Saturday, July 31, 2021

देश में फिर बन रहे हैं लाकडाउन के हालात



नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में कोरोना वायरस के नए मामले और पॉजिटिविटी रेट बढने के बाद एक बार फिर लाकडाउन के हालात बन रहे हैं। खास कर बच्चों को लेकर खास ध्यान रखने को कहा गया है। 

कोरोना के मामले तेजी से बढने के बाद केंद्र सरकार ने कई राज्यों में प्रतिबंधों को फिर से लागू करने पर विचार करने के लिए कहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने शनिवार को 10 राज्यों के साथ एक हाई लेवल बैठक की। स्वास्थ्य सचिव ने केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, ओडिशा, असम, मिजोरम, मेघालय, आंध्र प्रदेश और मणिपुर के प्रतिनिधियों से कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में 10 प्रतिशत से अधिक की पॉजिटिविटी रेट रिपोर्ट करने वाले सभी जिलों को सख्त प्रतिबंधों पर विचार करने की आवश्यकता है। मंत्रालय ने कहा कि इस स्तर पर किसी भी तरह की ढिलाई से इन जिलों में स्थिति बिगड़ सकती है। 

बैठक में मौजूद भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने कहा कि प्रतिदिन 40000 ने मामले में समझौते करने की जरूरत नहीं है। भारत में लगभग 46 जिले 10 प्रतिशत से अधिक पॉजिटिविटी रेट रिपोर्ट कर रहे हैं और 53 जिले ऐसे हैं जो कि खतरे की ओर बढ़ रहे हैं। यहां पॉजिटिविटी रेट 5 से 10 प्रतिशत के बीच है। कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए मंत्रालय की ओर से इन राज्यों को 4 प्वाइंट में दिशा-निर्देश दिए गए हैं। 

जिनमें पहला है कि जहां ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं वहां काबू करने के प्रयास किए जाए और निगरानी रखी जाए। दूसरी बात मामलों की मैपिंग की जाए और संपर्कियों का पता लगाना और नियंत्रण क्षेत्रों को परिभाषित करना है। तीसरा निर्देश ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को बढ़ाना और बाल चिकित्सा देखभाल पर ध्यान देना है। चौथा निर्देश है कि मौत के मामलों पर पर नजर रखना और गणना करना है।

No comments:

Featured Post

रेल से सफर करने जा रहे हैं तो यह पढें, वर्ना पड सकता है पछताना

 नयी दिल्ली। उत्तर रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अध‍िकारी दीपक कुमार के मुताब‍िक 01 अक्‍टूबर तथा इसके पश्चात ट्रेनों के आगमन/प्रस्थान तथा ठहराव स...