Thursday, September 22, 2022

अंजू अग्रवाल ने बीस सभासदों के साथ बैठक के बाद दिया इस्तीफा


मुजफ्फरनगर। नगर पालिका में विभिन्न घोटालों को लेकर प्रदेश शासन द्वारा की गई कार्रवाई तथा हाईकोर्ट में मामला विपक्ष में जाने के बाद चेयरमैन अंजू अग्रवाल ने आज अपने साथी बीस सभासदों के साथ बैठक में त्याग पत्र देने का ऐलान कर दिया। पालिकाध्यक्ष आज दोपहर नगरपालिका कार्यालय पहुंची तथा वहां अपने साथी सभासदों के साथ बैठकर चर्चा की। इस दौरान भाजपा सभासद इस बैठक से अलग रहे। पालिका अध्यक्ष ने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए अपने द्वारा कराए गए कार्यों की गिनती कराई। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान दिए गए सहयोग के लिए सभी का आभार भी जताया। माना जा रहा है कि हाईकोर्ट के निर्देश के बाद शासन द्वारा बर्खास्तगी की कार्रवाई से बचने के लिए चेयरमैन इस्तीफे का ऐलान किया है।
उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ लगातार शिकायते दर्ज कराई गईं। 135 विकास कार्यों के टेंडर हो चुके हैं, उन विकासकार्यों को रोक दिया गया।चेयरमैन अंजू अग्रवाल ने कहा उनके खिलाफ  षड्यंत्र रचा गया। शहर के विकास कार्यो को रोका गया। महिलाओं के सशक्तिकरण की बात करने वालों द्वारा एक महिला के अधिकारों को छीना गया। आहत होकर पद छोडऩे को मजबूर हुई।
इस अवसर पर अंजू अग्रवाल ने कहा कि वह ईश्वर की साधना करती है और उन्हीं के निर्देश पर काम करती है, अब मेरे ईश्वर ने मुझे संकेत दिया है कि जब यह काम नहीं करने दे रहे, विकास नहीं करने दे रहे हैं तो मुझे पद छोड़ देना चाहिए, इसलिए मैं नगर पालिका अध्यक्ष का पद छोड़ रही हूं  . अंजू अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने अभी अपना लिखित इस्तीफा नहीं भेजा है ,वह जल्द ही इस संबंध में परिवारजनों से वार्ता के बाद पत्रकारों से वार्ता करेंगी और लिखित इस्तीफा नियम अनुसार भेजेगी।  उन्होंने कहा कि वे भाजपा नहीं छोड़ रही है। उनकी बैठक में बीस सभासद मौजूद रहे ।हालांकि सभासदों ने इस्तीफे का ऐलान नहीं किया। 



No comments: