क्या रामचरितमानस में महामारी की भविष्यवाणी की गई थी


मुजफ्फरनगर । कोरोना महामारी से जहां सभी लोग बुरी तरह पीड़ित हैं, वहीं रामचरितमानस की कुछ बातें सोशल मीडिया पर चल रही हैं। रामचरितमानस के 538 पृष्ठ पर चमगादड़ और बुरी तरह फैलने वाली बीमारी का वर्णन किया गया है, जिससे कफ और छाती के रोग से लोगों में मृत्यु का प्रभाव बढ़ेगा। इसमें इसका उपचार भी दिया गया है। इसमें प्रभु भजन तथा समाधि यानी एकांतवास को इसका उपचार बताया गया है। लोग इसकी तुलना इस समय चल रही कोरोनावायरस की महामारी से कर रहे हैं।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

शाहपुर सौरम की महिला सिपाही ने की आत्महत्या