मुजफ्फरनगर की बेटी की मेरठ में मौत का रहस्य गहराया

 मेरठ । मोदीपुरम में सीएस (कंपनी सेक्रेट्री) की छात्रा वर्तिका की मौत का राज गहरा गया है। पोस्टमार्टम न कराकर पुलिस ने मौत की गुत्थी उलझा दी है। बृहस्पतिवार को इस मामले की जांच कराई गई तो कई और राज खुल गए। छात्रा सुपरटेक स्पोर्ट्स कॉलोनी में पहले भी आती रही है। छात्रा की मौत कैसे हुई, अब यह बात पीड़ित परिवार भी जानना चाहता है। इन सबके बीच सवाल यही उठ रहा है कि किसके दबाव में शव का पोस्टमार्टम नहीं कराया गया।

मुजफ्फरनगर जिले के पचेंडा के रहने वाले जितेंद्र परिवार के साथ पल्लवपुरम फेज वन के विजेता अपार्टमेंट में रह रहे हैं। बुधवार को उनकी बेटी वर्तिका की सुपरटेक स्पार्ट्स सिटी कालोनी की निर्माणाधीन बिल्डिंग की 14वीं मंजिल से गिरकर मौत हो गई थी।युवती ने आत्महत्या की या हत्या, अभी यह स्थिति स्पष्ट नहीं है। परिजनों ने बिना किसी कार्रवाई के पुलिस से शव देने की मांग की थी। इस पर पुलिस ने वर्तिका के शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया था।

गुरुवार को परिजनों ने पैतृक गांव में अंतिम संस्कार कर दिया। इसके बाद परिजन सुपरटेक कॉलोनी पहुंचे और यहां मौजूद पबरसा निवासी गार्ड रविंद्र से युवती के कॉलोनी में आने को लेकर पूछताछ की। परिजन घटनास्थल पर भी पहुंचे। गार्ड ने बताया कि युवती को उसने काफी रोकने का प्रयास किया, मगर वह नहीं रुकी और बिल्डिंग पर चढ़ गई। युवती इससे पहले भी कई बार कॉलोनी में आ चुकी है। बुधवार को वह रिश्तेदार से मिलने की बात कहते हुए कॉलोनी के अंदर जबरन घुस गई। गार्ड ने बताया कि कुछ देर बाद ही शोर सुनाई दिया। इसके बाद वह मौके पर पहुंचा तो युवती का शव नीचे पड़ा हुआ था।

सुपरटेक स्पोर्ट्स सिटी कॉलोनी में हाइटेक सुरक्षा के दावे किए जाते हैं। मुख्य द्वार पर गार्ड तैनात हैं। यहां एंट्री करने वाले को पहले गार्ड के पास रजिस्टर में एंट्री करानी होती है। निर्माणधीन बिल्डिंग तक पहुंचने के लिए दूसरा छोटा गेट पार करना होता है। युवती दो-दो गेट को पार करके निर्माणाधीन बिल्डिंग तक पहुंच गई, मगर गार्ड उसे रोक नहीं पाए। एक युवती के जबरन दो गेट पार करके पहुंचना भी सुरक्षा पर सवाल खड़े कर रहा है। सीसीटीवी कैमरे भी गेट पर लगे हुए हैं।

पीड़ित परिवार ने पुलिस को बताया कि वर्तिका पढ़ने में होशियार थी। उसने बैंक में जॉब के लिए अप्लाई किया था। इसमें वह असफल हो गई। वह जॉब से पहले शादी नहीं करना चाहती थी। इसके बावजूद परिजनों ने उसका रिश्ता कंकरखेड़ा क्षेत्र के एक गांव में कर दिया था। दो दिन पहले वर्तिका ने रिश्ता तोड़ दिया। रिश्ता टूटने के बाद तनाव किस बात का था।

अभी तक सवाल उठ रहे थे कि घर से तीन किलोमीटर दूर स्थल को ही वर्तिका ने क्यों चुना। यह बात बृहस्पतिवार सुबह स्पष्ट हो गई कि वर्तिका यहां अपने किसी परिचित से मिलने के लिए आती रहती थी। गार्ड से जानकारी देने के लिए वर्तिका के परिजन बृहस्पतिवार सुबह वहां पहुंच गए। पुलिस के मुताबिक गार्ड रविंद्र ने बताया कि वर्तिका पहले भी कॉलोनी में आई थी। बुधवार जब वह पहुंची तो उसने रिश्तेदार से मिलने की बात कहकर कॉलोनी में गई। आखिर कौन रिश्तेदार था, जिससे वर्तिका मिलने गई थी। यह जांच का विषय है। पुलिस ने पोस्टमार्टम नहीं कराया है, जिससे वर्तिका की मौत की गुत्थी हमेशा के लिए उल


झ गई।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा