मकान में लगी आग तो चुनावी दावेदार बने मददगार


 मुजफ्फरनगर । गुरुवार दोपहर के समय एक मकान में शार्ट सर्किट के चलते आग लगने से दहेज का सामान जलकर राख हो गया। इसकी सूचना जैसे ही चुनाव लड रहे आधा दर्जन से अधिक उम्मीदवारों‌ को मिली तो उन्होंने मौके पर आकर नुकसान से भी अधिक धनराशि देकर पीड़ित के आंसू पोंछे। 

मिली जानकारी के अनुसार सफीपुर पट्टी में पुराने भारद्वाज हस्पताल के पीछे अली शेर का मकान है। इस मकान में मेहंदी हसन पुत्र डाक्टर अब्दुल हमीद काफी दिनों से किरायेदार के रूप में रह रहा है। बीते लोकडाउन में उसने अपनी पुत्री शबनम की शादी कर दी थी और दहेज देने का वायदा होली के बाद किया था। मेहंदी हसन ने अपनी पुत्री को दहेज में देने के लिए एक कमरे में दहेज का सामान रख रखा था। आज गुरुवार को लगभग 12 बजे अचानक कमरे की लाइट का बोर्ड एक ब्लास्ट के बाद पटक गया। तब देखते ही देखते कमरे में रखे सामान में बिजली बोर्ड से उत्पन्न हुई चिंगारी गिर गई। धूं धूं करके सामान जलने लगा। उधर दूसरे कमरे में मौजूद मेहंदी के बच्चों ने दूसरे कमरे से निकल रहे धुएं को देखकर शोर मचा दिया। शोर शराबा सुनकर मौके पर आये पड़ोसियों को समझते देर नहीं लगी। तभी उन्होंने मीटर से विद्युत तार काटकर बिजली सप्लाई बंद कर रेत और पानी से आग बुझाई लेकिन तब तक कमरे में रखा कूलर, संदूक, कंबल, बाल्टियां, कुर्सी-टेबल और अन्य कपड़े व कुछ सामान जलकर राख हो गया था। इसकी सूचना जब यहां पर चुनाव लड रहे जिला पंचायत सदस्य और प्रधान पद के आधा दर्जन से भी अधिक उम्मीदवारों‌ को लगा तो वे मौके पर आए। जिनमें से जिला पंचायत सदस्य पद के उम्मीदवार गज्जु पठान और अफजाल उर्फ विक्की ने 11-11 हजार रुपए और प्रधान पद के उम्मीदवार मौहम्मद इनाम ने 15 हजार रुपए, शोयब अख्तर, मौहम्मद खालिद और गय्यूर राणा ने 11-11 हजार रुपए और यामीन सावटू ने 15 सौ रुपए देकर पीड़ित के आंसू पोंछे। नुकसान की कीमत लगभग 50 हजार रुपए बताई गई है जबकि पीड़ित को 70 हजार रुपए से भी ज्यादा की मदद मिल गई। ये मामला आज यहां पर चर्चा का विषय बना रहा।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा