Monday, May 17, 2021

श्रीमान जी ,आपके आने की सूचना पर ही दुरुस्त हुई सभी व्यवस्थाएं


 

मुख्यमंत्री के आने की आहट से ही जिले में समस्त स्वास्थ्य व्यवस्थाएं दुरुस्त हो गई l

पिछले 15 दिनों से चरमराई ऑक्सीजन की व्यवस्था भी मुख्यमंत्री के आने की सूचना पर सुचारू हो गई l

मुजफ्फरनगर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब कुछ ही घंटों बाद मुजफ्फरनगर आने वाले हैं। उनके आगमन की आहट ने ही जिले के अधिकारियों की नींद उडा दी। देर रात तक पूरा प्रशासन व्यवस्थाओं को चुस्त दुरुस्त करने में जुटा रहा। ऐसे अधिकारी भी सक्रिय भूमिका में दिखाई दे रहे हैंए जिनके बारे में कहा जा रहा है कि महीनों से उनके दर्शन भी दुर्लभ थे।

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ आज जिले में आ रहे हैं। उनके आगमन का समाचार जनता को यह तसल्ली दे रहा है कि उनके दुख हरे जाएंगेए वहीं ऐसे अधिकारियों की नींदे उडा रहा हैए जिनके बारे में कहा जा रहा है कि उन्होने मुसीबत के इस दौर में जनता से मुंह मोड लिया।

कलक्ट्रेट को दुल्हन की तरह सजा दिया गया है। सीएम यहीं पर कोविड कंट्रोल रूम का निरीक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री के मार्ग में पड़ने वाली सड़कों का कायाकल्प हो गया है। बीमारों के सामने आ रही सभी समस्याओं का निराकरण अचानक अफसरों के पास आ गया है। सरकार की आहट ने जिले में बिगड़ी प्रशासनिक व्यवस्था को पटरी पर ला दिया है।

एक महीने से जनता के फोन नहीं उठाने वाले अफसर जनता की सेवा में तत्पर दिखाई दे रहे हैं। कलक्ट्रेट की रंगाई.पुताई कर दुल्हन की तरह सजा दिया गया है। मुख्यमंत्री कंट्रोल रूम का यहां पर निरीक्षण करेंगे और इसके बाद जिला पंचायत के सभागार में अफसरों और जनप्रतिनिधियों से वार्ता करेंगे। जिला पंचायत का सभागार भी चकाचक हो गया है। पुलिस लाइन से कचहरी तक और संभावित गांवों के मार्गों का कायाकल्प हो गया है। एक महीने से बिगड़ी व्यवस्था एक दिन में पटरी पर आ गई है।

कंट्रोल रूम में फोन करते ही सुनवाई हो रही है। सवालों का जवाब मिल रह है और समस्या का निराकरण हो रहा है। ऑक्सीजन की किल्लत अचानक खत्म हो गई है। तीन सेंटर बन गए हैंए डॉक्टर का पर्चा दिखाओ और गैस प्राप्त करो। एंबुलेंस तक की व्यवस्था सुधर गई है।

जिला चिकित्सालय इतना साफ सुथरा हो गया है कि कहीं गंदगी नजर नहीं आ रही है। रात भर से लगे श्रमिकों ने पूरे जिला चिकित्सालय की रंगाई कर दी। जिला चिकित्सालय से लेकर सभी कोविड अस्पतालों को भी सैनिटाइज करा दिया गया। कई बार हंगामे के बाद जिस मेडिकल कॉलेज में जमकर फजीहत हुई होए वहां सब कुछ अपडेट है। मरीजों को भोजन से लेकर दवा तक सब समय पर मिल रहा है। अब लोग कह रहे हैं काश मुख्यमंत्री 15 दिन पहले आ जाते तो शायद कोरोना के कारण जिले में इतने लोगों की जान न जाती।

1 comment:

Parm said...

Roorkee road satsang bhavan se rampur tirahe tk sadak ka bura haal h mene road department k portel pr bhi 2 maheene pehle sikayat ki thi pr koi sunvai nahi.or aaj raat me hi sare ghaddo ko bharkar khana purti kar di gai h .mere hisaab se sarkaar kisi ki bhi ho karmchari to vo hi rahte h .