बिना समुचित प्रमाणपत्र स्कूलों में प्रवेश ना मिले

 मुजफ्फरनगर । निजी स्कूल संचालकों ने बिना अर्हता प्रमाण-पत्रों अथवा फर्जी प्रमाण-पत्रों के आधार पर किसी भी छात्र-छात्रा का विद्यालय में प्रवेश न लेने के सम्बन्ध में ज्ञापन दिया है। 

ज्ञापन में कहा गया है कि सत्र 2020-21 कोरोना से महामारी से प्रभावित रहा और कुछ छात्र-छात्राओं ने आॅनलाईन कक्षा न लेकर घर पर ही रहें और अध्ययन भी नहीं किया, इस कारण उनका वर्तमान सत्र में विद्यालय से कोई भी सम्पर्क नहीं रहा। लेकिन कुछ छात्र-छात्राओं के अभिभावक फर्जी प्रमाण-पत्रों के आधार पर दूसरे विद्यालयों में उनका प्रवेश अगली कक्षा कराने का प्रयास करेगें। महोदय आपसे निवेदन है कि आप इस विषय को संज्ञान में लेकर सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को इस बारे में अवगत करायें और खण्ड शिक्षा अधिकारियों द्वारा विद्यालयों में लिये गये प्रवेश के प्रमाण-पत्रों की जांच की जाये जिससे कि किसी भी विद्यालय में कोई फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर प्रवेश न हो सकें।  


उनका कहना है कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सहारनपुर के पत्रांक संख्या-एस.एस.ए./7015-17/2020-21, दिनांक 10.02.2021 द्वारा सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को अवगत कराया गया है कि बिना अर्हता प्रमाण-पत्रों अथवा फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर किसी भी छात्र-छात्रा का विद्यालय में प्रवेश न लिया जाये और सभी प्रमाण-पत्रों का अपने स्तर से परीक्षण कर लिया जाये।

इसकी लिए चन्द्रपाल सिंह, प्रवेन्द्र दहिया, कुलदीप सिवाच , संदीप कुमार , चन्द्रवीर सिहं एस0सी0 त्यागी, अनिल शास्त्री, सुधीर वेदवान विकास बालियान, पंकज धीमान, रजनीश कुमार आशिक अली, प्रेस प्रवक्ता यशपाल सिंह पुण्डीर सुरेशचन्द एवं समस्त संगठन परिवार के सदस्यों की मांग है l

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा