Saturday, October 9, 2021

लखीमपुर खीरी हिंसा में आरोपी ने पेश किए गए अपनी बेगुनाही के सबूत


 लखीमपुर । केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे और लखीमपुर हिंसा के आरोपी आशीष मिश्रा ने क्राइम ब्रांच के सामने पेशी के दौरान अपनी ‘बेगुनाही के सुबूत’ पेश कर दिए हैं. आशीष मिश्रा और उनके वकील ने गवाही के तौर लगभग एक दर्जन से अधिक शपथ पत्र दाखिल किए है। पुलिस को तीन से 4 वीडियो भी पेन ड्राइव में दिए हैं. पुलिस के मुताबिक इन वीडियोज की फोरेंसिक जांच की जाएगी. इधर, लखीमपुर क्राइम ब्रांच ने इस मामले से जुड़े अंकित दास के ड्राइवर समेत दो लोगों को लखनऊ से हिरासत में लिया है. अंकित दास की तलाश जारी है.मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की पेशी होने तक के घटनाक्रम पर नजर डालें तो पुलिस ने आशीष पांडेय और लवकुश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. आज लखीमपुर क्राइम ब्रांच ने अंकित दास के ड्राइवर समेत दो लोगों को लखनऊ से हिरासत में ले लिया. इसके अलावा सुमित जायसवाल फरार है, वहीं अंकित दास की तलाश जारी है. घटना से जुड़े तीन आरोपियों की मौके पर ही मौत हो चुकी थी.इधर, प्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने इस मामले को लेकर आज फिर सरकार पर हमला किया. अखिलेश यादव ने कहा कि देश का कानून जीप के टायर से रौंदा जा रहा है. उन्होंने प्रदेश में आपराधिक घटनाओं को लेकर कहा कि गोरखपुर में जो व्यापारी की हत्या हुई उसमें अभी तक हत्यारे फरार हैं. कस्टोडियल डेथ सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में हुई है, इसके लिए आखिरकार जिम्मेदार कौन है. लखीमपुर मामले पर अखिलेश ने कहा कि सभी परिवारों ने कहा कि जब तक गृह राज्यमंत्री रहेंगे, तब तक न्याय मिल पाना मुश्किल है, फिर भी सरकार आरोपियों को बचाना चाहती है.

No comments: