रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ही निकाल सकते हैं किसान आंदोलन का हल : नरेश टिकैत

 गाजीपुर l भारतीय किसान यूनियन


के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत मंगलवार शाम गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे। उन्होंने कहा कि हमें नहीं पता सरकार और किसानों के बीच बना गतिरोध कैसे टूटेगा। किसान 90 दिन से बॉर्डर पर डटे हुए हैं। अब सरकार तय करेगी आगे क्या रणनीति होगी। नरेश टिकैत ने कहा कि हम किसी पार्टी का नहीं बल्कि नीतियों का विरोध कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने कहा कि राजनाथ सिंह अच्छे आदमी हैं और उन्हें तजुर्बा है, वह कई बार मंत्री और मुख्यमंत्री रह चुके हैं वो जरूर इस मुद्दे का हल निकाल सकते हैं। टिकैत ने कहा कि यूपी गेट बॉर्डर पर गर्मी का इंतजाम किया जा रहा है।

अब केंद्र सरकार की मनमानी नहीं चलेगी 

इससे पहले नरेश टिकैत ने मंगलवार को हापुड़ में कहा कि केंद्र सरकार की मनमानी नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि अगर केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को खत्म करे तो किसान बातचीत को तैयार हैं। टिकैत यहां बीबीनगर जाते वक्त कुछ देर के लिए गांव धनौरा में भाकियू के मंडल सचिव ज्ञानेश्वर त्यागी के आवास पर आए और मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि पहले सरकार तीनों कानूनों को वापस ले और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर कानून बनाए, इन शर्तों के पूरा होने तक किसान पीछे नहीं हटेंगे।टिकैत ने कहा कि यह आंदोलन अनिश्चितकालीन है, जो मरते दम तक जारी रहेगा। उन्होंने दावा किया कि ये तीनों कृषि कानून किसानों के हक में नहीं हैं और यह बात सरकार भी जानती है, लेकिन अपनी जिद के चलते वह किसानों की बात सुनने को तैयार नहीं है।

टिकैत ने दावा किया कि भाजपा में ऐसे कई नेता हैं जो इस समस्या को सुलझा सकते हैं, लेकिन उन पर भी दबाव बनाया हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी जिद छोड़ दे क्योंकि किसान बातचीत करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कृषि कानूनों को सरकार को वापस लेना ही होगा, यह शर्त माने जाने तक किसान पीछे नहीं हटेंगे।उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को कई नाम दे रही है, जो किसानों के लिए अपमान की बात है, लेकिन सरकार यह भूल गई है कि किसानों का शोषण करने वाला कभी सफल नहीं हुआ है। इसका परिणाम उसे भुगतना ही पड़ेगा।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा