शहर के फर्जी अस्पताल पर नहीं हुई कोई कार्रवाई


मुजफ्फरनगर। राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह  को एक प्रार्थना पत्र सुमित मलिक द्वारा दिया गया इसमें बताया गया कि जनपद मुजफ्फरनगर में 8.5. 2021 को सीएमओ मुजफ्फरनगर को अपोलो हॉस्पिटल फर्जी डिग्री बनवा कर अस्पताल चला रहा था। इसकी जानकारी उपलब्ध कराकर सुमित मलिक द्वारा शिकायत सीएमओ साहब को की गई थी। सिटी मजिस्ट्रेट द्वारा अस्पताल पर छापा मारकर धरपकड़ की गई थी। फर्जी डिग्री एमबीबी एस की मिली। डॉक्टर फर्जी निकला। अस्पताल को सीज कर दिया गया 2 महीने बीत चुके हैं सीएमओ साहब ने अभी तक कोई कानूनी कार्रवाई करना उचित नहीं समझा। 

उन्होंने सुषमा से अनुरोध कि जल्द से जल्द अपोलो हॉस्पिटल पर कानूनी कार्रवाई करके सलाखों के पीछे पहुंचाने का काम किया जाए। जनपद मुजफ्फरनगर में 331 डॉक्टर  पंजीकृत हैं। जनपद मुजफ्फरनगर में सीएमओ ऑफिस के द्वारा झोलाछाप डॉक्टरों पर सख्त कार्रवाई नहीं की जाती इसके चलते आम आदमी के जीवन के साथ झोलाछाप डॉक्टर खिलवाड़ रहे हैं।  जनपद मुजफ्फरनगर में 10000 से भी अधिक झोलाछाप डॉक्टर फर्जी हॉस्पिटल बनाए रखे हैं जो आम नागरिकों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं उन्हें लूटने का प्रयास किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में सबसे ज्यादा झोलाछाप डॉक्टर है तथा शहरी क्षेत्र में फर्जी डॉक्टरों ने फर्जी तरीके से अस्पताल बना रखे हैं जिन पर एमबीबीएस एमडी लिखा हुआ है जिनका लखनऊ में कोई पंजीकरण नहीं है। जनपद मुजफ्फरनगर में आम आदमियों के साथ इस तरह का खिलवाड़ होना अपने आप में बहुत बड़ा अपराध है अपराधियों को सलाखों के पीछे होना चाहिए जिससे आम आदमी के जीवन के साथ खिलवाड़ ना हो सके। सुमित मलिक ने कहा कि जनपद मुजफ्फरनगर में फर्जी झोलाछाप डॉक्टरों का बोलबाला है उनके खिलाफ कोई धरपकड़ अभियान नहीं चला जाता। यदि चला जाता है तो वह औपचारिकता कर दी जाती है। जनपद में पूर्णा कोविड-19 के चलते फर्जी डॉक्टरों ने आम आदमी को लूटने का प्रयास किया फर्जी डॉक्टरों के खिलाफ सख्त अभियान चलना चाहिए जिससे आम आदमी के जीवन को भी बचा जा सके और उनके जान मान हानि को भी नुकसान ना हो सके। 

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार