट में दुधाहेड़ी के किसान दीपक राठी एवं अरुणा राठी के होनहार पुत्र विशेष धनराज ने प्रतिभा के सहारे कामयाबी का शिखर छू लिया है। उन्हें 720 में कुल 656 अंक मिले है, जिसमें बायोलॉजी में 325, फिजिक्स में 170 और केमेस्ट्री में 161 अंक शामिल हैं। पैतृक गांव दुधाहेड़ी में परिवार खुशियों में मग्न है, क्योंकि यूपीएसईई परीक्षा में बी.फार्मा में उनके लाड़ले को सूबे में द्वितीय स्थान मिला था। दादा वीरेंद्र सिंह पौत्र की सफलता से गदगद हो रहे है। मां अरुणा राठी ने कहा कि विशेष ने एकाग्रचित मन से पढ़ाई की, जिसका सुखद परिणाम मिला हैं। मेधावी विशेष राठी ने बताया कि वो बीते तीन साल से नीट की तैयारी में जुटे थे। दूसरी बार ये परीक्षा दी थी। फिजिक्स में 170 अंक का श्रेय इंपल्स एकेडमी के सर ए. पी.मुदगल को है, जिन्होंने लगातार प्रश्नों की प्रैक्टिस करायी। केमेस्ट्री में डॉ. रवि चौधरी की सलाह कारगर रही। उन्हें नीट में उम्मीद के मुताबिक अंक प्राप्त हुए है। सभी विषयों पर फोकस किया। नियमित 10 से बारह घँटे पढ़ाई की। सुबह योग और प्राणायाम से आत्मविश्वास को मजबूती मिली। जो विद्यार्थी नीट एग्जाम का लक्ष्य रखे है, वो एनसीआरटी को गहनता से पढ़े। रैंक के बारे में मत सोचे, पहले नीट एग्जाम क्रेक करने पर ध्यान केंद्रित करें। 


------------------- इंपल्स एकेडमी के छात्र-छात्राओं ने नीट-2020 के एग्जाम में नई सफलता प्राप्त की है। निदेशक ए.पी. मुदगल ने बताया कि विशेष धनराज राठी के अलावा दिलबाग की बेटी कोमल ने 612 तथा


मोहम्मद आरिफ की पुत्री अनम अंसारी ने 600 ने भी में कामयाबी पाई है। छात्र-छात्राओं को शिक्षकों ने बधाई दी है। नीट में 656 अंक प्राप्त विशेष धनराज राठी को मिठाई खिलाकर हर्ष मनाया। पिता दीपक एवं मां अरुणा राठी को सम्मानित किया गया।


श्रीराम काॅलेज एमबीए सैकेंड सैम का रिजल्ट रहा शत प्रतिशत




मुजफ्फरनगर । आज श्रीराम ग्रुप आॅफ काॅलेजेज के एम0बी0ए0 द्वितीय वर्ष के सभी विद्यार्थियों ने अच्छे अंको से उत्तीर्ण होकर कामयाबी हासिल की। एम0बी0ए0 चतुर्थ सेमेस्टर में शुभांगी ने सबसे अधिक 87 प्रतिशत अंक प्राप्त करके प्रथम स्थान प्राप्त किया। 86.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर अंशिका भारद्वाज द्वितीय स्थान पर रहीं। तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली संध्या त्यागी ने 83.3 प्रतिशत अंक प्राप्त किये। 


प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली शुभांगी ने अपनी सफलता का श्रेय स्वयं की मेंहनत, माता-पिता एवं गुरूजनों को देते हुए कहा कि पर सकारात्मक सोच, कठिन प्रयास, माता-पिता एवं गुरूजनों द्वारा दिए गए मार्ग दर्शन एवं उच्चतम ज्ञान ही सफलता का मूलमंत्र रहा। द्वितीय स्थान पर रही अंशिका भारद्वाज ने कहा कि महाविद्यालय का शैक्षिक वातावरण, अघ्यापकों द्वारा विषय का गहन ज्ञान देने के लिए समय-समय पर आयोजित कराए गए सेमिनार एवं गेस्ट लैक्चर के फलस्वरूप ही यह कामयाबी हासिल हुई है। तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली संघ्या त्यागी ने कहा कि पुस्तकालय में सभी विषयों पर अनेक उच्चस्तरीय लेखकों की पुस्तकें उपलब्ध होने के साथ-साथ लाइब्रेरी का डिजीटलाइजेशन ने भी सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। 


महाविद्यालय के चेयरमैन डा0 एस0सी0 कुलश्रेष्ठ ने एम0बी0ए0 के सभी विद्यार्थियों को सफलता पर बधाई देते हुए कहा कि महाविद्यालय को अपने विद्यार्थियों पर गर्व है जो न केवल शैक्षिक स्तर पर बल्कि अन्य क्षेत्रों में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर अपना, माता-पिता, गुरूजनों एवं जिले का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होनें सभी विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए कहा कि समय का महत्व, सकारात्मक सोच एवं लगन के साथ ही सफलता के मार्ग पर आगे बढ़ कामयाबी हासिल कर सकते हैं।


विभागीय डीन पंकज कुमार ने भी अध्यापकों को उनके मार्गदर्शन में विद्यार्थियों को मिली सफलता पर बधाई देते हुए कहा कि किसी भी विभाग में विद्यार्थियों की सफलता एवं उज्ज्वल भविष्य अध्यापकों पर निर्भर करता है। 


विभागाध्यक्ष डा0 अशफाक अली ने कहा कि विभाग विद्यार्थियों के लिए समय-समय पर ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करता रहता है जिससे विद्यार्थियों को क्षेत्र से जुड़ी नवीन खोज एवं जानकारियां मिले जो उनके भविष्य निर्माण में मददगार साबित हो सके। इसके अतिरिक्त उन्होनें विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि सभी विद्यार्थी अपने में बेहतर प्रबंधक के गुण विकसित कर भविष्य में देश और समाज निर्माण में अपनी सेवाएँ प्रदान करेगें। 


विभाग के प्रवक्ताओं में राजीव रावल, श्रुति मित्तल, मौ0 दानिश और साक्षी चैधरी ने छात्रों को बधाई देते हुये उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।


बुधवार, 14 अक्तूबर 2020

उत्तराखंड में एक नवंबर से खुलेंगे 10वीं और 12वीं कक्षा के स्कूल


देहरादून। उत्तराखंड में भी आगामी एक नवंबर से कक्षा 10वीं और 12वीं कक्षा के लिए स्कूल खोल दिए जाएंगे। निजी और सरकारी स्कूलों में कक्षा 10वीं और 12वीं की कक्षाएं संचालित की जाएंगी। यह फैसला आज बुधवार को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया है। 
स्कूलों में कोविड-19 से बचाव के लिए जारी किए गए दिशा-निर्देशों का पूर्ण रूप से पालन किया जाएगा। बाकी कक्षाओं के बारे में बाद में फैसला लिया जाएगा। इसके लिए बकायदा शिक्षा विभाग अलग से एसओपी जारी करेगा। इसके साथ ही बैठक में कई अन्य फैसले भी लिए गए। बैठक में 18 मामले सामने आए। राजकीय सहायता प्राप्त महाविद्यालयों को अनुदान दिए जाने को लेकर कैबिनेट में चर्चा की गई। जिस पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई।
 


स्कूल कॉलेज खोलने की तैयारी, डीआईओएस ने की मीटिंग


मुजफ्फरनगर । आज राजकीय इंटर कॉलेज मुजफ्फरनगर में  शासन के अक्टूबर से विद्यालयों को कक्षा 9 से  कक्षा 12 तक के लिए खोले जाने निर्देशों के क्रम में प्रत्येक ब्लॉक के नोडल अधिकारियों की एक आवश्यक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में शासनादेश को विस्तृत रूप से समझाया गया तथा इस सम्बंध में जारी एस॰ओ॰पी॰ की जानकारी भी दी गयी। अब ये नोडल ऑफिसर अपने अपने क्षेत्र के विद्यालयों के प्रधानाचार्यगण की बैठक करके निर्देशों को विद्यालयों तक पहुँचायेंगे। इस बैठक में डॉ. विकास कुमार, प्रधानाचार्य एस॰डी॰इंटर कॉलेज , मीरापुर के द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर चर्चा के साथ साथ सूचना के आदान प्रदान हेतु एक ऐप के संचालन का प्रशिक्षण भी प्रदान किया गया। राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य ब्रिजेश कुमार द्वारा बैठक का आयोजन किया गया तथा बैठक का संचालन विपिन त्यागी द्वारा किया गया।


सोमवार, 12 अक्तूबर 2020

श्रीराम काॅलेज के पाॅलिटैक्निक छात्र - छात्राओं का रिजल्ट रहा उत्कृष्ट


मुजफ्फरनगर । श्रीराम ग्रुप आॅफ काॅलेज के पाॅलिटैक्निक विभाग में छात्रों का परिणाम उत्कृष्ट रहा। 


प्राविधिक शिक्षा परिषद् उत्तर प्रदेश द्वारा पाॅलिटैक्निक विभाग के द्वितीय और चतुर्थ सेमेस्टर का परिणाम घोषित हुआ। जिसमें श्रीराम ग्रुप आॅफ काॅलेजेज के पाॅलिटैक्निक विभाग मे अध्ययनरत छात्रों का परिणाम प्रशसनीय रहा। पाॅलिटैक्निक इलैक्ट्रिकल द्वितीय वर्ष मे छात्रों ने बाजी मारी जिसमें धन्नजय पटेल पुत्र श्री दीनानाथ पटेल 76.26 प्रतिशत अंकों के साथ प्रथम स्थान पर रहे तथा संजु पुत्र श्री खुब सिंह 76 प्रतिशत के साथ द्वितीय स्थान पर रहे ओर तनमय गर्ग 73.88 प्रतिशत अंकों के साथ तृतीय स्थान पर रहे। 


इसी के साथ पाॅलिटैक्निक मैकेनिकल द्वितीय वर्ष के छात्रों का परिणाम भी बहुत अच्छा रहा। मैकेनिकल द्वितीय वर्ष के हर्ष सैनी ने 78.56 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। जसवीर व विशाल कुमार ने 78.08 प्रतिशत व 74.64 प्रतिशत अंक के साथ द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहें। 


सिविल इंजीनियरिंग द्वितीय वर्ष में चारूल सैनी पुत्री श्री सुधीर सैनी ने 75.90 प्रतिशत अंको के साथ प्रथम स्थान प्राप्त किया। विनित कुमार व अमन 73.62 तथा 73.14 प्रतिशत अंको के साथ द्वितीय तथा तृतीय स्थान पर रहें। 


पाॅलिटैक्निक इलैक्ट्रिकल प्रथम वर्ष मे छात्रों का परिणाम कुछ इस प्रकार रहा जिसमें प्रथम स्थान पर कु0 आरती त्यागी पुत्री श्री संयज त्यागी 75.30 प्रतिशत अंको के साथ प्रथम स्थान पर रही तथा शगुन और आर्तिक भारद्ववाज 75.20 अंको के साथ द्वितीय स्थान पर रहे तथा रजनीश कुमार 73.53 प्रतिशत अंको से तृतीय स्थान पर रहे। 


मैकेनिकल प्रथम वर्ष के विशाल वर्मा पुत्र श्री नवीन वर्मा 77.76 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। मनीष और तरूण सैनी 74.84 व 73.69 प्रतिशत अंको के साथ द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहें। 


पाॅलिटैक्निक सिविल इंजी0 प्रथम वर्ष मे मंजीत कुमार पुत्र श्री मोतीराम 76.92 प्रतिशत अंको के साथ प्रथम स्थान पर रहे तथा सौरब कुमार व पारूल 75.61 तथा 73.30 प्रतिशत अंको के साथ द्वितीय तथा तृतीय स्थान पर रहें।


श्रीराम ग्रुप आॅफ काॅलेजेज के चैयरमैन डा0 सुभाष चन्द्र कुलश्रेष्ठ ने पाॅलिटैक्निक के सभी विधार्थीगण एवं शिक्षकों को बधाई दी तथा संकाय के निदेशक डाॅ0 आलोक गुप्ता ने सभी विभागाध्यक्षों की उपस्थिति मे छात्र/छात्राओं को प्रतीक-चिन्ह देकर सम्मानित किया व उसके उज्जवल भविष्य की कामना की।


पाॅलिटैक्निक के प्राचार्य डा0 रविन्द्र कुमार सैनी ने परीक्षा परिणामों के लिए सभी शिक्षकों व छात्र/छात्राओं की कड़ी मेहनत के साथ प्रयोगशाला कर्मियों के योगदान की भी सराहना की व उसके उज्जवल भविष्य की कामना की। 


छात्र/छात्राओं ने इस सफलता का श्रेय शिक्षकों, माता-पिता व काॅलेज प्रबन्धन को देते हुए कहा कि वह आगे भी इसी तरह अध्ययन करते हुए एक कुशल इंजीनियर बनकर अपने विद्यालय का नाम ऊॅचा करना चाहेगें।


कोरोना काल में ऐसे बदला नजर आएगा स्कूलों का नजारा

लखनऊ । कोरोना काल में स्कूलों का नजारा कुछ बदला बदला नजर आएगा। 


पिछले कई महीनों से कोरोना संक्रमण के चलते बंद पड़े शहर के स्कूल आगामी 19 अक्तूबर से बच्चों के लिए खुलने जा रहे हैं। पहले चरण में कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों को बुलाया जा रहा है। इसको लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक से लेकर स्कूलों तक के स्तर पर कवायद शुरू हो गई है। 


यूपी अनएडेड स्कूल्स एसोसिएशन की ओर से साफ किया गया है कि बच्चों के स्कूल में प्रवेश से लेकर जाने तक शासन के निर्देश पर बनी एसओपी का पालन किया जाएगा। अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने बताया कि परीक्षा की तरह यहां भी अब बच्चे के बैठने तक का स्थान निर्धारित किया जाएगा। बकायदा, डेस्क पर नाम और रोल नम्बर तक लिखा जाएगा। इसके अलावा, बिना अभिभावक के सहमति पत्र के किसी भी छात्र को स्कूल परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। अनिल अग्रवाल ने बताया कि स्कूलों के स्तर पर कवायद शुरू कर दी गई है। बकायदा , सैनिटाइजेशन टनल्स तक लगाए जा रहे हैं। एडेड स्कूलों की ओर से आपत्तियां जताई जा रही हैं। एडेड स्कूल प्रबंधनों का कहना है कि सैनिटाइजेशन से लेकर अन्य व्यवस्थाओं के लिए बजट उपलब्ध नहीं है। ऐसे में बच्चों के लिए पर्याप्त व्यवस्थाएं कर पाना मुश्किल होगा। 


ऐसे स्कूल शुरू करने की है तैयारी  


- स्कूल संचालन के लिए निर्धारित मानक दो शिफ्टों में प्रस्तावित स्कूल की समय सारणी : सुबह  8  से 11  बजे और दोपहर 12 से 3 बजे तक । 


-  छात्रों के प्रवेश के लिए प्रत्येक स्कूल में न्यूनतम 2 गेट्स खोले जायेंगे। 


-  सैनीटाइजेशन चैम्बर  स्थायी रूप से प्रवेश और निकास द्वार के साथ वाशरूम के पास रखा जाना चाहिए । 


- यदि छात्र दिना मास्क और सैनिटाइजर के आएंगे तो प्रवेश वर्जित होगा । 


- स्कूल के सभी गेट्स पर 50 मीटर्स तक   गोले बनाए जाएंगे । इससे आते समय बच्चे सामाजिक दूरी का पालन कर सके ।


-  दोनों पालियों में आने वाले सभी छात्रों का कक्षा एवं सेक्शन के आधार पर रिकार्ड तैयार किया जायेगा । 


-  छात्रों को गेट पर ही थर्मल स्कैनर की मदद से उनका टेम्परेचर देखा जाएगा एवं उनके हाथों को सैनिटाइज किया जाएगा । 


- छात्र सीधे अपनी कक्षाओं में जाएंगे । 


- प्रत्येक डेस्क पर उस पर बैठने वाले छात्र का नाम लिखा जाएगा , जिससे कक्षा में किसी भी प्रकार का संशय न हो । 


 - सभी छात्रों को अपनी खुद की स्टेशनरी और पुस्तकें ले जानी चाहिए । कोई उधार लेने की अनुमति नहीं होगी।


रविवार, 11 अक्तूबर 2020

पोस्टर में झलका महिला उत्पीड़न का दर्द


मुजफ्फरनगर । एसडी कॉलेज ऑफ कॉमर्स के प्रांगण में ग्रह विज्ञान संकाय द्वारा अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष में पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें अनेकों छात्राओ ने प्रतिभाग किया तथा मनमोहक पोस्टर बनाएं । हर वर्ष 11 अक्टूबर 2020 को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन किया जाता है बालिका दिवस के आयोजन का मूल उद्देश्य बालिकाओं के सामने आने वाली चुनौतियों और उनके अधिकारों के संरक्षण के बारे में जागरूकता बढ़ाना है. सालों से चली आ रही बाल विवाह प्रथा ,दहेज और कन्या भ्रूष हत्या जैसी रुढ़िवादी प्रथाएं काफी प्रचलित हुआ करती थी आधुनिक युग में लड़कियों को उनके अधिकार देने और उनके प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए कई प्रयास किये जा रहे हैं.


बालिकाओं को समान अधिकार दिलवाना तथा बालक तथा बालिकाओं में असमानता को खत्म करना हैं। इस उपलक्ष पर प्राचार्य डॉक्टर सचिन गोयल ने सभी छात्राओं को बधाई देते हुए उनका उत्साहवर्धन किया तथा उन्हें संदेश दिया कि हमारा महाविद्यालय सदैव से छात्राओं को उनके समान अधिकार प्रदान करता तथा उन्हें आगे बढ़ने का मौका देता है तथा बालिकाओं का समाज के विकास में अत्यधिक महत्वपूर्ण योगदान है जब एक छात्र शिक्षित होता है तो वह अकेला शिक्षित होता है परंतु जब एक छात्रा शिक्षित होती है तब वह एक घर नहीं बल्कि दो घरों को शिक्षित करती है जिस घर बेटी होती है वह घर स्वर्ग समान होता है। 


इस आयोजन को सफल बनाने में ग्रह विज्ञान विभाग अध्यक्ष श्रीमती नीतू गुप्ता, स्वाति ,पिंकी,विपाशा, ज्योती विन्शु ,गुँजन, मानसी अरोरा , नूपुर ,संकेत जैन , सौरभ शर्मा, कमर राजा एकता मित्तल, सपना , सोनम ,आकांशा, गरिमा आदि का योगदान रहा।


सीबीएसई 10 वीं और 12वीं के सैंपल पेपर जारी


 


नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच स्कूल कालेज बंद रहने से शिक्षण कार्य बुरी तरह प्रभावित हुआ है । यूपी में 19 अक्टूबर से स्कूल खोलने की प्रक्रिया शुरू की गई है। अभी स्कूलों में ऑनलाइन माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। बच्चों की पढ़ाई के नुकसान को देखते हुए जुलाई में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने पाठ्यक्रम में 30 फीसदी की कटौती करने की घोषणा के बाद इसके अनुरूप सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए बचे हुए 70 फीसदी पाठ्यक्रम के साथ सैंपल प्रश्नपत्र जारी किया है। छात्र अब सीबीएसई की आधिकारिक वेबसााइट cbseacademic.nic.in पर जाकर कक्षा 10, 12 के सभी विषयों के सैंपल पश्नपत्र डाउनलोड कर सकते हैं।


12वीं में पहली बार क्षमता आधारित सवाल पूछे जाएंगे


सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षा के लिए जारी सैंपल प्रश्नपत्र में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। जिसके तहत 12वींबोर्ड परीक्षा के दौरान पहली बार छात्रों से क्षमता आधारित (कॉम्पिटेंसी बेस्ड) सवाल पूछे जाएंगे। प्रश्ननपत्र में इन सवालों की संख्या कुल पूछे गए प्रश्नों की तुलना में 10 फीसदी होगी। तो वहीं 10वीं बोर्ड परीक्षा में इस बार क्षमता आधारित सवालों की संख्या में बढ़ोतरी की है। जिसके तहत  प्रश्नपत्र में तकरीबन 20 फीसद सवाल क्षमता आधारित होंगे।


पिछले बार ऐसे सवालों की संख्या 10 फीसदी थी। सीबीएसई से मिली जानकारी के मुताबिक यह बदलाव केवल आगामी बोर्ड परीक्षाओं के लिए ही किए गए हैं। बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र इस सैंपल प्रश्नपत्र को देखकर अपनी तैयारी शुरू कर सकते हैं।


Featured Post

*'जो रह गए, उन्हें भविष्य में मिलेगा सभी योजनाओं का लाभ':मीनाक्षी स्वरूप*

  मुज़फ्फरनगर। वार्ड 41 आदर्श कॉलोनी में आयोजित विकसित भारत संकल्प यात्रा में नगर पालिका अध्यक्षा मीनाक्षी स्वरूप ने बताया कि गांव के गरीब से...