Wednesday, June 2, 2021

योगी रहेंगे पर सरकार, संगठन और ब्यूरोक्रेसी में होगा बडा बदलाव


 लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी की यूपी में मिशन-2022 की तैयारियों के बीच यह साफ हो गया है कि सरकार में नेतृत्व परिवर्तन की कोई योजना नहीं है. इसके उलट कुछ मंत्रियों को बदलने और संगठन व ब्यूरोक्रेसी में बडा बदलाव होगा. 

योगी सरकार और संगठन में बदलाव की सुगबुगाहट के बीच बीते 25 मई को राजनीतिक हलचल के बीच राजधानी लखनऊ पहुंचकर आरएसएस के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने कुछ नेताओं से मुलाकात की और योगी सरकार और संगठन के काम-काज का फीडबैक लिया. वहीं बीते 31 मई को बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष और यूपी प्रभारी राधा मोहन सिंह ने भी राजधानी लखनऊ पहुंचकर यूपी की योगी सरकार और संगठन से जुड़े पदाधिकारियों के साथ बैठककर उनके काम-काज की विधिवत समीक्षा की है.

बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष और राधा मोहन सिंह ने न सिर्फ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या और डॉ दिनेश शर्मा समेत तमाम मंत्रियों, पार्टी पदाधिकारियों और लखनऊ क्षेत्र के विधायकों और सांसद के साथ एक-एक कर बैठक की है बल्कि इस दौरान इन सभी से कोरोना काल में किए गए सेवा कार्यों की जानकारी लेकर सरकार और संगठन के काम-काज और आपसी समन्वय जैसे तमाम मुद्दो पर भी उनका फीडबैक लिया है.ये पहला मौका है जब बीजेपी के किसी राष्ट्रीय महामंत्री संगठन ने उत्तर प्रदेश के बीजेपी पदाधिकारियों के साथ यूपी के मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और मंत्रियों के साथ सामूहिक बैठक करने के बजाय एक-एक के साथ अकेले में बैठक की है. इस दौरान बीएल संतोष ने अपने 3 दिवसीय दौरे के दौरान डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, दिनेश शर्मा और कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना, जय प्रताप सिंह, महेन्द्र सिंह, दारा सिंह चौहान, सिद्धार्थनाथ सिंह, श्रीकांत शर्मा, सूर्य प्रताप शाही, ब्रजेश पाठक, आशुतोष टंडन, अनिल राजभर, स्वामी प्रसाद मौर्या, रमापति शास्त्री, अशोक कटारिया के साथ ही मंत्री स्वाति सिंह, सतीश द्विवेदी, गुलाबो देवी से अलग-अलग बैठक की.

No comments:

Featured Post

अनिता तायल की याद में आंखों का जांच शिविर संपन्न

मुजफ्फरनगर । पालिका अध्यक्ष श्रीमती अंजू अग्रवाल द्वारा श्री सूरजमल सुशीला जैन धर्मार्थ ट्रस्ट एवं वरदान धर्मार्थ नेत्र सेवा संस्थान मुजफ्फर...