कोविड टीम की समस्याओं का समाधान मिलेगा बकाया और प्रमाणपत्र


मुजफ्फरनगर । आरआरटी कोविड 19 के सदस्यों कि समस्याओ का समाधान सिटी मजिस्ट्रेट के हस्तक्षेप के बाद हो गया। 

डीएम कार्यालय पर आज नेशनल हेल्थ मिशन अर्बन ऐरिया(आरआरटी कोविड -19) के सदस्य पहुंचे। उनका सदस्यों का नेतृत्व कर रही डॉ अमृत ने बताया कि  आरआरटी कोविड-19 प्रार्थीगण को 3 माह के लिये स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड 19 में ड्यूटी के लिये रखा गया था पर किन्तु 2 माह का समय बीत जाने के बाद ही प्रार्थीगण का कान्ट्रेक्ट समाप्त कर दिया गया है । मुख्यमंत्री द्वारा कोविड 19 के फन्ट लाईन हेल्थ वर्कर को 25 प्रतिशत इन्क्रीमेन्ट दिया जाना था । जो कि अब तक भी (आरआरटी कोविड -19) के किसी भी सदस्य को नही दिया गया है और न ही 100 दिन कार्य करने पर सर्टिफिकेट भी प्रार्थीगण मे से किसी को नहीं दिया गया है। अब (आरआरटी कोविड -19) की टीम को उक्त कार्य से हटकर नये सदस्यों की नियुक्ति की जा रही है जबकि प्रार्थीगण को हटाने का कोई कारण भी प्रार्थीगण को नहीं बताया गया है । उन्होंने मांग की कि कोविड -19 मे लगे डॉक्टर्स व पैरामैडिकल स्टॉफ़ को प्राथमिक स्वास्थ केन्द्रों का प्रभार दिया जाना सुनिश्चित करें एवं प्रार्थीगण की सैलरी दिलवाई जाए। सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक कुमार सिंह ने उनकी समस्याओं को सुना एडीएम फाइनेंस आलोक कुमार व सीएमओ ऑफिस से विभागीय अधिकारियों ने इनके बीच पहुंचकर इनकी सारी समस्याओं को सुना और पूरी जानकारी ली व उन्हें शासनादेश के बारे में बताया। काफी गहमागहमी के बाद इनकी रुकी हुई तनख्वाह व जितने दिन तक कोविड मे कार्य किया है उसका प्रमाणपत्र देने की बात पर सहमति बनी कि और इनकी समस्याओं का हर संभव निदान करने का सभी अधिकारियों ने आश्वासन दिया। तब जाकर मामले का हल हुआ।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार