आज का पंचांग और राशिफल 11 फरवरी 2021

आज का पंचांग और राशिफल 11 फरवरी 2021 

🌞 ~ *आज का पंचांग* ~ 🌞

⛅ *दिनांक 11 फरवरी 2021*

⛅ *दिन - गुरुवार*

⛅ *विक्रम संवत - 2077*

⛅ *शक संवत - 1942*

⛅ *अयन - उत्तरायण*

⛅ *ऋतु - शिशिर*

⛅ *मास - माघ (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार - पौष)*

⛅ *पक्ष - कृष्ण* 

⛅ *तिथि - अमावस्या रात्रि 12:35 तक तत्पश्चात प्रतिपदा*

⛅ *नक्षत्र - श्रवण दोपहर 02:05 तक तत्पश्चात धनिष्ठा*

⛅ *योग - वरीयान् 12 फरवरी प्रातः 03:33 तक तत्पश्चात परिघ*

⛅ *राहुकाल - दोपहर 02:18 से शाम 03:44 तक*

⛅ *सूर्योदय - 07:12* 

⛅ *सूर्यास्त - 18:33* 

⛅ *दिशाशूल - दक्षिण दिशा में*

⛅ *व्रत पर्व विवरण - दर्श अमावस्या, मौनी-त्रिवेणी अमावस्या, हरिद्वार कुंभ स्नान*

 💥 *विशेष - अमावस्या के दिन ब्रह्मचर्य पालन करे तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*

               🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞


🌷 *विष्णुपदी संक्रांति* 🌷

➡ *जप तिथि : 12 फरवरी 2021 शुक्रवार को ( विष्णुपदी संक्रांति )*

*पुण्य काल दोपहर 12:53 से सूर्यास्त तक |*

🙏🏻 *विष्णुपदी संक्रांति में किये गये जप-ध्यान व पुण्यकर्म का फल लाख गुना होता है | – (पद्म पुराण , सृष्टि खंड)*

               🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞


🌷 *माघ-मौनी अमावस्या* 🌷

➡ *11 फरवरी 2021 गुरुवार  को मौनी अमावस्या है ।*

🙏🏻 *माघ मास की अमावस्या को मौनी अमावस्या कहते हैं। इस नामकरण के लिए दो मान्यताएं हैं ।*

🙏🏻 *इस दिन मौन रहना चाहिए। मुनि शब्द से ही मौनी की उत्पत्ति हुई है। इसलिए इस व्रत को मौन धारण करके समापन करने वाले को मुनि पद की प्राप्ति होती है। इस दिन मौन रहकर प्रयाग संगम अथवा पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए।*

🙏🏻 *ऐसा माना जाता है इस दिन ब्रह्मा जी ने स्वयंभुव मनु को उत्पन्न कर सृष्टि का निर्माण कार्य आरम्भ किया था इसलिए भी इस अमावस्या को मौनी अमावस्या कहा जाता है।*

🙏🏻 *‘पद्म पुराण’ के अनुसार माघ मास के कृष्णपक्ष की अमावस्या को सूर्योदय से पहले जो तिल और जल से पितरों का तर्पण करता है, वह स्वर्ग में अक्षय सुख भोगता है। जो उक्त तिथि को तिल की गौ बनाकर उसे सब सामग्रियों सहित दान करता है, वह सात जन्म के पापों से मुक्त हो स्वर्गलोक में अक्षय सुख का भागी होता है। ब्राह्मण को भोजन के योग्य अन्न देने से भी अक्षय स्वर्ग की प्राप्ति होती है। जो उत्तम ब्राह्मण को अनाज, वस्त्र, घर आदि दान करता है, उसे लक्ष्मी कभी नहीं छोड़ती।*

🙏🏻 *इस दिन पितृ पूजा, श्राद्ध, तर्पण, पिण्ड दान, नारायणी आदि कर सकते है। वैसे तो प्रत्येक अमावस्या पितृ कर्म के लिए विशेष होती है परंतु युगादि तिथि तथा मकरस्थ रवि होने के कारण मौनी अमावस्या का महत्व कहीं ज्यादा है। अगर आप पितृदोष से पीड़ित हैं अथवा आपको लगता है की आपके पिता, माता अथवा गुरु के कुल में किसी को अच्छी गति प्राप्त नहीं हुई है तो आज तर्पण (विशेषतः गंगा किनारे) जरूर करें।*

🙏🏻 *अगर आप सौभाग्यशाली हैं और इस दिन गंगा स्नान के लिए जा रहे हैं तो तर्पण के अलावा भी बहुत कृत्य हैं। स्कंदपुराण में भगवान शिव का कथन है ।*

🙏🏻 *जो पितरों के उद्देश्य से भक्तिपूर्वक गुड़, घी और तिल के साथ मधुयुक्त खीर गंगा में डालते हैं, उसके पितर सौ वर्षों तक तृप्त बने रहते हैं और वे संतुष्ट होकर अपनी संतानों को नाना प्रकार की मनोवाञ्छित वस्तुएं प्रदान करते हैं।*

🙏🏻 *जो पितरों के उद्देश्य से गंगाजल के द्वारा शिवलिंग को स्नान कराते हैं, उनके पितर यदि भारी नरक में पड़े हों तो भी तृप्त हो जाते हैं।*

🙏🏻 *जो एक बार भी ताँबे के पात्र में रखे हुए अष्टद्रव्ययुक्त (जल, दूध, कुश का अग्रभाग, घी, मधु, गाय का दही, लाल कनेर तथा लाल चंदन) गंगाजल से भगवान सूर्य को अर्घ्य देते हैं, वे अपने पितरों के साथ सूर्यलोक में जाकर प्रतिष्ठित होते हैं।*

🙏🏻 *जो गंगा के तट पर एक बार भी पिण्डदान करता है, वह तिलमिश्रित जल के द्वारा अपने पितरों का भवसागर से उद्धार कर देता है।* 

🙏🏻 *पिता/माता/गुरु/भाई/मित्र/रिश्तेदार किसी के भी कुल में कोई किसी भी तरह, किसी भी अवस्था में मरा हो (चाहे अग्नि से या विष से या आत्मदाह अथवा अन्य  प्रकार से मृत्यु) आज सब पितरों का उद्धार संभव है।*

🙏🏻 *माघ कृष्ण पक्ष की अमावस्या युगादि तिथि है।  अर्थात इस तिथि को चार युगों में से एक युग का आरम्भ हुआ था। स्कंदपुराण के अनुसार “माघे पञ्चदशी कृष्णा द्वापरादिः स्मृता बुधैः” द्वापर की आदि तिथि हैं जबकि कुछ विद्वान  इसको कलियुग की प्रारम्भ तिथि मानते हैं। युगादि तिथियाँ बहुत ही शुभ होती हैं, इस दिन किया गया जप, तप, ध्यान, स्नान, दान, यज्ञ, हवन कई गुना फल देता है l प्रत्येक युग में सौ वर्षों तक दान करने से जो फल होता है, वह युगादि-काल में एक दिन के दान से प्राप्त हो जाता है ।*

🙏🏻 *इस दिन साधु, महात्मा तथा ब्राह्मणों के सेवन के लिए अग्नि प्रज्वलित करनी चाहिए तथा उन्हें रजाई, कम्बल आदि जाड़े के वस्त्र देने चाहिए। इस दिन गुड़ में काले तिल मिलाकर मोदक बनाने चाहिए तथा उन्हें लाल वस्त्र में बांधकर ब्राह्मणों को देना श्रेयस्कर है। इसी पुण्य पर्व पर विभिन्न प्रकार के नैवेद्य मिष्टान्नादि षट्रस व्यंजनों से ब्राह्मणों को भोजन कराकर उन्हें द्रव्य दक्षिणादि से संतुष्ट कर प्रणामादि कर सादर विदा करना चाहिए।*

🙏🏻 *गौशाला में गायों के निमित्त हरे चारे, खल, चोकर, भूसी, गुड़ आदि पदार्थों का दान देना चाहिए तथा गौ की चरण रज को मस्तक पर धारण कर उसे साष्टांग प्रणाम करना चाहिए।*

🙏🏻 *माघी अमावस्या को प्रात: स्नान के बाद ब्रह्मदेव और गायत्री का पूजन करें। गाय, स्वर्ण, छाता, वस्त्र, पलंग, दर्पण आदि का मंत्रोपचार के साथ ब्राह्मण को दान करें। पवित्र भाव से ब्राह्मण एवं परिजनों के साथ भोजन करें। इस दिन पीपल में आघ्र्य देकर परिक्रमा करें और दीप दान दें। इस दिन जिनके लिए व्रत करना संभव नहीं हो वह मीठा भोजन करें।*

🙏🏻 *मौनी अमावस्या के दिन भूखे प्राणियों को भोजन कराने का भी विशेष महत्व है। इस दिन सुबह स्नान आदि करने के बाद आटे की गोलियां बनाएं। गोलियां बनाते समय भगवान का नाम लेते रहें। इसके बाद समीप स्थित किसी तालाब या नदी में जाकर यह आटे की गोलियां मछलियों को खिला दें। इस उपाय से आपके जीवन की अनेक परेशानियों का अंत हो सकता है। अमावस्या के दिन चीटियों को शक्कर मिला हुआ आटा खिलाएं। ऐसा करने से आपके पाप कर्मों का क्षय होगा और पुण्य कर्म उदय होंगे। यही पुण्य कर्म आपकी मनोकामना पूर्ति में सहायक होंगे।*

🌷 *दशतीर्थसहस्राणि तिस्रः कोटयस्तथा पराः॥ समागच्छन्ति मध्यां तु प्रयागे भरतर्षभ। माघमासं प्रयागे तु नियतः संशितव्रतः॥ स्नात्वा तु भरतश्रेष्ठ निर्मलः स्वर्गमाप्नुयात्। (महाभारत, अनुशासन पर्व 25 । 36 -38)*

➡ *अर्थात माघ मास की अमावस्या को प्रयाग राज में तीन करोड़ दस हजार अन्य तीर्थों का समागम होता है। जो नियमपूर्वक उत्तम व्रत का पालन करते हुए माघ मास में प्रयाग में स्नान करता है, वह सब पापों से मुक्त होकर स्वर्ग में जाता है।*

मेष

आज का दिन आपके लिए मिश्रित रहने वाला है। आपका भौतिक और संसाधित दृष्टिकोण आज के दिन कुछ बदल सकता है। किसी व्यक्ति को देखकर आपके मन में संवेदना प्रेम और परोपकार की भावना जन्म ले सकती है, जिसके बाद आप अपना तन मन और धन सब उस व्यक्ति की मदद करने में लगा सकते हैं। आपको इस बात से भी कोई मतलब नहीं होगा कि वह व्यक्ति आपके परिवार का है या फिर कोई बाहर का। दिन आपके लिए मुनाफे का तो होगा, लेकिन उसे कमाने के लिए आपको बहुत मेहनत की आवश्यकता होगी। अपने परिवार के साथ आज कुछ सुखद पल व्यतीत करेंगे।

वृष 

आज का दिन आपको कुछ परेशानियों में डाल सकता है। आप आज अपनी आय के अनुसार ही खर्च करने की सोच रखे, तब तो समझदारी है वरना आप आर्थिक संकट की चपेट में आ सकते हैं। इससे आपकी आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है। आप आज किसी ऐसे स्वार्थी रिश्ते मे पड सकते हैं, जो आपको धोखा दे सकता है, इसलिए जहां तक हो सके अपनी जमा पूंजी को बचा कर रखें और किसी पर विश्वास सोच समझकर करें।

मिथुन 

आज का दिन आपके कार्यकाल में परिवर्तन का होगा। आज आपको  किसी भी प्रकार का परिवर्तन देखने को मिल सकता है और आपकी कहीं कोई बात लोगों का दिल जीत सकती है। आप लोगों के बीच में अपनी जगह बनाने और मान प्रतिष्ठा बढ़ जाने से खुश नजर आयेगेऔर अपने जीवन  मे सुखद  समय व्यतीत करेंगे। दांपत्य जीवन सुखद रहेगा। विद्यार्थियों को और मेहनत की जरूरत है।

कर्क

आज का दिन आपके लिए कुछ खास होने वाला है। आज आपके कोई दूर या पास के रिश्तेदार आपके घर आश्रय लेने की सोच सकते हैं और अतिथि भी कुछ लंबा ही पड़ाव डालने के बारे में विचार कर सकते हैं। इस समय आप अपने फर्ज के साथ सम्मान के सभी आदर सत्कार की इच्छा पूरी करते रहेंगे। परिवार में खुशहाली रहेगी। छोटे बच्चे आज इंजॉय करते नजर आएंगे।

सिंह 

आज आपका पारिवारिक जीवन काफी उतार-चढ़ाव भरा रहेगा। यदि आप भी युवा हैं और अभी अपने कैरियर के लिए संघर्ष कर रहे हैं, तो वही काम करने का मन बनाए, जिसमें आपको आत्म सम्मान मिले, नहीं तो आप नुकसान में ही रह जाएंगे। आपके कार्यक्षेत्र के लिए आज का दिन थोड़ा परेशानी ला सकता है, इसलिए अपने कार्यक्षेत्र और अपने पारिवारिक जीवन को समझदारी से आगे बढ़ाएं।

कन्या

आज का दिन आपके लिए उन्नति का रहेगा। आप अपने  जीवन साथी के साथ कहीं सैर सपाटे का विचार कर सकते हैं। संतान से सुख मिलेगा। आप अपने कामकाज में सुधार लाने का प्रयास करेंगे और किसी जानकार मित्र की सलाह से आपके बिगड़ते हुए काम आज पूरे होंगे, जिससे मन प्रसन्न होगा। वही कोई अपना आपके काम में आने वाली बाधाओं को दूर कर सकता है। समय का भरपूर सहयोग मिलेगा और आपके सभी कार्य समय से पूरे हो होंगे, जिससे मन प्रसन्न रहेगा।

तुला 

आज का दिन आपके लिए सुबह से ही चुनौतीपूर्ण रहेगा। आपको कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ेगा, लेकिन फिर भी आप अपने कार्य क्षेत्र में आ रही में आ रही बाधाओं को आसानी से पूरा करते चले जाएंगे। स्थाई सफलता प्राप्त करने के लिए आज आपको अतिरिक्त प्रयास करने पड़ सकते हैं। शाम के समय आप अपने पुराने मित्रों के साथ कहीं सैर सपाटे का प्रोग्राम बना सकते हैं। आज आप किसी मांगलिक कार्यक्रम में शामिल होंगे।

वृश्चिक 

आज आप दोपहर के समय तक अपने बिखरे हुए  कारोबार को सही तरीके से समेट लें समेट लें अन्यथा आपको परेशानी उठानी पड़ सकती है क्योंकि आज आपको अपने घर के कामों से ही फुर्सत नहीं मिलेगी। आज आपके घर में कोई शुभ कार्य हो सकता है। आज आपको अपने व्यापार और व्यवसाय पर खासतौर से नजर रखनी चाहिए क्योंकि कहीं से आपको कोई नुकसान होने की आशंका नजर आ रही है।

धनु 

आज का दिन आपका घूमने फिरने के लिए होगा। आप अपने घर के कुछ जरूरी काम निपटाने के लिए घर से बाहर जा सकते हैं। यदि आप ऐसा सोचेंगे कि सभी काम भगवान के भरोसे खत्म हो जाएंगे, तो आपको परेशानी उठानी पड़ सकती है। ईश्वर उन्हीं की मदद करते हैं, जो अपनी मदद स्वयं करते हैं। आपको अपने और अपने परिवार के कार्य स्वयं जिम्मेदारी से पूरे करने चाहिए, ताकि आपका मन सुकून से भरा रहे

मकर 

आज आपको किसी व्यक्ति के साथ होने वाले टकराव से बचना होगा। यदि ऐसा नहीं किया तो आप परेशानी में आ सकते हैं। आज भाग्य का आपको भरपूर साथ मिलेगा। आपके अटके हुए कार्य आसानी से पूरे हो सकते हैं और आपको कहीं से रुका हुआ धन भी मिल सकता है। आपके पारिवारिक जीवन  में भरपूर प्रेम रहेगा। विद्यार्थियों को उन्नति के नए मार्ग प्राप्त होंगे।

कुंभ 

आज आपको अपने कार्य क्षेत्र में चुपचाप रहकर ही काम करना होगा अन्यथा आप को नुकसान उठाना पड़ सकता है, लेकिन चुप रहना भी अधिक कुशलता का सूचक है, लेकिन ऐसी जगह काफी लंबे समय तक काम करना किसी के लिए भी संभव नहीं है, इसलिए आपको विकल्प के रूप में नए व्यवसाय की खोजबीन करनी शुरू कर देनी चाहिए अन्यथा आपके पास धन की कमी हो जाएगी और आप की आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है।

मीन

आज का दिन आपका सुख और आराम से रहने का है। आज के दिन सब काम आपके मन के मुताबिक होते नजर आएंगे, जिसका आपको लाभ होगा कहीं से रुके हुए पैसे भी आज आपको मिल सकते हैं। आपको कोई अनोखा सुख भी मिल सकता है और आपके मौज और बाहर के दिन फिर से आने वाले हैं, इसलिए अपने मन को शांत रखें और अपने पारिवारिक जीवन जीवन के सुखद पलों का आनंद लें।


जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाए


दिनांक 11 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा।  इस मूलांक को चंद्र ग्रह संचालित करता है। चंद्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस तरह आपका मूलांक दो होगा। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। चंद्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं।


आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चंद्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं। आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शारीरिक रूप से आप कमजोर हैं। 



 

शुभ दिनांक : 2, 11, 20, 29   

 

शुभ अंक : 2, 11, 20, 29, 56, 65, 92  


  

शुभ वर्ष : 2027, 2029, 2036

 

ईष्टदेव : भगवान शिव, बटुक भैरव

 

शुभ रंग : सफेद, हल्का नीला, सिल्वर ग्रे 

 

कैसा रहेगा यह वर्ष

किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी। लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी।

Comments

Popular posts from this blog

शुक्र बदल रहे हैं राशि : जानिए आपकी राशि पर प्रभाव

यूपी में 19 से जूनियर और 1 दिसंबर से प्राइमरी स्कूल खुलेंगे

यू पी में आड. इवन की तर्ज पर खुलेंगे बाजार, सरकार ने हाईकोर्ट में कहा