Wednesday, September 29, 2021

बोर्ड पर शहीद का फोटो ना लगाने के विरोध में प्रदर्शन


मुजफ्फरनगर । गांव खांजाहपुर बुढ़ाना मोड़ निवासी शहीद प्रशांत शर्मा के नाम पर पूर्व घोषणा के अनुसार शामली रोड पर पर्दाफाश मोती झील पर बने नए पुल का नामकरण करते हुए इसका बोर्ड लगाया गया है। इस बोर्ड पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के फोटो हैं और शहीद प्रशांत शर्मा का बड़ा नाम लिखा है। बोर्ड पर शहीद प्रशांत शर्मा का फोटो नहीं होने पर भाकियू सर्व के अध्यक्ष राजकिशोर शर्मा व ब्राह्मण समाज के कुछ युवाओं ने प्रदर्शन कर चेतावनी दी कि यदि शीघ्र ही बोर्ड पर शहीद का फोटो नहीं लगाया गया तो आंदोलन किया जाएगा।

29 अगस्त 2020 को मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना मोड़ निवासी प्रशान्त शर्मा सेना में अपनी ड्यूटी के दौरान शहीद हो गए थे। 30 अगस्त को शहीद का शव बुढ़ाना मोड़ स्थित उनके आवास पर आया तो वहां हजारों लोगों ने अश्रुपूर्ण नेत्रों से शहीद प्रशान्त को अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किये थे। प्रदेश सरकार की घोषणा के अनुसार सरकार द्वारा शहीद के परिजनों को 50 लाख का चेक तो दे दिया गया, लेकिन न तो अभी तक कोई प्रतिमा स्थापित करायी गयी और न ही प्रशान्त के किसी भाई को एक वर्ष बीत जाने के बाद भी सरकारी नौकरी दी गई है। बुधवार को शहीद के परिजनों एवं भारतीय किसान सर्व के राजकिशोर शर्मा के नेतृत्व में युवाओं ने मोतीझील पर बने नए पुल के नामकरण शहीद के नाम पर करते हुए लगाए गए बोर्ड पर शहीद का फोटो नही होने पर प्रदर्शन किया। शहीद प्रशान्त के भाई विक्की शर्मा ने कहा कि जिस पुल का निर्माण हो रहा है, उस पर लगे बोर्ड पर शहीद प्रशान्त का नाम तो बड़े शब्दों में लिखा गया है, लेकिन बोर्ड पर जो फोटो लगाये गये है वे प्रधाननमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मोर्या के हंसते हुए फोटो तो लगा दिए गए हैं। शहीद प्रशान्त के भाई विक्की शर्मा ने कहा कि यह कैसे विडम्बना है कि जिस शहीद के नाम पर लोकनिर्माण विभाग सेतु निर्माण करा रहा है, उस बोर्ड पर शहीद का फोटो गायब है। उन्होंने यह भी कहा कि मूर्ति स्थापना को लेकर उनकी कई बार क्षेत्रीय विधायक प्रमोद ऊंटवाल से भी वार्ता है। उन्होंने भी केवल आश्वासन देकर अपना पल्ला झाड़ लिया। विक्की शर्मा ने कहा कि शहीद की प्रतिमा स्थापित करायी जाये तथा परिजनों को एक सरकारी शीघ्र दिलायी जाये। इस दौरान राजकिशोर शर्मा पीनना, सतीश भारद्वाज, हिमांशु शर्मा, तरूण शर्मा, मोंटी शर्मा, अब्दुल्ला, डेविड, शुभम, अभिषेक आदि मौजूद रहे।

No comments: