Friday, March 26, 2021

इन प्रतिबंधों का किया उल्लंघन तो संकट में घिर जाएंगे प्रत्याशी

 


लखनऊ । चुनाव और होली के मौसम में राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही राज्य में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू कर दी गयी है। इस आचार संहिता का अनुपालन पंचायत चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों, उनके समर्थकों, कार्यकर्ताओं के अलावा सत्ताघारी दल के प्रतिनिधियों को भी करना होगा। आचार संहिता लगते ही चुनाव प्रक्रिया से संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों के स्थानांतरण, प्रमोशन आदि पर भी रोक लग गई है। पंचायतों से संबंधित नए विकास कार्यों, योजनाओं की शुरुआत भी इस दरम्यान नहीं हो सकेगी। 

आचार संहिता के तहत सत्ताधारी दल के प्रतिनिधि, उम्मीदवार, उम्मीदवार के चुनाव एजेण्ट किसी भी सार्वजनिक उपक्रम, सरकारी, अर्धसरकारी विभाग के निरीक्षण गृह, डाक बंगला व अन्य किसी विश्रामगृह का प्रयोग चुनाव प्रचार या चुनाव कार्यालय के लिए नहीं करेंगे। चुनाव के दौरान सत्ताधारी दल के मंत्री सरकारी दौरों को चुनाव कार्य से नहीं जोड़ेंगे और न ही सरकारी तंत्र या कर्मचारियों का उपयोग ही करेंगे।

चुनाव अवधि के दौरान पंचायतीराज संस्थाओं के खजाने से किसी अखबार या मीडिया में पंचायतों से संबंधित किसी विभाग या संस्था द्वारा कोई भी विज्ञापन नहीं दिये जाएंगे। चुनाव अवधि में पंचायतों से सम्बंधित सरकारी, अर्धसरकारी विभाग, संस्था, सार्वजनिक उपक्रम द्वारा किसी भी नयी योजना, परियोजना, कार्य, कार्यक्रम की घोषणा या उसकी शुरुआत नहीं की जाएगी।

No comments:

Featured Post

इंडिया टैलेंट शो में टेलेंट दिखाएगा मुजफ्फरनगर का ये जवान

मुजफ्फरनगर। आरव राठौड़ को इंडिया टैलेंट मंच की ओर से एक ऑफिशल लेटर दिया गया है। परिजनों में खुशी की लहर है। मिली जानकारी के अनुसार आरव राठौड़ ...