लोकतांत्रिक इतिहास का काला दिन है 25 जून : रमेश साईं





 मुजफ्फरनगर । वर्चुअल बैठक के माध्यम से आपातकाल विरोधी काला दिवस मनाया गया। मुख्य वक्ता के रूप में लोकतंत्र सेनानी रमेश साई उपस्थित रहे बैठक में आज दिवस काला दिवस प्रतीक के रूप में मनाया गया।

बैठक की अध्यक्षता व संचालन जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला ने किया मुख्य वक्ता रमेश साई ने बताया कि 25 जून 1975 भारत के लोकतांत्रिक इतिहास का काला दिन था 25 जून को इंदिरा गाँधी ने लोकतंत्र व सविधान का गला घोट कर देश में आपातकाल लागू कर दिया था देशभर में खास कर उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात में विपक्षी नेताओं को न केवल गिरफ्तार कर जेलो में भेंढ, बकरियो की तरह ठूस दिया गया बल्कि कांग्रेस सरकार का विरोध करने वाले सारे विपक्षी कार्यकर्ताओं के परिवारो को बुरी तरह से प्रताडित किया गया असंवैधानिक तरीके से सत्ता पर काबिज कांग्रेस का आंतक इस कदर था कि जेलो में बंद लोकतंत्र सेनानियों को यह डर सताने लगा कि क्या कभी वे इन काली रातों का सीना चिरकर न्याय का सूरज देखने के लिए जेल से बहार आ पाएंगे कांग्रेस के इस दमनात्मक कार्यवाही के विरुद्ध जनसंघ काल से ही भारतीय जनता पार्टी के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ वह विविध अनुसांगिक संगठन के राष्ट्रवादी कार्यकर्ता लाठी गोली की परवाह न करते हुए लडाई लडते आ रहे है, बन्धुओ लोकतंत्र की हत्यारी कांग्रेस ने केवल 1975 में ही नही बल्कि अनेको बार अपने निजि हितो के लिए राज्य सरकारों को बर्खास्त कर राज्यो में राष्ट्रपति शासन लगाकर लोकतंत्र को कांग्रेस का बंधक बनाया बन्धुओ सभ्यता कि राजनीति का एक नियम यह भी है कि हम अपने इतिहास के उन काले दाग-धब्बों को इस लिए याद रखे ताकि आने वाली पीढीया सबक ले सके इसलिए हम सभी ने आज 25 जून को संवैधानिक मूल्यों कि रक्षा के लिए आपातकाल विरोधी काला दिवस मनाया है। 

जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला ने कहा कि 25 जून 1975 भारत के लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन है, काला दिवस प्रतीक के रूप में आज सभी बैठक में उपस्थित थे। गण मुह पर काला मास्क पहनकर बैठक में शामिल हुए।बैठक के पश्चात जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला द्वारा लोकतंत्र सेनानी रमेश साई, नरेन्द्र मित्तल एवं सत्यवीर अग्रवाल के आवास पर जाकर पटका पहनाकर व प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया ।

आज की इस आपातकाल विरोधी काला दिवस वर्चुअल बैठक में मुख्य रूप 9 लोकतंत्र सेनानीयो सहित डॉ० चन्द्रमोहन जी, केन्द्रीय राज्यमंत्री डॉ० संजीव बालियान, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार कपिल देव अग्रवाल, बुढाना विधायक उमेश मलिक, खतौली विधायक विक्रम सैनी, पुरकाजी विधायक प्रमोद ऊटवाल, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष प्रदीप सैनी, क्षेत्रीय मंत्री डॉ० पुरुषोत्तम, जिला महामंत्री विजय सैनी, रोहिल वाल्मिकी, विनीत कात्यायन, सुषमा पुण्डीर, जिला उपाध्यक्ष नितिन मलिक, बिजेन्द्र पाल, राजीव गुर्जर, रोहताश पाल, राकेश आडवाणी, अमित चौधरी, शरद शर्मा, संजय गर्ग, जिला मंत्री राहुल वर्मा, सुधीर खटीक, रेणु गर्ग, सुनील दर्शन, बोबिन्द्र सहरावत, साधना सिंघल, वैभव त्यागी, सचिन सिंघल, जिला कोषाध्यक्ष रमेश खुराना, जिला मीडिया प्रभारी प्रवीण शर्मा, सह मीडिया प्रभारी अचिंत मित्तल, विकास अग्रवाल समस्त मोर्चा के जिलाध्यक्ष, मण्डल प्रभारी मण्डल अध्यक्ष, सभासद, जिले के प्रबुद्ध नागरिक एवं कार्यकर्ता गण आदि उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

शाहपुर सौरम की महिला सिपाही ने की आत्महत्या

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

प्रदेश में इन विभागों से खत्म हो जाएंगे 48 कानून