Tuesday, August 24, 2021

कल्याण सिंह के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित करने जुटे भाजपाई




मुजफ्फरनगर । गाँधीनगर स्थित भारतीय जनता पार्टी कार्यालय पर भारतीय राजनीति के वट वृक्ष रामभक्त कुशल राजनीतिज्ञ, महान राष्ट्रभक्त, जननायक, हम सबके प्रिय नेता स्व श्री कल्याण सिंह जी की श्रद्धाजंलि सभा आयोजित की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला व संचालन जिला उपाध्यक्ष बिजेन्द्र पाल ने किया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से राज्यमंत्री उ०प्र० कपिल देव अग्रवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ० वीरपाल निर्वाल, बुढाना विधायक उमेश मलिक, खतौली विधायक विक्रम सैनी, पूर्व मंत्री सुधीर बालियान, पूर्व चेयरमैन आयुष बोर्ड डॉ० सुभाष चन्द शर्मा, पूर्व विधायक अशोक कंसल, पूर्व जिलाध्यक्ष यशपाल पंवार, रामकुमार सहरावत, सुधीर सैनी, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष प्रदीन सैनी, महेन्द्र आचार्य जी आदि वक्ताओ ने कल्याण सिंह जी के साथ बिताए गये क्षणो का विस्तार से वर्णन किया अपने संस्मरण सबके बीच रखे और स्व. कल्याण सिंह जी के चित्र के समक्ष श्रद्धाजंलि अर्पित की उनके पदचिन्हो पर चलने का आवहान किया।

कार्यक्रम के अंत में कल्याण सिंह जी का जन्म 6 जनवरी 1932 को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में हुआ था कल्याण सिंह जी 2 बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और कई बार अतरौली के विधानसभा सदश्य के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं, पहली बार कल्याण सिंह जी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री वर्ष 1991 में बने और दूसरी बार यह वर्ष 1997 में मुख्यमंत्री बने थे। ये प्रदेश के प्रमुख राजनैतिक चेहरों में एक इसलिए  माने जाते हैं, क्यूंकि इनके पहले मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान ही बाबरी मस्जिद की घटना घटी थी भारतीय राजनीतिज्ञ थे वे राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल रहे उत्तर प्रदेश के लोग कल्याण सिंह जी को प्यार से बाबूजी पुकारते थे और उन्हें प्रखर राष्ट्रवादी राजनेता के रूप में जाना जाता है उनका व्यक्तित्व कृतित्व आशमान की ऊचाईयो के समान था उनका विचार था कि देश की खुशहाली का रास्ता गाँव गली और गलियारों से होकर गुजरता है वे हमेशा गॉव गरीब किसान व मजदूरी की खुशहाली के बारे में विचार करते थे 6 दिसम्बर को विवादित ढांचा ध्वस्त होने के बाद ढांचे के साथ उ0प्र0 की सरकार भी चली गई थी कल्याण सिंह जी ने यह भी कहा था " राम मन्दिर बनाने की खातिर एक क्या 10 बार सरकार कुर्बान करनी पड़ेगी तो हम तैयार है" 6 दिसम्बर की घटना मेरे लिए राष्ट्रीय शोक नहीं राष्ट्रीय गर्व है और बाबरी विध्वंस को लेकर मन में न कोई पछतावा है न कोई शोक है, न कोई खेद है और न कोई पश्चाताप का भाव है उन्ही कल्याण सिंह जी ने कहा था कि बार बार दोहराया था कि कार सेवको पर गोली नहीं चलवाऊँगा।

संघ और भारतीय जनता पार्टी के संस्कार उनके रक्त के बूँद-बूँद में समाए हुए थे। इसलिए उनकी इच्छा थी कि मैं जीवन भर भाजपा में रहू जीवन का जब अंत होने को होतो मेरा शव भी भारतीय जनता पार्टी के झण्डे में लिपटकर जाए। ऐसे राष्ट्रभक्त व रामभक्त नेता जी को मैं हृदय से नमन करते हुए अपनी श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूँ।

श्रद्धाजंलि सभा में मुख्य रूप से पिछड़ा आयोग सदस्य जगदीश पांचाल, कुशपुरी, श्रीमोहन तायल, राजीव गर्ग, जितेन्द्र कुच्छल, जिला महामंत्री विजय सैनी, सुषमा पुण्डीर, रोहिल वाल्मिकी जिला उपाध्यक्ष रोहताश पाल, संजय गर्ग, जिला रेणु गर्ग, जिला मीडिया प्रभारी प्रभारी प्रवीण शर्मा, कुशवेन्द्र तोमर, अंजना शर्मा, नीरत गौतम, सीमा शर्मा, रोशनी पांचाल, रजत त्यागी, तरूण पाल, सागर वाल्मिकी, विशाल गर्ग, मण्डल अध्यक्ष राजेश पाराशर, हरेन्द्र पाल, मनोज राठी, महेश सैनी, सभासद राजीव शर्मा, मनोज वर्मा, बोबी, हनीपाल, मुकेश टेलर, संजय मुण्डभर, संजय सक्सैना, संजय अग्रवाल, डॉ० जीतसिंह, कमलकांत शर्मा, प्रमोद त्यागी, ब्रिजेश दीक्षित, सोशल मीडिया जिला संयोजक रक्षित नामदेव, हरपाल सिंह महार, रविकांत शर्मा, बशेश्वर दयाल, विपुल शर्मा आदि कार्यकर्ता उपस्थित होकर श्रद्धासुमन अर्पित किये।


No comments:

Featured Post

कपिलदेव अग्रवाल व उमेश मलिक ने किया सडक सुरक्षा सप्ताह का उद्घाटन

मुज़फ्फरनगर। आज एआरटीओ कार्यालय पर एआरटीओ विनीत मिश्रा के निर्देशन में सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया गया है जिसमें उन्होंने सड़क सुरक्षा के...