Sunday, September 26, 2021

मुजफ्फरनगर सहित इन जिलों में धर्मान्तरण के आरोपी मौलाना के साथ खड़े नेताओ और राज़दारो का होगा पर्दाफाश

 


लखनऊ । प्रदेश के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) द्वारा मौलाना कलीम सिद्दीकी के दिल्ली, मेरठ व मुजफ्फरनगर में नेटवर्क की तलाश की जा रही है। इन तीनों शहरों में अलग-अलग टीमें बना कर काम किया जा रहा हैं। मौलाना का नेटवर्क भी मोहम्मद उमर गौतम की तरह ही मजबूत होने की संभावना जताई जा रही है। अवैध धर्मांतरण गिरोह संचालित करने और धर्मांतरण के लिए अवैध विदेशी फंडिंग प्राप्त करने के बारे में पूछताछ लगातार दूसरे दिन भी जारी रही।

मौलाना कलीम 10 दिनों की पुलिस कस्टडी रिमांड पर इस समय एटीएस की गिरफ्त में है। उसे जेल से निकालकर एटीएस मुख्यालय लाया गया था। लगातार दूसरे दिन उससे कई अहम बिन्दुओं पर पूछताछ की गई। उसके अन्य सहयोगियों और अवैध धन प्राप्त के स्रोतों की जानकारी अन्य माध्यमों से भी जुटाई जा रही है। इसी मामले में पूर्व से जेल में निरुद्ध उमर गौतम के साथ कलीम के रिश्तों की भी गहराई से जांच की जा रही है। पूछताछ के लिए ‌एएसपी के नेतृत्व में कई टीमों का गठन किया है। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एटीएस को ऐसी जानकारी मिली है कि मौलाना कलीम भी उमर गौतम की तरह फंड जुटाने में माहिर है। इस कारण उसके करीबियों के बैंक खातों की भी जानकारी भी जुटाई जा रही है। अब तक की जांच में कई संदिग्धों के बैंक खाते जांच के दायरे में हैं। एटीएस मौलाना कलीम को लेकर दिल्ली, मेरठ व मुजफ्फरनगर जाने की भी तैयारी में है। इन तीनों शहरों में उसके जरिए कुछ स्थानों व व्यक्तियों की तस्दीक भी कराई जा रही है । एटीएस ने कल ही आम लोगों से भी जांच में सहयोग मांग की है । एटीएस ने मौलाना कलीम सिदीकी और उमर गौतम की चल-अचल संपत्ति अथवा दोनों के परिवार के किसी व्यक्ति व सहयोगी की चल-अचल संपत्ति के बारे में सूचना मांगी थी। यह सूचना एटीएस मुख्यालय लखनऊ के मोबाइल नंबर 9792103156 अथवा मेल आईडी (controlroom.ats-up@gov.in) पर मांगी गई है। यह भी कहा गया है कि सूचना देने वाले का नाम, पता व दी गई सूचना को पूरी तरह से गोपनीय रखा जाएगा।

No comments: