टीचर ने ट्यूशन छात्र से रचाई शादी और मनाई सुहागरात और फिर...

 जालंधर। ज्योतिष के फेर में पडकर मंगल दोष दूर करने के लिए एक शिक्षिका ने अपने पास ट्यूशन पढ़ने आने वाले 13 साल के बच्चे से ही प्रतीकात्मक शादी कर ली।शादी की तमाम रस्में निभाने और सुहागरात के बाद टीचर ने सुहाग की चूड़ियां तोड़ते हुए विधवा होने का ढोंग भी किया। घर लौटे बच्चे ने परिजनों को आप-बीती सुनाई तो मामला पुलिस थाने तक पहुंच गया। जहां मंगलवार देर रात दोनों पक्षों में सुलह हो गई। शहर में हर जगह इस बेमेल शादी की चर्चा हो रही है। बच्चे के परिजनों ने पुलिस को बताया कि बस्ती बावा खेल इलाके की इस शिक्षिका ने उनके बेटे को छह दिन तक अपने घर में कैद रखा और उससे शादी का ढोंग रचाया। इस दौरान हल्दी-मेहंदी की रस्में भी हुईं और सुहागरात का नाटक भी किया गया।


इसके बाद युवती ने सुहाग की चूड़ियां तोड़कर विधवा का स्वांग रचा और बाकायदा शोकसभा भी की गई। सिर्फ पंडित और परिवार वालों की मौजूदगी में सारी रस्में निभाई गईं। इसके बाद बच्चे को घर भेज दिया गया। बच्चे ने घर आकर परिवारजनों को आपबीती सुनाई तो परिजन भड़क गए और थाने पहुंचे। जहां पंडित ने उन्हें समझाया कि यह सब मांगलिक दोष दूर करने के लिए नाटक किया गया है। इससे उनके बच्चे को कुछ नहीं होगा। इसके बाद मामला शांत हुआ। गुरमीत सिंह, डीसीपी ने बताया मामला संज्ञान में आया है। इसकी जांच की जा रही है । बिना परिजनों की सहमति के बच्चे को धोखे से घर में रखना भी अपराध है।

Comments

Popular posts from this blog

राज्य कर्मचारियों को भी मिलेगा बढा महंगाई भत्ता

डीएम सेल्वा कुमारी जे का तबादला, मनीष बंसल होंगे नये डीएम!

रालोद और भाकियू के नाम पर हुडदंग करने वालों पर लाठीचार्ज, पांच गिरफ्तार