Tuesday, June 1, 2021

कोरोना काल में जिले में इलाज के नाम पर लूट से हाहाकार, अब तो हिसाब माँग लो सरकार

 


मुजफ्फरनगर l शहर सहित जिलेभर में कोरोना काल में अस्पतालों द्वारा जमकर अवैध वसूली की गई l शासन द्वारा तय की गई रकम से ज्यादा के बिल मरीजों के तीमारदारों को दिए गए परंतु जांच के दायरे में अभी तक एक भी अस्पताल नहीं आया है l यहां तक की नकली रेडमीसीवर इंजेक्शन की खरीदी भी इन अस्पतालों द्वारा की गई है l परंतु अभी तक एक भी अस्पताल पर किसी भी तरह की कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है l शहर के एक प्रसिद्ध डॉक्टर द्वारा एक अस्पताल को किराए पर लेकर ₹11000 प्रति दिन में कोरोना के मरीजों का इलाज करने की बात कही गई थी l परंतु वहां पर भी प्रतिदिन के हिसाब से लाखों रुपए का बिल बना कर मरीज के तीमारदारों को दिया गया l उक्त अस्पताल में कई बार मरीजों के तीमारदारों के साथ बदतमीजी भी हुई l यहां तक की अस्पताल के मालिक के भाई द्वारा मरीजों के तीमारदारों पर फायरिंग तक भी की गई l परंतु अभी तक स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन द्वारा उक्त अस्पताल के खिलाफ किसी भी तरह की कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है l यहां तक की अस्पताल प्रशासन ने गन्ना सहकारी समिति के अकाउंटेंट व सचिव तक को नहीं छोड़ा उन तक से बदतमीजी की गई l अस्पताल के कर्मचारियों द्वारा क्षेत्र में जगह जगह इस्तेमाल की गई पीपीई किट, मास्क एवं रबड़ के दस्तानों को इधर-उधर फेंका गया l कई बार शिकायत होने के बाद भी अभी तक उक्त अस्पताल में किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की गई l वह बागपत में पकड़े गए नया हैंडलूम्स के मालिक एवं उनके पुत्र द्वारा मुजफ्फरनगर में किस अस्पताल को रेडमीसीवर इंजेक्शन बेचे गए इसका भी खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है l ऐसे अस्पताल लगातार मरीजों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं l

No comments:

Featured Post

अनिता तायल की याद में आंखों का जांच शिविर संपन्न

मुजफ्फरनगर । पालिका अध्यक्ष श्रीमती अंजू अग्रवाल द्वारा श्री सूरजमल सुशीला जैन धर्मार्थ ट्रस्ट एवं वरदान धर्मार्थ नेत्र सेवा संस्थान मुजफ्फर...