Friday, September 24, 2021

मौलाना कलीम सिद्दीकी को मुजफ्फरनगर लाएगी पुलिस, राकेश टिकैत ने मामले से झाड़ा पल्ला


लखनऊ /गाजीपुर । भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने मौलाना कलीम सिद्दीकी की गिरफ्तारी के मामले में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। पुलिस अब मुजफ्फरनगर और मेरठ समेत तमाम स्थानों पर ऐसे लोगों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है जिनके इस मामले में शामिल होने के संकेत मिल रहे हैं।

पुलिस के अनुसार रिमांड पर लेने के बाद मौलाना कलीम सिद्दीकी को दिल्ली के साथ ही मेरठ और मुजफ्फरनगर भी ले जाया जाएगा। मौलाना कलीम ग्लोबल पीस सेंटर के साथ ही जमीयत-ए-इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट का संचालन करता है और देश के विभिन्न हिस्सों में कई मदरसे भी चलाता है। बता दें, मुजफ्फरनगर के रहने वाले मौलाना कलीम सिद्दीकी को यूपी एटीएस ने मंगलवार रात मेरठ से गिरफ्तार किया था। आईजी ने बताया कि दिल्ली, मेरठ और मुजफ्फरनगर में धर्मांतरण सिंडिकेट से जुड़े लोगों को चिन्हित किया गया है। इस मामले में एटीएस कुछ और गिरफ्तारियां भी कर सकती है।

मौलाना कलीम सिद्दीकी के पास से 7 देशी और विदेशी सिम कार्ड बरामद हुए हैं। उसके मोबाइल फोन और सिमकार्ड का डेटा खंगाला जा रहा है। साथ ही मौलाना के ग्लोबल पीस सेंटर और जमीयत ए इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट के बैंक खातों की भी जांच पड़ताल की जा रही है। एडीजी (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बुधवार को खुलासा करते हुए बताया था कि 20 जून को अवैध धर्मांतरण गिरोह संचालित करने वाले लोग गिरफ्तार गिए गए थे। इस संबंध में मुकदमा दर्ज किया गया था। उमर गौतम और इसके साथियों को ब्रिटिश आधारित संस्था से लगभग 57 करोड़ रुपए की फंडिंग की गई थी। जिसके खर्च का ब्योरा अभियुक्त नहीं दे पाए। इस संबंध में आज के अभियुक्त को छोड़कर कुल 10 लोग गिरफ्तार हुए थे, जिसमें से 6 के खिलाफ विभिन्न तिथियों में चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है, 4 के खिलाफ जांच चल रही है।

इस बीच गॉजीपुर बॉर्डर पर एक न्यूज चैनल से बातचीत में जब मौलाना कलीम सिद्दीकी की गिरफ्तारी को लेकर सवाल पूछा गया तो राकेश टिकैत ने मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि किसने किसको गिरफ्तार किया इससे कोई मतलब नहीं है। हमारा लाईन तो किसानों की है, खेती किसानी की है। हमारी लाईन उससे अलग है पूर्ण रूप से।

No comments: