Wednesday, September 8, 2021

करनाल में मिनी सचिवालय पर टैंट लगा कर डाला डेरा


करनाल. जिले के बसताड़ा टोल प्‍लाजा पर 28 अगस्त को हुए लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने बेमियादी पडाव का एलान कर डेरा डाल दिया है. वहीं टैंट गाडने की तैयारी कर ली गई है। 

गत दिवस प्रशासन से बातचीत विफल होने के बाद किसान बैरिकेड्स तोड़ते हुए लघु सचिवालय पहुंच गए. किसान लघु सचिवालय गेट के बाहर बैठे हुए हैं. यहीं लंगर व्यवस्था है और यहीं टैंट लगाए जाएंगे. किसान नेताओं का कहना है कॉल दी गई थी ज़िला सचिवालय के घेराव की वो कर दिया गया है. हम बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन अगर बातचीत में हमारी मांग जो एसडीएम के खिलाफ मामला दर्ज करने की है उसको नहीं माना गया तो हमारी तरफ यूंही धरना जारी रहेगा.

वहीं किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि किसानों ने लघु सचिवालय का तो अनिश्चितकालीन घेराव कर लिया है. किसान साथियों के साथ वे सचिवालय पर ही डटेंगे. यहीं से आगे की लड़ाई जारी रहेगी. इधर किसान नेता योगेंद्र यादव का कहना है कि किसान जिला सचिवालय को घेरने पहुंच चुके हैं. अब यहां सभी को शांति से बैठाकर अगली रणनीति तय की जाएगी. किसानों को मनाने में प्रशासन की विफलता ने सरकार की चिंताएं बढ़ा दी हैं. किसान इस महापंचायत में अपने मूल मांगों के साथ-साथ लाठीचार्ज के बाद मृतक किसान सुशील काजल को न्याय दिलाने के मकसद से नई अनाज मंडी में एकत्रित हुए थे. तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने, एमएसपी की गारंटी देने संबंधी मुख्य मांगों के साथ-साथ लाठीचार्ज का आदेश देने वाले एसडीएम आयुष सिन्हा और इसमें संलिप्त पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

No comments:

Featured Post

रेल से सफर करने जा रहे हैं तो यह पढें, वर्ना पड सकता है पछताना

 नयी दिल्ली। उत्तर रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अध‍िकारी दीपक कुमार के मुताब‍िक 01 अक्‍टूबर तथा इसके पश्चात ट्रेनों के आगमन/प्रस्थान तथा ठहराव स...